न्यूज़

पूर्व वर्ल्ड चैंपियन और भारतीय हीरो का सामना करना चाहते हैं एको रोनी सपुत्र

ONE Championship के फ्लाइवेट डिविजन में लगातार जीत हासिल करने के बाद एको रोनी सपुत्र अब कुछ बड़े स्टार्स के साथ मुकाबला करने के लिए तैयार हैं।

COVID-19 महामारी के चलते इस इंडोनेशियाई नेशनल रेसलिंग चैंपियन का मोमेंटम धीरे हो चुका है लेकिन उन्होंने अब तक हार नहीं मानी और उनकी निगाहें शीर्ष पर बनी हुई हैं।

उन्होंने कहा, “वर्तमान परिस्थिति ने मेरी ट्रेनिंग पर असर डाला है क्योंकि मैं जिम नहीं जा पा रहा हूँ लेकिन मैं हर दिन अपनी शारीरिक स्थिति को बरकरार रखने के लिए व्यायाम करने का प्रयास कर रहा हूँ।”

“मैं COVID-19 के पहले अपने बाउट की तैयारी कर रहा था। मुझे पता नहीं था कि मैं किसका सामना करने वाला हूँ लेकिन मुझे तैयारी करने के लिए बोला गया था, इसलिए मैं अपने शरीर को मेंटेन करने का प्रयास कर रहा था।”

सपुत्र कुछ प्रतिद्वंदियों के बारे में सोचकर प्रेरित रहने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने अपने लक्ष्य को कठिन बनाए रखा है ताकि उनके पास कमजोर पड़ने का कोई विकल्प न रहे।

वो सर्कल में विश्व-स्तरीय प्रतिद्वंदी का सामना करना चाहते हैं और एक पूर्व वर्ल्ड चैंपियन ने उनका मुख्य रूप से ध्यान खींचा है।

Evlove के प्रतिनिधि ने बताया, “मैं हर किसी से फाइट करने के लिए तैयार हूँ लेकिन जेहे युस्ताकियो के खिलाफ मुझे चुनौती का अनुभव होगा। ये मेरा लक्ष्य है।”

“जेहे का सामना मेरे Evolve के साथी किम क्यु संग से हो चुका है और वो स्ट्राइकिंग में अच्छे हैं, वहीं मैं ग्राउंड फाइटर हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि एक दिन उनका सामना जरूर कर पाऊं। अगर मैं जीता तो मेरी रैंकिंग बढ़ेगी क्योकि वो पूर्व वर्ल्ड चैंपियन हैं।

“मैं मानता हूँ कि मेरी टीम की नजरें भी इस बाउट पर रहेंगी लेकिन मुझे पता है कि मैं ONE में नया हूँ और यहां कई चुनौतियां हैं जिन्हें मुझे पहले पार करना है। फ्लाइवेट डिविजन काफी प्रतिभा से भरा हुआ है।”



फ्लाइवेट रैंक में टैलेंट की कोई कमी नहीं है। चैंपियन एड्रियानो “मिकीन्यो” मोरेस का सामना ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन डिमिट्रियस “माइटी माउस” जॉनसन से जल्द ही होगा।

टॉप टियर में जगह बनाने के लिए सपुत्र को पहले अनुभव प्राप्त करना होगा। अभी उनके लिए कई सारे शानदार मुकाबले तैयार हैं और भारत के गुरदर्शन “सेंट लॉयन” मंगत अन्य एथलीट हैं जो उनके रेडार पर हैं और उन्हें ऊँचाई पर पहुंचा सकते हैं।

उन्होंने कहा, “इवेंट के स्थगित होने के पहले मुझे बताया गया था कि मुझे जकार्ता और सिंगापुर के इवेंट्स के लिए तैयारी करनी है और मैंने अनुमान लगाया कि मेरा मुकाबला मंगत के खिलाफ होगा।”

“वो ताकतवर हैं और मुझे ताकतवर प्रतिद्वंदियों का सामना करने में चुनौती का अनुभव होता है। भगवान को धन्यवाद है कि मैं मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स तकनीकों को समझना सीख गया। मैं अपनी स्किल्स में सुधार करने का प्रयास कर रहा हूँ। मैं तैयार हूँ।”

Eko Roni Saputra submits Khon Sichan ONE WARRIOR'S CODE

“सेंट लॉयन” को अपने करियर की 15 जीत में से 5 जीत नॉकआउट और 5 जीत सबमिशन से मिली है लेकिन ग्लोबल स्टेज पर उनकी दो जीत शानदार स्ट्राइकिंग की वजह से आई हैं।”

उन्होंने पिछले साल मार्च में टोनी “डायनामाइट” टोरु को तीसरे राउंड में स्ट्राइक्स की मदद से हराया था और फिर जुलाई में एब्रो “द ब्लैक कोमोडो” फर्नांडीस को भी शानदार तरीके से पराजित किया।

सपुत्र की रेसलिंग स्किल्स उन्हें अच्छा बनाती हैं और मंगत के अंतिम मुकाबलों को देखने के बाद वो उम्मीद कर रहे हैं कि Extreme Couture और 10th Planet Las Vegas के प्रतिनिधि बाउट में खड़े रहेंगे।

उन्होंने कहा, “मंगत एक ऐसे स्ट्राइकर हैं जिन्हें पंच और किक्स लगाना काफी पसंद है। एक ग्रैपलर और स्ट्राइकर के बीच क्लासिक फाइट होगी।”

“उन्होंने एब्रो फर्नांडीस को हराया और टोनी टोरु के खिलाफ उनकी नी धातक नजर आ रही थी।”

हालांकि, वो मानते हैं कि अगर वो अपने स्किल सेट में सुधार करते हैं तो वो उनपर भी सफलता हासिल कर सकते हैं।

उन्होंने बताया, “मैंने रीस मैकलेरन के खिलाफ उनका अंतिम मुकाबला देखा और उन्होंने रीयर-नेकेड चोक का उपयोग किया था। मैं मानता हूँ कि मुझे भी मैकलेरन की तरह फाइट करनी चाहिए।”

रैंक में ऊपर आने का इस एथलीट के पास आसान रास्ता नहीं है। उन्हें सिर्फ अपनी स्किल्स में सुधार करना है और वो एक सही कोचिंग टीम Evolve का हिस्सा हैं।

सपुत्र किसी भी चीज़ को हल्के में नहीं ले रहे हैं बल्कि वो मानते हैं कि वो अपने करियर की कुछ अच्छी जीत हासिल कर सकते हैं और वो अपने जीत को जारी रख सकते हैं, अगर उन्हें मंगत के खिलाफ 2020 में मुकाबला करने का मौका मिला।

Eko Roni Saputra at ONE DAWN OF VALOR

उन्होंने बताया, “मैं एक स्ट्राइकर का सामना करना चाहूंगा क्योंकि यहां Evolve में कई सारे स्ट्राइकर्स हैं। [ONE बेंटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन] नोंग-ओ गैयानघादाओ और [ONE स्ट्रॉवेट मॉय थाई और किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन] सैम-ए गैयानघादाओ इस चीज़ में मेरी मदद करेंगे। वो मुझे पूरी ताकत से किक और पंच लगाते हुए देखना चाहते हैं।”

“मैं मानता हूँ कि मैं काफी पंच लगा सकता हूँ। ये जरूरी भी है क्योंकि मैच स्टैंड-अप पोजिशन में शुरू होता है। मुझे टेकडाउन का प्रयास करने के पहले स्ट्राइक्स लगानी होंगी।

“मैं नतीजा नहीं सोच सकता क्योंकि सारी फाइट्स अप्रत्याशित होती हैं लेकिन मैं मानता हूँ कि मैं पॉजिटिव नतीजे ला सकता हूँ।”

ये भी पढ़ें: एको रोनी सपुत्र ने पहले राउंड में आई सबमिशन जीत से इंडोनेशियाई फैंस को चौंकाया