न्यूज़

पूर्व ONE वर्ल्ड चैंपियन को चुनौती देने के लिए उत्सुक हैं किआनू सूबा

किआनू सूबा इस समय थोड़ा बेचैन महसूस कर रहे हैं।

पिछले 11 महीनों से मलेशिया के दमदार एथलीट अपनी टूटी पिंडली के कारण मुकाबलों से बाहर बैठे हुए हैं। ये चोट उन्हें रयोगो टाकाहाशी से मई 2019 में हुई बाउट के दौरान लगी थी।

हालांकि, वो अब भी इस चोट से उबर ही रहे हैं। फिर भी 25 वर्षीय एथलीट ने फेदरवेट डिविजन के टॉप सितारों पर पैनी नज़र रखी हुई हैं। इसमें एक पूर्व ONE वर्ल्ड चैंपियन भी हैं, जिन्हें वो मेडिकली फिट होने के बाद चुनौती देना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, “मैं अपनी वापसी पर दमदार प्रदर्शन करना चाहता हूं क्योंकि करीब एक साल तक इससे बाहर रहा हूं।”

होनोरियो “द रॉक” बानारियो  मेरे लिए एक परफेक्ट प्रतिद्वंदी हैं। मेरे पास उन लोगों की पूरी लिस्ट है, जिनके खिलाफ इसके बाद मुकाबला करना चाहता हूं। इसमें फिलहाल होनोरियो सबसे पहले हैं। इस पूर्व वर्ल्ड चैंपियन को हराने के बाद अपनी लय में वापस आ जाऊंगा।”

बानारियो ने फरवरी 2012 में दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन को जॉइन किया था। उन्होंने अपने हमवतन फिलीपीनो एथलीट एरिक “द नेचुरल” कैली को हराकर पहला ONE फेदरवेट वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया था।

साल 2016 में Team Lakay के ये दिग्गज एथलीट वेट क्लास में ऊपर बढ़ गए। लाइटवेट डिविजन में फिर से उन्होंने अच्छे करियर का अनुभव किया, जिसमें उन्होंने कई बेहतरीन एथलीट्स को हराया। इसमें एडी “द मैजिशियन” एंजी और एड्रियन “द हंटर” पैंग शामिल रहे।

हालांकि, बीती फरवरी में वुशु स्टाइलिस्ट जिन्हें “द रॉक” के नाम से जाना जाता है, उन्होंने अपने पुराने फेदरवेट डिविजन में उतरकर वापसी वाले मैच में थाई मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के सबसे बेहतरीन एथलीट शेनन “वनशिन” विराचाई को सर्वसम्मत निर्णय के जरिए हरा दिया था।

इस जीत से ऐसी कई चीजें सामने आईं, जो बानारियो को सबसे बेहतरीन विरोधी सबित करती हैं। ये भी कई कारणों में से एक था, जिसके तहत सूबा उन्हें चुनौती देना चाहते थे।



मलेशियाई एथलीट ने बताया, “होनोरियो एक बड़ा नाम है।”

“आप बस उनके तजुर्बे को देखिए। उन्होंने शिन्या एओकी, लोवेन टायनेन्स और ईव टिंग जैसे एथलीट्स से बाउट की है। यहां तक कि वो अमीर खान (सितंबर 2018 में) को भी हराने वाले थे लेकिन अमीर ने उन्हें जमीन पर गिराकर चोक के जरिए हरा दिया था।

उन्होंने बताया, “शुरुआत में लगा कि मुझे ब्रूनो पुची का सामना करना चाहिए लेकिन थोड़ी बहुत रिसर्च करने के बाद मुझे लगा कि होनोरियो के पास बड़ा फैनबेस है। इस वजह से मैंने उनका सामना करने का निर्णय लिया।

“कई नए एथलीट भी हैं लेकिन मैं लोगों को ऐसा कहते हुए नहीं सुनना चाहता कि मैंने एक नौसिखिये को हराया है। मैं अपने डिविजन में खुद को साबित करना चाहता हूं।”

Malaysian mixed martial artist throws a roundhouse kick

पिछले कुछ साल में सूबा ने इंडोनेशिया में Bali MMA और क्वालालंपुर में Monarchy MMA में अपने स्किल सेट को आश्चर्यजनक रूप से बदला है।

वहां के तगड़े ट्रेनिंग सेशंस ने इस फेदरवेट चैंपियन को ऐसी तकनीकों और जरूरी दांव-पेचों से लैस कर दिया है, जो ONE Championship में उन्हें सफलता दिलाएंगी।

अक्टूबर 2015 में अपने प्रोमोशनल डेब्यू के बाद से उन्होंने अकेले ही छह विरोधियों को पहले ही राउंड में हरा दिया था। इसमें म्यांमार के स्टार फो “बुशीदो” थव, “वाइट ड्रैगन” शी वेई, पाकिस्तानी वॉरियर अहमद “वुल्वरिन” मुजतबा और वकार “साइको” उमर शामिल हैं।

इसी वजह से सूबा, बानारियो के स्टैंडअप प्रदर्शनों की लिस्ट से परेशान नहीं हैं बल्कि उनका मानना है कि खेल के इसी दायरे में सफलता की चाभी छुपी होती है।

क्वालालंपुर के एथलीट का मानना है, “आंकड़ों के आधार पर जब उन्होंने पहली बार ONE जॉइन किया था, तब वो वुशु पर आधारित एथलीट के रूप में जाने जाते थे।”

“हालांकि, अब वो एक बेहतर एथलीट बनकर उभरे हैं। अपने हाल ही के कुछ मैचों में वो टेकडाउन और सबमिशन के लिए प्रयास कर रहे हैं और केवल लोगों को नॉकआउट नहीं कर रहे।

“उनकी ताकत और स्ट्राइकिंग मेरे लिए सबसे बड़े खतरा है लेकिन मैं उनके पैटर्न को समझ सकता हूं। अगर वो ग्राउंड पर आएंगे तो ये मेरे लिए और भी अच्छा रहेगा।”

Malaysian mixed martial artist celebrates his win

ग्लोबल स्टेज पर वापसी को उत्सुक होने के बावजूद सूबा तभी वापसी कर पाएंगे, जब वो पूरी तरह मेडिकली फिट हो जाएंगे।

जब वो पूरी तरह से फिट हो जाएंगे, तब मलेशियाई एथलीट अपनी तैयारी को सफलता में बदलकर ONE फेदरवेट वर्ल्ड टाइटल शॉट की ओर कदम बढ़ाते जाएंगे।

उन्होंने माना, “बाउट के लिए जाने से पहले मुझे काफी चीजों पर काम करना बाकी है।”

“मैंने पिछले एक साल से रेसलिंग नहीं की है। ऐसे में करीब दो से तीन महीने तो रेसलिंग के लिए तैयारी में निकल जाएंगे, ताकि मैं ग्रैपलिंग और स्पारिंग के लायक खुद को तैयार कर लूं।

“मुझे अपनी वापसी का आसान और आदर्श रास्ता लेना होगा। मुझे साल खत्म होने से कुछ दिन पहले बाउट करना अच्छा लगेगा। हो सकता है कि दिसंबर में क्वालालंपुर कार्ड पर मौका मिल जाए

“मेरे लिए जीत बहुत जरूरी है क्योंकि मैं विजय रथ पर सवार होना चाहता हूं, ताकि अगले दो साल में वर्ल्ड चैंपियन बन सकूं।”

ये भी पढ़ें: ONE Championship के इतिहास के सबसे बेहतरीन 5 लेग लॉक सबमिशन