न्यूज़

डैनी किंगड दोबारा मोरेस और जॉनसन से भिड़ना चाहते हैं

ONE Championship की ऑफिशियल एथलीट रैंकिंग्स जारी होने के बाद डैनी “द किंग” किंगड ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप का रास्ता तय करने के लिए पूरी तरह से फोकस हो गए हैं।

Team Lakay के सुपरस्टार, जो कि फ्लाइवेट में दूसरे नंबर के दावेदार भी हैं, उनकी नजरें पहले से ही अपने दो पुराने प्रतिद्वंदियों के खिलाफ बाउट करके मौके को भुनाने में लगी थीं। जब उन्होंने इस डिविजन में अपना स्थान देखा तो उनकी दुविधा दूर हो गई। अब वो सर्कल में एक्शन के फिर शुरू होने और दोनों चिर-प्रतिद्वंदियों के खिलाफ उतरने के इंतजार में हैं।

The Philippines' own Danny Kingad competes against China's Xie Wei

ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियन एड्रियानो “मिकीन्यो” मोरेस ने टॉप पर अपनी जगह बनाए रखी है। वहीं ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन डिमिट्रियस “माइटी माउस” जॉनसन प्रमुख दावेदार हैं।

इसमें कोई इत्तेफाक की बात नहीं कि ये दोनों ही किंगड के असाधारण 14-2 के स्कोर में दो हार के लिए जिम्मेदार हैं। ऐसे में उन्होंने मोरेस और जॉनसन दोनों से भिड़ने की मंशा साफ कर दी है।

किंगड ने बताया, “वो दोनों ही मेरे लक्ष्य हैं। वो दोनों इस डिविजन के बेहतरीन एथलीट हैं और मेरी दोनों हार उनके हाथों ही आई हैं। इस वजह से मैं उम्मीद करता हूं कि मेरा सामना उनसे होगा।”

“द किंग” ने फिलीपींस के मनीला में 10 नवंबर 2017 में हुए ONE: LEGENDS OF THE WORLD में ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड टाइटल के को-मेन इवेंट में मोरेस का सामना किया था।

ब्राजीलियन जिउ-जित्सु ब्लैक बेल्ट एथलीट ने अपने ग्रैपलिंग अनुभव से बागियो सिटी के रहने वाले एथलीट को मात दे दी थी। हालांकि, उनका मानना है कि अब वो पहले से काफी बेहतर हो गए हैं। ऐसे में अगर उनके बीच दूसरी बार बाउट हुई तो परिणाम काफी अलग निकलकर आएगा।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि मेरा सामना एड्रियानो से फिर होगा। इस बार मैं बेहतर तरीके से तैयारी करके आऊंगा। खासकर अपने टेकडाउन डिफेंस और सबमिशन डिफेंस में।”

“इन दोनों में ही सबसे ज्यादा सुधार की जरूरत है। फिर भी जब बात स्ट्राइकिंग की आती है तो मुझे अपनी पावर को थोड़ा चमकाने की जरूरत होती है। ऐसे में अगर उन्हें नॉकआउट करने का मौका आता है तो इसका फायदा मैं उठा सकता हूं।”

जब पहली बार किंगड का सामना “मिकीन्यो” से हुआ था तो उस समय उन्होंने प्रोफेशनल मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में महज सात बाउट ही खेली थीं और वो मात्र 21 साल के ही थे। उस समय उनके पास ब्राजीलियन ग्रैपलिंग आक्रमण से बचने के लिए जरूरी अनुभव नहीं था।

उन्होंने बताया, “मुझे लगता है कि उस मैच में अनुभव काफी बड़ा फैक्टर था क्योंकि वो ONE में मेरा दूसरा ही साल था। उस समय उन्होंने मुझे पहले ही वर्ल्ड टाइटल शॉट दे दिया था।”

“मेरी समझ से अगर ऐसा फिर होता है तो मैं कई सारी नई चीजें दिखा पाऊंगा। ये चीजें मैं उस बाउट में नहीं दिखा पाया था। उस मैच के बाद से मैंने काफी सारी चीजें सीखी हैं। मैंने कई सारे विरोधियों का सामना करके कई स्टाइल्स सीखे और अनुभव बटोरा है।

“मैंने खुद को बेहतर करना लगातार जारी रखा है। पिछले कुछ साल में मुझे ट्रेनिंग में कड़ी मेहनत करने का फल दिखने लगा है। ऐसे में अपने स्किल सेट को पैना करने पर ध्यान दे रहा हूं और अपनी गलतियों को समझ रहा हूं।”



पिछले अक्टूबर में जब जापान के टोक्यो में हुए ONE: CENTURY में ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप के लिए उनका मुकाबला जॉनसन से हुआ था तो वो काफी अनुभवी हो चुके थे। फिर भी मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में हमेशा के लिए सबसे बेहतरीन कहलाए जाने वाले एथलीट के खिलाफ अच्छे प्रदर्शन के बावजूद अंत में वो जजों के स्कोर कार्ड पर बढ़िया अंक नहीं जुटा पाए थे।

किंगड ने माना कि जब अमेरिकी लैजेंड से उनका सामना हुआ तो वो नर्वस थे। जॉनसन ने जब उस मैच में दबाव बनाने की कोशिश की तो किंगड के नर्वस होने से उन्हें बाउट जीतने में ज्यादा मदद मिल गई।

Danny Kingad attacks Demetrious Johnson at ONE: CENTURY

“द किंग” ने बताया, “जब डीजे की बात आती है तो मुझे काफी सारी चीजें बदलनी पड़ती हैं। खासकर कि ग्राउंड पर मैं कैसे रिएक्ट करूंगा।”

“मोरेस की तरह मुझे भी अपना ग्राउंड गेम बेहतर करना होगा क्योंकि डीजे ग्राउंड और ट्रांजिशन में बहुत अच्छे हैं। मैं जब मैच में गया तो कुछ ज्यादा ही उत्साहित था और ये वो चीज है, जिस पर मैं अगली बाउट से पहले सुधार करना चाहता हूं।”

किंगड, जॉनसन के खिलाफ फाइनल बैल तक टिके रहे, जो अपने आप में एक उपलब्धि है लेकिन जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ता गया तो उनके लिए 12 बार के फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियन के खिलाफ टिके रहने मुश्किल होता चला गया।

इस जानकारी ने उनके प्लान ऑफ अटैक को प्रभावित किया। अगर अमेरिकी सुपरस्टार को दूसरा मौका मिला तो उन्हें इसका फायदा मिलेगा।

उन्होंने खुलासा किया, “अगर हम दोबारा भिड़े तो मुझे वहां जाकर फेंस के पास स्विंग करना होगा और मैच को फिनिश करने का मौका देखना होगा। जितना मैच खिंचता जाएगा, उन्हें हरा पाना उतना ही मुश्किल होता जाएगा।”

जनवरी में हुए ONE: FIRE & FURY में “द हंटर” शी वेई को सर्वसम्मत निर्णय द्वारा हराकर “द किंग” जीत की लय में फिर से वापस आ गए हैं लेकिन COVID-19 महामारी के बीच उनका अगला कदम साफ नहीं हो पाया है।

ONE जब 2020 कैलेंडर इवेंट फिर से शुरू करेगी तो ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए मोरेस और जॉनसन का मुकाबला होना बाकी होगा और किंगड इस मैच के नतीजे पर पैनी नजर रखेंगे।

हालांकि, अगर उन्हें डिविजन के दोनों प्रमुख एथलीट्स में से एक का भी सामना करने को नहीं मिला तो वो इस परिस्थतियों से पीछे रहकर मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के दो बेहतरीन एथलीट्स से खुश रहेंगे और Team Lakay में खुद को तब तक सुधारेंगे, जब तब उनको मौका नहीं मिल जाता।

किंगड ने कहा, “मुझे खुशी है कि मैं इस बातचीत का हिस्सा हूं। मुझे लगता है कि मैं पिछले मैचों से काफी बदल चुका हूं।”

“पहले मैं अनुभवी नहीं था लेकिन अब मैं खुश हूं कि उस काम की ओर देख रहा हूं, जिसको हम कर रहे हैं।”

ये भी पढ़ें: डैनी किंगड ने बचपन के अपने पांच पसंदीदा एनिमेशन शो के बारे में बताया