विशेष कहानियाँ

ONE: CENTURY के बड़े विजेताओं का अगला लक्ष्य क्या है?

अक्टूबर 16, 2019

प्रतिष्ठित रयोगुकु कोकुगिकन ने रविवार को 13 अक्टूबर को मार्शल आर्ट्स के इतिहास के सबसे बड़े आयोजन में मेजबान की भूमिका निभाई। ONE: CENTURY ने टोक्यो, जापान में दो पूर्ण कार्ड के विश्व स्तरीय मुकाबले पेश किए।

इस रात में चार विश्व चैम्पियनशिप के सुपर-मुकाबले, विश्व ग्रां प्री फाइनल के तीन और अन्य शानदार प्रदर्शनों की मेजबानी की गई जो लम्बे समय तक यादगार रहेंगे। लेकिन जापान में इस रात के बड़े विजेताओं के लिए आगे का लक्ष्य क्या है? आइये नजर डालते हैं ONE के ऐतिहासिक कार्यक्रम में से पांच बड़े विजेताओं के संभावित अगले कदम पर।

आंग ला एन संग

आंग ला एन संग “द बर्मीज पायथन” ने हेवीवेट किंग ब्रेंडन वेरा “द ट्रुथ” के खिलाफ शानदार प्रदर्शन के साथ अपने ONE लाइट हेवीवेट विश्व खिताब का बचाव किया। म्यांमार के राष्ट्रीय नायक का कहना है कि वह अपने मिडलवेट गोल्ड के बचाव के लिए वापसी करना चाहते हैं।

इसका मतलब यह हो सकता है कि एक नए प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ विश्व खिताब का बचाव, या एक बहुत ही परिचित प्रतिद्वंदी के साथ एक रीमैच हो सकता है। दो शीर्ष मिडलवेट दावेदार अगले शुक्रवार, 23 अक्टूबर को इंडोनेशिया के जकार्ता में ONE: DAWN OF VALOR में सामना करेंगे।

लिएंडरो एटाइड्स “लियो” लगातार तीन जीतों के साथ पिछले 12 महीनों से एक खिताब के लिए दस्तक दे रहे हैं। ब्राजीलियन के ताकतवर स्ट्राइकिंग, उत्कृष्ट स्तर के ब्राजीलियाई जीयू-जित्सु आंग ला एन संग के लिए एक नई चुनौती होगी।

एक अन्य विकल्प रूप में “द बर्मीज पायथन” ONE मिडिलवेट वर्ल्ड चैम्पियनशिप ट्रिलॉजी में विटाली बिगडाश का भी सामना कर सकता है। बिगडाश ने अपने पहले मुकाबले में जीत हासिल की थी लेकिन आंग ला एन संग ने रीमैच में बेल्ट का दावा पेश किया है।

दोनों सर्वश्रेष्ठों के बीच पांच राउंड की लड़ाई और दोनों के बीच एक तीसरी प्रतियोगिता मिडलवेट डिवीजन में बहुत बड़ा मुकाबला होगा। जो भी इस्तोरा सेनयन में जीत के साथ हाथ ऊपर उठाएगा वह इस मुकाबले में कदम रखने का बड़ा दावेदार होगा। इसके साथ ही वह मुख्य आयोजन में एक नाटकीय लड़ाई पेश करेगा।

ये भी पढ़ें: आंग ला एन संग के लिए आगे क्या है- मिडलवेट!

डिमिट्रियस जॉनसन

Demetrious Johnson tussles with Danny Kingad at ONE CENTURY

जब हम डिमिट्रियस जॉनसन “माइटी माउस” के भविष्य में बारे में सोचते हैं तो कोई अटकलें लगाने की जरूरत नहीं हैं। ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन बनकर 33 वर्षीय फाइटर ने एड्रियानो मोरेस “मिकीन्यो” के खिलाफ मुकाबले के लिए लक्ष्य साध लिया है।

अमेरिकी मिक्स्ड मार्शल आर्ट सर्वोत्कृष्ठ का कहना है कि उन्होंने छह महीने से भी कम समय में तीन कठिन विरोधियों का सामना किया है। इसके बाद उन्हें संभलने के लिए कुछ समय चाहिए, लेकिन वह 2020 की शुरुआत में ONE फ्लाईवेट विश्व खिताब के लिए ब्राजीलियन के खिलाफ उतरने के लिए तैयार हैं।

ये भी पढ़ें: डिमिटि्रयस जॉनसन अब मोरएस से मुकाबले को हैं तत्पर

जियोर्जियो पेट्रोसियन

जब ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री की पहली बार घोषणा की गई थी तो कई प्रशंसकों ने इस बात को नजर अंदाज कर दिया था कि टूर्नामेंट में फाइटरों का जमावड़ा किस तरह से किया गया था।

दो पूर्व-प्रतियोगिता के पसंदीदा जियोर्जियो पेट्रोसियन “द डॉक्टर” और योद्संकलाई आईडब्ल्यूई फेयरटेक्स “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” के टोक्यो में फाइनल में मुकाबले में भिड़ने की कई लोगों को उम्मीद थी, लेकिन सैय सना के हाथों से मॉय थाई सर्वश्रेष्ठ को मिले सदमे से बाहर निकलने का मतलब था। उसने सपने का डटकर सामना नहीं किया।

हार के बावजूद थाई हीरो ने उस प्रतियोगिता ने अपनी चमक नहीं खोई और अब जबकि पेट्रोसियन ने प्रतियोगिता जीत ली है। ONE मैचमेकर्स के पास स्ट्राइकिंग स्टाइल की लड़ाई निर्धारित करने का अवसर है।

मॉय थाई और किकबॉक्सिंग की दुनिया से तकनीकी पावर स्ट्राइकर की यह लड़ाई जोश जगाती है और ONE के चेयरमैन और सीईओ चेट्री सिटोडोटॉन्ग ने ONE: CENTURY के बाद आगे बढ़ा दिया। दोनों पुरुषों ने पहले एक-दूसरे का सामना करने में रुचि दिखाई थी। इसलिए उनका मुकाबला निश्चित लग रहा है।

ये भी पढ़ें: योदसंकलाई या बुवाका कर सकते हैं पेट्रोसियन का सामना

एंजेला ली

एंजेला ली “अनस्टॉपेबल” की अविश्वसनीय ONE एटमवेट वर्ल्ड खिताब डिफेंस के लिए जिओंग जिंग नान “द पांडा” के साथ रीमैच ने भविष्य के लिए एक शानदार मैच तय कर दिया है।

सिंगापुरियन एक बार फिर से ONE स्ट्रॉवेट विश्व खिताब के लिए चुनौती देना चाहती हैं, लेकिन उसके बॉस को पुराने प्रतिद्वंदी के खिलाफ एक और ट्रिलजी मुकाबले का विचार भी पसंद है। इस डिविजन में उसने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।

मेई यामागुची “वी.वी.” की लगातार मुकाबलों में जीत से किसी भी डिविजन की महिला मिक्स्ड मार्शल कलाकार मेल नहीं खा सकती। इसलिए कोई भी बेल्ट के लिए फिर से चुनौती देने के उसके दावे को नकार नहीं कर सकता है। हालांकि वह दो बार ली से हार चुकी है। दोनों करीबी मुकाबले थे। उन्होंने पूरे 25 मिनट तक दर्शकों का मनोरंजन किया। इसलिए मुकाबले के और पांच राउंड किसी भी कार्ड के फाइनल के लिए एकदम सही हैं।

ये भी पढ़ें : एंजेला ली ने अविश्वसनीय जीत के साथ फिर की वापसी

क्रिश्चियन ली

Christian Leeक्रिश्चियन ली “द वॉरियर” की शॉर्ट-नोटिस में ONE लाइटवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैम्पियनशिप पर कब्जा करने की जीत ने उसे ONE के लाइटवेट डिवीजन में निर्विवाद शीर्ष पर पहुंचा दिया है। ONE लाइटवेट विश्व चैंपियन का एक बड़ा लक्ष्य है। शीर्ष दावेदार उसके सामने करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं।

सिंगापुर के 21 वर्षीय युवक पूर्व यूएफसी और बेल्टर वर्ल्ड चैंपियन एडी अल्वारेज़ “द अंडरग्राउंड किंग” के खिलाफ खुद को परखना चाहता है। अमेरिकी ने भी इस मुकाबले का स्वागत किया है।

हालांकि टिमोफ़े निस्तुखिन के पास भी विश्व खिताब हासिल करने का एक मजबूत दावा है। रूसी फाइटर केवल चोट के कारण सेमीफाइनल चरण में वर्ल्ड ग्रां प्री से बाहर हो गए। उन्होंने क्वार्टर फाइनल में अल्वारेज़ पर शानदार जीत के साथ मार्शल आर्ट की दुनिया को चौंका दिया।

साइबेरियाई नॉकआउट कलाकार तीन महीने पहले अपने घुटने की सर्जरी के बाद जिम में वापस आ गए हैं। इसलिए वह ली की बादशाहत के लिए एक नई चुनौती पेश कर सकता है।

ये भी पढ़ें : ONE: CENTURY के बाद क्रिश्चियन ली ने बताया कौन होगा उनका अगला प्रतिद्वंदी

शिन्या एओकी

Shinya Aoki submits Honorio Banario with a D'Arce choke at ONE: CENTURYआयोजन के बाद की प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिन्या एओकी “टोबिकन जुडान” ने कहा कि वह जितना जल्दी हो सके किसी के भी खिलाफ प्रतिस्पर्धा करना चाहता है। अगर निस्तुखिन को ONE लाइटवेट वर्ल्ड खिताब में ली से मुकाबला मिलता है तो वह अल्वारेज़ के लिए एकदम सही प्रतिद्वंद्वी होंगे जिसने उन्हें पूर्व ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन होनोरियो बानारियो “द रॉक” को केवल 54 सेकंड में स्टॉपेज दिया।

यह पूर्व और पश्चिम के दो सबसे बड़े मिक्स्ड मार्शल आर्ट आइकन को एक प्रतिद्वंद्विता को खत्म करने का मौका देगा, जो 2008 में वापस शुरू हुई थी। उस वर्ष नए साल की पूर्व संध्या पर एओकी ने अल्वारेज़ को 92 सेकंड में हील हुक से हरा दिया था। अमेरिकी फाइटर ने अप्रैल 2012 में पहले राउंड के नॉकआउट के साथ बदला लिया।

अब जैसा कि दोनों फाइटर्स ने वैश्विक मंच पर हाल ही में जीत दर्ज की है। इसलिए दोनों के बीच शानदार मुकाबले का इससे सही समय कोई नहीं हो सकता है।

ये भी पढ़ें : शिन्या एओकी ने 54 सैकंड में सब्मिशन हासिल कर टोक्यो को किया रोमांचित