विशेष कहानियाँ

ONE: NO SURRENDER II के स्टार्स से जुड़ी 7 बेहद रोचक बातें

Aug 13, 2020

शुक्रवार, 14 अगस्त को थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में होने वाले ONE: NO SURRENDER II में 12 बेहतरीन मार्शल आर्टिस्ट्स अपने टैलेंट का जलवा दिखाएंगे।

भले ही फैंस को इनकी पिछली जीत और फाइट करने के तरीकों की अच्छी तरह से जानकारी हो लेकिन उनके बारे में और भी बहुत कुछ दिलचस्प बातें जानने लायक हैं।

आइए ONE: NO SURRENDER II में हिस्सा ले रहे स्टार्स से जुड़ी रोचक बातों के बारे में जानते हैं।

#1 सैमापेच सेना में रहे हैं

Muay Thai fighter Saemapetch Fairtex enters the arena

ONE वर्ल्ड टाइटल चैलेंजर बनने से पहले सैमापेच फेयरटेक्स रॉयल थाई आर्मी में एक सैनिक थे।

थाई स्टार ने देश की सेना में शामिल होने का सपना देखा था और इसी अनुभव ने उनके मॉय थाई करियर को बनाने में मदद भी की है।

#2 ‘द आयरन मैन’ को रोडलैक से प्रेरणा मिली

Rodlek PK.Saenchaimuaythaigym throws his left hand at Andrew Miller at ONE: DAWN OF HEROES.

रोडलैक पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम ONE बेंटमवेट मॉय थाई टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में मुकाबला करते हुए नजर आएंगे। उनके बाउट करने का स्टाइल फैंस को एक खास सुपरस्टार की याद दिलाता होगा।

ऐसा इसलिए कि ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन रोडटंग “द आयरन मैन” जित्मुआंगनोन कह चुके हैं कि उन्होंने रोडलैक से प्रेरणा लेकर अपने फाइटिंग स्टाइल को शेप दी है।

#3 इतिहास रच चुके हैं पिंटो

Victor Pinto enters the arena

साल 2010 में लियो पिंटो ने इतिहास के पन्नों में अपना नाम सुनहरे अक्षरों में दर्ज करवाया था।

17 साल की उम्र में फ्रांसीसी मॉय थाई आर्टिस्ट Lumpinee Stadium बेस्ट फाइटर ऑफ द ईयर अवॉर्ड जीतने वाले पहले विदेशी एथलीट बने थे।



#4 टॉप लेवल के एथलीट्स को ट्रेनिंग देते हैं ज़टूट

Mehdi Zatout gets his Muay Thai fighter, Adam Noi, ready for action

मेहदी “डायमंड हार्ट” ज़टूट भले ही ONE Super Series में एक एक्टिव प्रतियोगी हों लेकिन फ्रैंच-अल्जीरियाई स्ट्राइकर एक जिम ट्रेनर भी हैं, जो कई सारे टॉप एथलीट्स को ट्रेनिंग देते हैं।

दरअसल, वो Venum Training Camp थाईलैंड के सह-मालिक हैं, जहां वो सैमी “AK47” सना, एडम नोइ, फाहदी “द ग्लैडिएटर” खालेद और ONE बेंटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन अलावेर्दी “बेबीफ़ेस किलर” रामज़ानोव को ट्रेनिंग देते हैं।

#5 बचाव कार्य में लगे थे मिटसाटिट

Posted by Pongsiri Mitsatit on Wednesday, June 27, 2018

पोंगसिरी “द स्माइलिंग असासिन” मिटसाटिट असल जिंदगी में भी एक हीरो हैं।

जुलाई 2018 में स्ट्रॉवेट स्टार बचाव दल के उन पहले लोगों में शामिल थे, जो थाईलैंड की एक गुफा में फंसी वाइल्ड बोर्स फुटबॉल के 12 खिलाड़ियों और उनके कोच को बचाने में लगे थे। मिटसाटिट हर हाल में मदद करना चाहते थे।

आखिरकार, लंबी कोशिशों के बाद खिलाड़ियों और कोच को सुरक्षित बचा लिया गया।

#6 फुजिसावा का शुरुआती सपना

अकिहिरो “सुपरजैप” फुजिसावा अब भले ही एक मार्शल आर्टिस्ट हैं लेकिन हाई स्कूल के दिनों में वो कुछ और भी बनना चाहते थे।

इस जापानी एथलीट का सपना एक सेल्समैन बनना था और बाद में अपना खुद का एक कपड़ों का स्टोर बनाना था।

#7 एक खास क्लब का हिस्सा हैं शिंक

प्रोमोशन में डेब्यू करने जा रहे जॉन शिंक खुद को एक स्पेशल मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट साबित कर दें लेकिन वो पहले से ही एक खास क्लब का हिस्सा हैं।

शिंक की मां ने एक साथ तीन बच्चों को जन्म दिया था, जिसमें उनके भाई और बहन शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: बेंटमवेट मॉय थाई टूर्नामेंट में किसके जीतने के हैं ज्यादा चांस