मॉय थाई

बेंटमवेट मॉय थाई टूर्नामेंट में किसके जीतने के हैं ज्यादा चांस

ONE बेंटमवेट मॉय थाई टूर्नामेंट के सभी प्रतिभागियों के नाम सामने आ चुके हैं और जल्द ही फैंस को इसके सेमीफाइनल मुकाबले देखने को मिलने वाले हैं।

पहले 14 अगस्त को थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में होने वाले ONE: NO SURRENDER II में सैमापेच फेयरटेक्स और रोडलैक पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम का आमना-सामना होना है।

उसके बाद 21 अगस्त को ONE: NO SURRENDER III में सांगमनी “द मिलियन डॉलर बेबी” क्लोंग सुआनप्लूरिज़ॉर्ट और कुलबडम “लेफ्ट मीटियोराइट” सोर. जोर. पिएक उथाई का मैच होने वाला है।

इन मैचों के विजेताओं की फाइनल में भिड़ंत होगी और जो भी टूर्नामेंट विजेता होगा, उसे ONE बेंटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन नोंग-ओ गैयानघादाओ के खिलाफ टाइटल शॉट मिलेगा।

इससे पहले सेमीफाइनल मैच शुरू हों, यहां हम इन चारों एथलीट्स के बारे में आपको बताने वाले हैं।

सैमापेच फेयरटेक्स

Saemapetch Fairtex

सैमापेच ने जुलाई 2018 में ONE Championship में कदम रखा था और ONE: BATTLE FOR THE HEAVENS में देवीदास डेन्याल को हराया।

उसके बाद उन्होंने ओन्येन टॉपिच और मौजूदा ONE बेंटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन अलावेर्दी “बेबीफेस किलर” रामज़ानोव पर भी जीत हासिल की।

सैमापेच की ONE में अभी तक एकमात्र हार नोंग-ओ के खिलाफ आई है। इसलिए अगर वो टूर्नामेंट को जीतने में सफल रहते हैं तो उन्हें मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन से अपना बदला पूरा करने का मौका मिल सकता है।

लेकिन ऐसा करने के लिए उन्हें रोडलैक की कड़ी चुनौती से पार पाना होगा। ये दोनों एथलीट्स पहले भी तीन बार एक-दूसरे का आमना-सामना कर चुके हैं जिनमें सैमापेच को केवल 1 मैच में जीत मिली है।

अगर Fairtex टीम के स्टार को इस मैच में जीत दर्ज करनी है तो उन्हें अपनी स्टैंड-अप स्किल्स का पूर्ण इस्तेमाल करना होगा, जो उनका सबसे खतरनाक हथियार साबित होता आया है। उनका स्ट्रेट लेफ्ट पंच जिसे वो दमदार जैब के बाद लगाना पसंद करते हैं। साउथपॉ (बाएं हाथ के) एथलीट अपने राइट हैंड का भी अच्छे से इस्तेमाल करना जानते हैं लेकिन दूसरी ओर रोडलैक अपने प्रतिद्वंदी के इसी मूव का फायदा उठाने की कोशिश करेंगे।

अगर सैमापेच अपने प्रतिद्वंदी के दमदार हैंड्स को रोक पाने में सफल रहे तो जरूर वो दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से फाइनल में भिड़ सकते हैं।

रोडलैक पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम

Thailand's Rodlek PK.Saenchaimuaythaigym and Scotland's Chris Shaw compete in ONE Championship

रोडलैक ने सैमापेच से एक साल बाद ONE Championship को जॉइन किया था और ग्लोबल स्टेज पर अभी तक कोई एथलीट उन्हें हराने में सफल नहीं रहा है।

2019 के बाद थाई सुपरस्टार लियाम “हिटमैन” हैरिसन, एंड्रयू “मैडडॉग फेयरटेक्स” मिलर और क्रिस शॉ को हरा चुके हैं।

#5 रैंक के बेंटमवेट किकबॉक्सिंग कंटेंडर अपनी चिन (ठोडी) पर प्रभावशाली पंच लगने से भी हार नहीं मानते हैं और उन्हें फ्रंटफुट पर रहकर अपने प्रतिद्वंदी पर दबाव बनाना बहुत पसंद है। इन स्किल्स का प्रयोग कर वो सैमापेच को कड़ी चुनौती दे सकते हैं, जो बैकफुट पर रहकर लेफ्ट पंच और किक्स से काउंटर अटैक करने की भी कोशिश करते नजर आएंगे।

रोडलैक इससे पहले सैमापेच के खिलाफ 2 मैचों में जीत दर्ज कर चुके हैं, जो संभव ही 14 अगस्त के मैच में उन्हें मानसिक मजबूती प्रदान करेगा।

अगर “द स्टील लोकोमोटिव” खुद को अपने प्रतिद्वंदी के लेफ्ट पंच और किक्स से दूर रख पाते हैं और अपना ट्रेडमार्क राइट हैंड लगा पाते हैं तो वो संभवत ही टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर सकते हैं।



सांगमनी क्लोंग सुआनप्लूरिज़ॉर्ट

Sangmanee Sathian MuayThai defeats Kenta Yamada at ONE A NEW TOMORROW

“द मिलियन डॉलर बेबी” ने नवंबर 2019 में ONE को जॉइन किया था लेकिन उनके पास अनुभव की कोई कमी नहीं है।

ONE में आने के बाद नंबर-1 बेंटमवेट मॉय थाई कंटेंडर अज़ीज़ हलाली और केंटा यमाडा को सर्वसम्मत निर्णय से हरा चुके हैं।

ONE से बाहर वो 7 बार के मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन रहे हैं और Rajadamnern व Lumpinee Stadiums में भी कई टाइटल जीत चुके हैं।

सांगमनी तकनीक पर ज्यादा ध्यान देते हैं जो आगे आकर लेफ्ट किक्स लगाते हैं और अपने प्रतिद्वंदी की बॉडी को लेफ्ट किक्स लगाकर क्षति पहुंचाते हैं। वहीं, कुलबडम के लेफ्ट पंच में इतनी ताकत है कि वो किसी भी पल मैच को फिनिश करने का सामर्थ्य रखते हैं। इसलिए दोनों एथलीट्स में से जो भी अपनी लेफ्ट स्ट्राइक्स को लगा पाएगा उसके जीतने की संभावनाएं बढ़ जाएंगी।

अगर “द मिलियन डॉलर बेबी” कुलबडम के दमदार पंचों से खुद को दूर रख पाएं और साथ ही अपनी किक्स का सही तरीके से इस्तेमाल कर पाएं तो उनके फाइनल में पहुंचने के अच्छे चांस होंगे।

कुलबडम “लेफ्ट मीटियोराइट” सोर. जोर. पिएक उथाई

Kulabdam Sor. Jor. Piek Uthai fires his trademark left hand at Bobo Sacko

कुलबडम ने सितंबर 2019 में ONE: IMMORTAL TRIUMPH में अपना प्रोमोशनल डेब्यू किया था, जिसमें उन्हें बोबो साको के खिलाफ सर्वसम्मत निर्णय से जीत मिली थी।

कुलबडम को ONE में सांगमनी जितनी पहचान नहीं मिल पाई है लेकिन थाईलैंड के मॉय थाई सर्किट में उनकी उपलब्धियां सांगमनी के ही समान हैं। वो 3 मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल, 2 Lumpinee Stadium फाइट ऑफ द ईयर अवॉर्ड जीत चुके हैं और स्पोर्ट्स राइटर्स एसोसिएशन द्वारा फाइटर ऑफ द ईयर अवॉर्ड से भी सम्मानित किए जा चुके हैं।

नंबर-3 बेंटमवेट मॉय थाई एथलीट Channel 7 Stadium में 7 मैचों तक अजेय रहे थे। ये एक ऐसी स्ट्रीक जिसे थाईलैंड का हर एक एथलीट हासिल करने की चाह रखता है।

वो अपनी उपलब्धियों से ये साबित कर चुके हैं कि उन्हें “लेफ्ट मीटियोराइट” क्यों कहा जाता है। कुलबडम बड़े मॉय थाई स्टार्स को भी नॉकआउट कर चुके हैं, जिनमें मुआंगथाई “एल्बो ज़ोम्बी” पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम के खिलाफ आई जीत भी शामिल है।

सेमीफाइनल मैच में कुलबडम को सांगमनी की ओर से आ रहे दबाव और लेफ्ट किक्स से सावधान रहना होगा। लेकिन अगर वो स्ट्रेट लेफ्ट पंच या लेफ्ट एल्बो को सही जगह लैंड करा पाते हैं तो जरूर फाइनल में प्रवेश कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: ONE: NO SURRENDER II और III का पूरा बाउट कार्ड सामने आया