"एशिया के इतिहास में खेल मीडिया की सबसे बड़ी कंपनी"
"एशिया की सबसे बड़ी वैश्विक खेल कंपनी"
"एशिया का सबसे बड़ा मार्शल आर्ट संगठन"
"एशिया की सबसे बड़ी स्पोर्ट्स मीडिया कंपनी"
"एशिया में प्रीमियर मार्शल आर्ट संगठन"

भार वर्ग

हेवीवेट: 225 पाउंड (102.05 किलो) से अधिक – 265 पाउंड (120.20 किलो)
लाइट हेवीवेट: 205 पाउंड (92.98 किलो) से अधिक – 225 पाउंड (102.05 किलो)
मिडलवेट: 185 पाउंड (83.91 किलो) से अधिक – 205 पाउंड (92.98 किलो) 
वेल्टरवेट: 170 पाउंड (77.11 किलो) से अधिक – 185 पाउंड (83.91 किलो)
लाइटवेट: 155 पाउंड (70.30 किलो) से अधिक – 170 पाउंड (77.11 किलो)
फेदरवेट: 145 पाउंड (65.77 किलो) से अधिक – 155 पाउंड (70.30 किलो)
बेंटमवेट: 135 पाउंड (61.23 किलो) से अधिक – 145 पाउंड (65.77 किलो)
फ्लाइवेट: 125 पाउंड (56.69 किलो) से अधिक – 135 पाउंड (61.23 किलो)
स्ट्रॉवेट: 115 पाउंड (52.16 किलो) से अधिक – 125 पाउंड (56.69 किलो)
एटमवेट: 105 पाउंड (47.62 किलो) से अधिक – 115 पाउंड (52.16 किलो) 

ONE Championship का हाइड्रेशन और वजन करने का तरीका

ONE Championship के भार वर्ग दुनिया के अन्य प्रोमोशंस से अलग हैं। ONE ने सबसे पहले डिहाइड्रेशन से वेट कटिंग (वजन कम) करने की प्रक्रिया पर प्रतिबंध लगाकर इंडस्ट्री लीडर की भूमिका निभाई है। इसके बजाय प्रोमोशन ने एथलीट्स के हाइड्रेशन लेवल को सही स्तर पर रखने, उन्हें बाउट से पहले फिट और स्वस्थ रखने के लिए एक नया और क्रांतिकारी तरीका अपनाया है।

इसए प्रोग्राम में, जो कि कॉम्बैट खेल जगत में अपनी तरह का पहला है, एथलीट्स की सुरक्षा के लिए वॉकिंग वेट पर फोकस किया जाता है, जिसमें इवेंट वीक के दौरान और उससे पहले कई सारे वे-इन (वजन करना) और हाइड्रेशन टेस्ट किए जाते हैं। ONE में कॉन्ट्रैक्ट पर रहने के दौरान एक एथलीट के “वॉकिंग वेट” को नियमित मौकों पर ट्रैक किया जाता है। 

ONE की मेडिकल और कॉम्पिटिशन टीमों की सलाह से वे-इन प्रोग्राम की शुरुआत की गई थी। उन टीमों में मेडिकल सर्विसेज़ के वाइस प्रेसिडेंट डॉक्टर वॉरेन वॉन्ग, चीफ मेडिकल सलाहकार डॉक्टर जेम्स ओकामोटो, कॉम्पिटिशन के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट मैट ह्यूम और वाइस प्रेसिडेंट रिच फ्रैंकलिन भी शामिल रहे।

ONE की हाइड्रेशन और वे-इन प्रक्रिया कैसे काम करती है?

  • एक एथलीट की दैनिक ट्रेनिंग के दौरान के वजन को “वॉकिंग वेट” कहा जाता है। ONE किसी एथलीट को उनके “वॉकिंग वेट” के आधार पर किसी भार वर्ग का हिस्सा बनाता है। “वॉकिंग वेट” के आधार पर ही एथलीट्स को फाइट्स ऑफर की जाती हैं।
  • ONE के किसी इवेंट से पहले जब कोई एथलीट होटल में आता है, तब उनका वजन किया जाता है। एथलीट्स को अपने वजन को अनुबंधित भार वर्ग या कैचवेट के दायरे के अंदर रखना होता है।
  • इवेंट वीक के दौरान सभी एथलीट्स को वजन मापने और हाइड्रेशन लेवल चेक कराने की सामूहिक प्रक्रिया से गुजरना होता है। हाइड्रेशन यूरीन स्पेसिफिक ग्रैविटी टेस्ट के जरिए किया जाता है इसलिए हर एक एथलीट को एक मेडिकल कर्मचारी को अपने यूरीन का सैंपल देना होता है। ONE के डॉक्टर की निगरानी में वो मेडिकल कर्मचारी या डॉक्टर जांच कर पता करते हैं कि फाइटर का हाइड्रेशन लेवल तय मानकों के हिसाब से 1.025 या उससे नीचे है या नहीं। इस टेस्ट को पास करने के बाद ही किसी एथलीट का वजन किया जाता है। ये वजन अनुबंधित भार वर्ग और कैचवेट के दायरे के अंदर होना चाहिए।
  • इवेंट वाले दिन, वे-इन और हाइड्रेशन टेस्ट को पास करने वाले एथलीट्स को दोबारा वजन करवाने की जरूरत नहीं होती। वहीं, अगर किसी एथलीट का वजन ज्यादा या कम आ रहा है या हाइड्रेशन टेस्ट में फेल होता है तो उन्हें इवेंट के दिन दोबारा वजन करवाने और हाइड्रेशन टेस्ट को हर हाल में पास करना होगा।
  • अगर कोई एथलीट इवेंट के दिन हाइड्रेशन टेस्ट में फेल होता है तो उन्हें फाइट करने की अनुमति नहीं दी जाती। अगर कोई एथलीट हाइड्रेशन टेस्ट पास कर लेता है, लेकिन वजन अनुबंधित भार वर्ग से ज्यादा आ रहा है तो वो कैचवेट बाउट में फाइट कर सकते हैं, लेकिन उनका वजन अपने विरोधी के वजन से 5% की सीमा को नहीं लांघना चाहिए और विरोधी द्वारा फाइट के लिए हामी भरी जानी चाहिए। इसके अतिरिक्त, अनुबंधित भार वर्ग न होने की स्थिति में एथलीट की फीस का कुछ प्रतिशत हिस्सा उनके प्रतिद्वंदी को दिया जाएगा।
  • फाइट के बाद वजन भार वर्ग के लिए तय किए गए मानक या कैचवेट लिमिट से 5% के भीतर रहना चाहिए। अगर किसी एथलीट को इसका दोषी पाया जाता है तो उन्हें इन नियमों का पालन करना होगा:
    • पहली गलती – एथलीट को आधिकारिक चेतावनी दी जाएगी।
    • दूसरी गलती – एथलीट को फाइट के लिए मिलने वाली रकम में से 25% पैसे काट लिए जाएंगे
    • तीसरी गलती – एथलीट को फाइट के लिए मिलने वाली रकम में से 50% पैसे काट लिए जाएंगे। एथलीट को उस भार वर्ग से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा और उन्हें उससे एक भार वर्ग ऊपर जाकर फाइट करनी होगी।

ग्लोबल मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स रूल सेट

Adriano Moraes Demetrious Johnson ONE on Prime Video 1 1920X1280 78

ONE Championship में ग्लोबल मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स नियमावली का पालन किया जाता है, जिन्हें एशियाई और गैर-एशियाई मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स नियमों को मिलाकर बनाया गया है। सभी एथलीट्स को 4-औंस के मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स ग्लव्स पहनकर फाइट करनी होती है।

बाउट की समयसीमा

हर एक बाउट में 5 मिनट के 3 राउंड्स होंगे, जिनके बीच में 1 मिनट का ब्रेक दिया जाएगा। वर्ल्ड चैंपियनशिप मैचों में 5 मिनट के 5 राउंड्स होगे, जिनके बीच में 1 मिनट का ब्रेक दिया जाता है।

जीत के तरीके

कोई एथलीट इन तरीकों से जीत हासिल कर सकता है:

  • नॉकआउट
  • रेफरी/डॉक्टर/कॉर्नर द्वारा स्टॉपेज के कारण तकनीकी नॉकआउट
  • सबमिशन
  • रेफरी/डॉक्टर/कॉर्नर द्वारा स्टॉपेज के कारण तकनीकी सबमिशन
  • जजों के फैसले से
  • तकनीकी फैसला
  • कोई एथलीट खुद स्टॉपेज की मांग करे
  • डिसक्वालीफिकेशन

जजों का फैसला सुनाने का तरीका

अगर कोई मैच पूरे समय तक चलता है तो फिर जज फैसला सुनाते हैं। 3 जज राउंड-दर-राउंड की बजाय पूरी बाउट को लेकर स्कोर करते हैं। ONE के जजिंग नियमों का पालन कर जज घटते हुए क्रम में महत्व देते हुए मैच के विजेता की घोषणा करते हैं।

ONE में जजों द्वारा अपनाए जाने वाले मानदंड

  • नॉकआउट फिनिश के करीब/सबमिशन फिनिश के करीब
  • क्षति (आंतरिक, एकत्र, बाहरी क्षति)
  • स्ट्राइकिंग कॉम्बिनेशंस और केज/रिंग में प्रभुत्व (ग्राउंड कंट्रोल और बेहतर पोजिशन)
  • अर्जित किए गए टेकडाउन या टेकडाउन डिफेंस
  • आक्रामकता

ग्लोबल मॉय थाई रूल सेट

Rodtang Jitmuangnon Jacob Smith ONE157 1920X1280 8

ONE Championship में ग्लोबल मॉय थाई नियमावली का पालन किया जाता है। मैच के दौरान एथलीट्स 4-औंस के मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स ग्लव्स पहनकर फाइट करते हैं।

बाउट की समयसीमा

एक बाउट में 3 मिनट के 3 राउंड्स होंगे, जिनके बीच में एक मिनट का ब्रेक दिया जाएगा। वर्ल्ड चैंपियनशिप मैचों में 3 मिनट के 5 राउंड्स होंगे और उनके बीच में भी 1 मिनट का ब्रेक दिया जाएगा।

जीत के तरीके

कोई एथलीट इन तरीकों से जीत दर्ज कर सकता है:

  • पंच, किक, नी, एल्बो या लीगल थ्रो से आया नॉकआउट
  • रेफरी/डॉक्टर/कॉर्नर द्वारा स्टॉपेज के कारण तकनीकी नॉकआउट
  • एक राउंड में 3 नॉकडाउन या मैच में कुल 4 नॉकडाउन के जरिए तकनीकी नॉकआउट
  • एथलीट खुद स्टॉपेज की मांग करे
  • जजों के फैसले से
  • तकनीकी फैसला
  • डिसक्वालीफिकेशन

जजों का फैसला सुनाने का तरीका

अगर कोई मैच पूरे समय तक चलता है तो फिर जज फैसला सुनाते हैं। 3 जज राउंड-दर-राउंड विश्लेषण करते हुए “10-पॉइंट मस्ट सिस्टम” का उपयोग करते हैं और जिस एथलीट के पक्ष में ज्यादा जज होंगे, उसे विजेता घोषित किया जाता है। अगर पॉइंट्स बराबर हैं, उस स्थिति में रेफरी द्वारा ONE के जजिंग नियमों का पालन करते हुए फैसला सुनाया जाएगा।

ONE में जजों द्वारा अपनाए जाने वाले मानदंड

  • नॉकडाउंस
  • क्षति (आंतरिक, एकत्र, बाहरी क्षति)
  • क्लीन स्ट्राइक्स की संख्या
  • आक्रामकता और केज/रिंग में प्रभुत्व (बेहतर पोजिशन)

ग्लोबल किकबॉक्सिंग रूल सेट

Superbon Singha Mawynn Marat Grigorian ONE X 1920X1280 34

ONE Championship में ग्लोबल किकबॉक्सिंग नियमावली का पालन किया जाता है।

बेंटमवेट या उससे निचले डिविजन के एथलीट 8-औंस के बॉक्सिंग ग्लव्स पहन कर फाइट करते हैं। फेदरवेट या उससे ऊंचे डिविजन के एथलीट्स 10-औंस के बॉक्सिंग ग्लव्स पहन कर फाइट करते हैं।

बाउट की समयसीमा

एक बाउट में 3 मिनट के 3 राउंड्स होंगे, जिनके बीच में एक मिनट का ब्रेक दिया जाएगा। वर्ल्ड चैंपियनशिप मैचों में 3 मिनट के 5 राउंड्स होंगे और उनके बीच में भी 1 मिनट का ब्रेक दिया जाएगा।

जीत के तरीके

कोई एथलीट इन तरीकों से जीत दर्ज कर सकता है:

  • पंच, किक या नी से आया नॉकआउट
  • रेफरी/डॉक्टर/कॉर्नर द्वारा स्टॉपेज के कारण तकनीकी नॉकआउट
  • एक राउंड में 3 नॉकडाउन या मैच में कुल 4 नॉकडाउन के जरिए तकनीकी नॉकआउट
  • एथलीट खुद स्टॉपेज की मांग करे
  • जजों के फैसले से
  • तकनीकी फैसला
  • डिसक्वालीफिकेशन

जजों का फैसला सुनाने का तरीका

अगर कोई मैच पूरे समय तक चलता है तो फिर जज फैसला सुनाते हैं। 3 जज राउंड-दर-राउंड विश्लेषण करते हुए “10-पॉइंट मस्ट सिस्टम” का उपयोग करते हैं और जिस एथलीट के पक्ष में ज्यादा जज होंगे, उसे विजेता घोषित किया जाता है। अगर पॉइंट्स बराबर हैं, उस स्थिति में रेफरियों द्वारा ONE के जजिंग नियमों का पालन करते हुए फैसला सुनाया जाएगा।

ONE में जजों द्वारा अपनाए जाने वाले मानदंड

  • नॉकडाउंस
  • क्षति (आंतरिक, एकत्र, बाहरी क्षति)
  • क्लीन स्ट्राइक्स की संख्या
  • आक्रामकता और केज/रिंग में प्रभुत्व (बेहतर पोजिशन)

ग्लोबल सबमिशन ग्रैपलिंग रूल सेट

Garry Tonon Tye Ruotolo ONE157 1920X1280 50

ONE Championship ग्लोबल सबमिशन ग्रैपलिंग नियमावली का पालन करता है।

बाउट की समयसीमा

वर्ल्ड चैंपियनशिप समेत हर एक बाउट में 1 ही राउंड होगा, जो 10 मिनट तक चलेगा।

जीत के तरीके

इन तरीकों से जीत दर्ज की जा सकती है:

  • सबमिशन
  • एथलीट खुद टैपआउट कहे
  • एथलीट को खतरे में देख रेफरी द्वारा स्टॉपेज
  • एथलीट का कॉर्नरमैन स्टॉपेज की मांग करे
  • जजों के फैसले से

जज किस तरीके से फैसला सुनाते हैं

अगर कोई मैच पूरे समय तक चलता है तो फिर जज फैसला सुनाते हैं। 3 जज अटैक्स के समय कैच की संख्या, करीबी सबमिशन के प्रयासों को देखकर स्कोरिंग करते हैं। जज ज्यादा कैच वाले एथलीट को विजेता घोषित करते हैं। अगर दोनों एथलीट्स ने बराबर कैच किए तो उस एथलीट को विजेता घोषित किया जाएगा, जिसने आखिरी कैच किया था। अगर मैच में कोई कैच नहीं आया तो जज ज्यादा आक्रामकता दिखाने वाले एथलीट को विजेता घोषित करेंगे।

ONE में जजों द्वारा अपनाए जाने वाले मानदंड

  • कैचों की संख्या
  • आक्रामकता

Stay in the know

Take ONE Championship wherever you go! Sign up now to gain access to latest news, unlock special offers and get first access to the best seats to our live events.
By submitting this form, you are agreeing to our collection, use and disclosure of your information under our Privacy Policy. You may unsubscribe from these communications at any time.