फ्लाईवेइट वर्ल्ड चैंपियन

एड्रियानो
मोरएस

"मिकीन्यो"

हाइट
172 CM
भार सीमा
61.2 KG
टीम
अमेरिकन टॉप टीम / कोन्सट्रिक्टर टीम
देश
ब्राजील
हाइट
172 CM
भार सीमा
61.2 KG
टीम
अमेरिकन टॉप टीम / कोन्सट्रिक्टर टीम
देश
ब्राजील

About

एड्रियानो मोरेस ने अपने जीवन में एक लंबा रास्ता तय किया है। ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड चैंपियन बनने के लिए ना तो उसके पास सुअवसर और ना ही विकास जारी रखने का कोई जायज तरीका। ब्राजील में एक नवजात शिशु के रूप में छोड़ा गया मोरेस एक अनाथालय में पला-बढ़ा। लेकिन एक दयालु आत्मा ने उसे गोद लेकर मां के रूप में पाला। जिससे उसका जीवन हमेशा के लिए बदल गया। इससे उसे जीवन में सफल होने का मौका मिला। उसने अपनी दत्तकी मां को गौरवान्वित करने के लिए खुद को समर्पित कर दिया।

उसने सात साल की उम्र में अपना मार्शल आर्ट का सफर शुरू किया। उनकी मां ने उन्हें जूडो कक्षाओं में दाखिला दिलाने का फैसला किया। उन्होंने जल्द ही कैपीओइरा की ब्राजीलियाई कला को चुना। हालांकि वह बुरी संगत में पड़ गए। खुद काे बचाने का तरीका सीखने के लिए ब्राज़ीलियाई जिउ-जित्सु में शामिल होने का फैसला किया। बीजेजे ने मोरेस के अन्दर एक जुनून पैदा किया और वह एक प्राकृतिक प्रतिभा साबित हुई। उसने ब्लैक बेल्ट की रैंक अर्जित की और टूर्नामेंट में नाम रोशन किया। 2011 में मोरेस ने मिक्सड मार्शल आर्ट में अपने कौशल का परीक्षण करने का फैसला किया और दक्षिण अमेरिका में एक क्षेत्रीय चैम्पियनशिप पर कब्जा करने के लिए लगातार नौ-मुक्केबाजी जीत दर्ज की।

यह सफलता ONE चैम्पियनशिप में जारी रहेगी। जहां उन्होंने शुरुआती ONE फ्लाईवेट विश्व खिताब के बचाव के लिए पांच-जीत दर्ज की। उसने 2015 के अंत में कैरेट अक्हमेटोव में दिल तोड़ने वाले निर्णय के कारण बेल्ट को समर्पण कर दिया, लेकिन तख्त को फिर से हासिल करने के लिए जीत की एक श्रृंखला के साथ सही वापसी की। 2018 में प्रतिद्वंद्वी गीजे यूस्टाक्वियो से विश्व चैम्पियनशिप हारने के बावजूद मोरास ने हौसला नहीं खोया। एक रोमांचक टि्रलजी मुक्केबाज़ी में उन्होंने यूस्टाक्वियो के खिलाफ को दूसरी बार निर्विवादित ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड चैंपियन को हरा दिया।