किकबॉक्सिंग

सुपरबोन ने ट्रायलॉजी बाउट में सिटीचाई को हराने की तरकीब बताई

सुपरबोन को पता है कि वो दुनिया के सबसे बेहतरीन स्ट्राइकर्स में से एक हैं और अब वो इसे ONE Championship के ग्लोबल फैन बेस के सामने साबित करना चाहते हैं।

थाई स्टार इसी साल दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन में शामिल हुए थे, ताकि वो अपनी स्किल्स को वहां के बेहतरीन किकबॉक्सिंग व मॉय थाई फेदरवेट एथलीट्स से सामने परख सकें। इन एथलीट्स में जियोर्जियो “द डॉक्टर” पेट्रोसियन, “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” योडसंकलाई IWE फेयरटेक्स, पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी शामिल हैं।

29 साल के एथलीट ने बताया, “मुझे लगता है कि ONE Championship के सभी अच्छे एथलीट मेरे ही डिविजन में हैं।”

“एक एथलीट होने के नाते मेरा मुकाबला बेस्ट से ही होना चाहिए। मैं खुद का मुकाबला बेस्ट होता देखना चाहता हूं। इसके अलावा, ONE Championship ने खेल के कई पहलुओं को बेहतर कर दिया है और यही कारण रहा कि मैंने यहां जॉइन किया।”

 

ONE में अपने पहले मुकाबले के लिए सुपरबोन पुरानी प्रतिद्वंदिता जारी रखेंगे।

शुक्रवार, 31 जुलाई को वो “द किलर किड” सिटीचाई सिटसोंगपीनोंग के खिलाफ थाईलैंड की राजधानी में होने वाले ONE: NO SURRENDER की बहुप्रतीक्षित ट्रायलॉजी (तीसरी) बाउट में उतरेंगे।
उनके इतिहास को देखते हुए इस खेल के फैन ONE Super Series फेदरवेट किकबॉक्सिंग मुकाबले के लिए नि:संदेह उत्साह से भरे होंगे।


ये दोनों थाई एथलीट जनवरी 2016 में जब पहली बार किकबॉक्सिंग टूर्नामेंट की सेमीफाइनल बाउट में एक-दूसरे के सामने आए थे, तब सुपरबोन इस खेल में इतने अनुभवी नहीं थे और “द किलर किड” ने उन्हें दूसरे राउंड में राइट हुक मारकर नॉकआउट कर दिया था।

इससे Sor. Tawanrung Gym के प्रतिनिधि को आहत नहीं हुए बल्कि खुद को बेहतर बनाया। इसके बाद उन्होंने चार लगातार जीत हासिल कीं और सितंबर 2016 में सिटीचाई के खिलाफ फिर से मैच हासिल किया। फिर उन्हें पछाड़कर सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल की।

सुपरबोन ने कहा, “मैं पहले मुकाबले में उनसे हार गया था क्योंकि उससे पहले किकबॉकसिंग में मैंने केवल दो ही मुकाबले खेले थे। मुझे इसके नियमों की आदत नहीं पड़ी थी और न ही किकबॉक्सिंग स्टाइल की। जब फिर से हमारा सामना हुआ (आठ महीने बाद) तो मुझे 100 प्रतिशत विश्वास था और मैं देख सकता था कि मेरे दांव उनसे ज्यादा तेज और सटीक हो चुके थे।”

इन दोनों मार्शल आर्ट्स एथलीट्स की यात्रा भले ही उन्हें अलग दिशा में ले गई हो लेकिन अब दोनों के रास्ते ONE Championship में आ मिले हैं। यहां दोनों बेहतरीन स्ट्राइकर लंबे समय से इंतजार हो रही ट्रायलॉजी बाउट में एक-दूसरे का सामना करेंगे।

फिलहाल, कुछ समय के लिए COVID-19 के चलते लगी पाबंदी ने “द लैंड ऑफ स्माइल्स” में मार्शल आर्टिस्ट्स को वन ऑन वन ट्रेनिंग करने से दूर किया हुआ है। इस दौरान सुपरबोन ने खुद को वेट और कार्डियो एक्सरसाइज से फिट रखा हुआ है। इस तरह की चीजें वो तब भी ज्यादा करते हैं, जब उनकी बाउट नहीं होती है।

अब पाबंदियों में ढील मिलने और ONE के अपने 2020 फ्लैगशिप इवेंट्स फिर से शुरू करने के चलते इस थाई एथलीट ने “द किलर किड” के साथ तुरंत मैच स्वीकार कर लिया और कड़ी मेहनत से Sor. Tawanrung Gym में ट्रेनिंग कर रहे हैं।

सुपरबोन ने कहा, “सिटीचाई बाएं हाथ का इस्तेमाल अधिक करते हैं इसलिए मैं अपने दोनों ट्रेनरों के साथ प्रैक्टिस कर रहा हूं, जो बाएं हाथ का ही अधिक इस्तेमाल करते हैं। इस मुकाबले के लिए मेरे पास चार ट्रेनर हैं और सभी अलग-अलग चीज पर ध्यान दे रहे हैं।”

View this post on Instagram

????????

A post shared by Superbon ???????? (@superbon_banchamek) on

अपने पुराने विरोधी के साथ दो बार रिंग शेयर कर चुके सुपरबोन, सिटीचाई की तकनीकों से अच्छी तरह वाकिफ हैं।

ऐसे में बैंकॉक के निवासी को अच्छी तरह से पता है कि किन चीजों से सावधान रहना है। उन्हें भरोसा है कि वो न सिर्फ “द किलर किड” का मुकाबला कर सकते हैं बल्कि उन्हें खेल के हर विभाग में पछाड़ भी सकते हैं।

सुपरबोन ने बताया, “सिटीचाई की ताकत उनके लेफ्ट पंच और लेफ्ट किक हैं।”

“वो इस तरह के विरोधी हैं, जो बिना रुके अपने दांव आप पर लगाते रहते हैं लेकिन उनमें ताकत नहीं होती है। वो इस तरह के एथलीट हैं, जो बिना थके आप से मुकाबला करते रहते हैं। उनके जैसा एथलीट आसानी से नहीं मिलता है, जो तीनों राउंड उनके जैसा मुकाबला कर सके।

“मेरे लिए अगर आप पिछली दो बाउट्स की बात करें, खासकर दूसरी वाली, जिसमें मैं जीता था तो मुझे लगा कि मैंने बेहतर किया क्योंकि मैं उनसे तेज हूं। मेरे दांव सिटीचाई से ज्यादा ताकतवर हैं। बस मुझे सहनशक्ति की जरूरत है, ताकि मैं तीनों राउंड पूरी तरह से बाउट कर सकूं।”

ONE: NO SURRENDER में होने वाले मुकाबले का काफी बड़ा असर होगा।

सुपरबोन जो इस समय फेदरवेट मॉय थाई में #1-रैंक के दावेदार हैं और फेदरवेट किकबॉक्सिंग में #2-रैंक के दावेदार हैं, उन्हें ONE एथलीट रैंकिंग में सुधार और सिटीचाई पर 2-1 की बढ़त मिल जाएगी।

इस जीत के साथ ही वो पेटमोरकोट के ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल के करीब पहुंच जाएंगे। हो सकता है कि पेट्रोसियन या योडसंकलाई के खिलाफ उन्हें ड्रीम मैच भी मिल जाए।

लेकिन पहले उन्हें 31 जुलाई को ट्रायलॉजी मुकाबले में उतरना होगा और सुपरबोन के लिए बात करने का समय पूरा हो चुका है।

उन्होंने कहा, “हमारी मुलाकात का समय आ चुका है सिटीचाई। चलो देखते हैं कि इस डिविजन में बेस्ट कौन है। अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन करने के लिए तैयार हो जाइए और फिर देखते हैं कि कौन जीतता है।”

ये भी पढ़ें: सिटीचाई धमाकेदार ONE डेब्यू के लिए हैं तैयार