विशेष कहानियाँ

ONE: A NEW BREED III में स्टार्स के लिए क्या-क्या दांव पर लगा होगा

ONE Championship अब ‘A NEW BREED’ का समापन धमाकेदार अंदाज में करने के लिए तैयार है।

इस शुक्रवार, 18 सितंबर को ONE: A NEW BREED III का प्रसारण होना है, जिसे पहले से ही रिकॉर्ड किया जा चुका है।

बाउट कार्ड में 6 मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स वर्ल्ड चैंपियंस, दुनिया के कुछ बेस्ट स्ट्राइकर्स भाग ले रहे हैं और 10 एथलीट्स के रिकॉर्ड को मिलाकर देखा जाए तो सभी एथलीट्स 1,000 से ज्यादा मैचों में जीत दर्ज कर चुके हैं।

इन बड़ी उपलब्धियों के बाद एक और बड़ी उपलब्धि उनका इंतज़ार कर रही है और उसे हासिल करने के लिए इस शुक्रवार उन्हें जीत दर्ज करनी होगी। यहां आप जान सकते हैं कि ONE: A NEW BREED III में स्टार्स के लिए क्या-क्या दांव पर लगा होगा।

पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी और मैग्नस एंडरसन

Petchmorakot Petchyindee Academy defends the ONE Featherweight World Title against Magnus Andersson at ONE: A NEW BREED III on 18 September

ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी खुद को इस खेल के फेदरवेट डिविजन के सबसे महान एथलीट्स में से एक बनाना चाहते हैं।

उबोन राचाथानी से आने वाले 26 वर्षीय एथलीट पोंगसिरी पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम को हराकर सबसे पहले ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन बने थे। उसके बाद जुलाई में थाई लैजेंड और #5-रैंक के कंटेंडर “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” योडसंकलाई IWE फेयरटेक्स के खिलाफ अपने टाइटल को सफलतापूर्वक डिफेंड किया।

कुछ लोगों का मानना था कि पेटमोराकोट को योडसंकलाई के खिलाफ मैच में हार मिली थी, लेकिन Petchyindee Academy के प्रतिनिधि इस शुक्रवार धमाकेदार अंदाज में जीत दर्ज कर अपने आलोचकों के मुंह पर ताला जड़ सकते हैं।

लेकिन इसके पीछे एक बड़ी वजह छुपी हुई है कि क्यों अगले मैच में उन्हें अभी तक के अपने सबसे कड़े प्रतिद्वंदी का सामना करना है।

Lion Fight वर्ल्ड चैंपियन मैग्नस “क्रेज़ी वाइकिंग” एंडरसन के पास चाहे इस डिविजन का चैंपियन बनने का अनुभव ना हो, लेकिन उनकी बॉक्सिंग स्किल्स और नॉकआउट पावर उन्हें अपने प्रतिद्वंदी के खिलाफ जीत दिला सकती है और इसके अलावा वो पेटमोराकोट से 4 सेंटीमीटर लंबे भी हैं। यही सब चीजें उन्हें थाई सुपरस्टार का अभी तक का सबसे कठिन प्रतिद्वंदी साबित करती हैं।

स्वीडन के स्टार एथलीट अपने थाई प्रतिद्वंदी को फिनिश करने के लिए बेताब हैं और वो ये भी कह चुके हैं कि पेटमोराकोट को हराना उनके करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि होगी

दूसरी ओर Petchyindee Academy के स्टार का सपना है कि वो खुद को मॉय थाई लैजेंड एथलीट्स में से एक साबित करें। फिलहाल, उनका रिकॉर्ड 161-35-2 (1 नो कॉन्टेस्ट) का है और एंडरसन के खिलाफ जीत हासिल कर वो अपने सपने को पूरा करने के एक कदम और करीब पहुंच सकते हैं।

कैपिटन पेटयिंडी एकेडमी और पेटटानोंग पेटफर्गस

Capitan Petchyindee Academy fights Petchtanong Petchfergus at ONE: A NEW BREED III

‘A NEW BREED’ सीरीज के सबसे दिलचस्प मैचों में से एक में 2 वर्ल्ड चैंपियंस आमने-सामने आने वाले हैं, उन्हें दुनिया के सबसे बेहतरीन बेंटमवेट स्ट्राइर्स में शामिल किया जाता है।

पेटटानोंग पेटफर्गस 6 बार के मॉय थाई और किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन रहे हैं और उनका शानदार रिकॉर्ड 356-55-1 का हो चुका है। उन्हें दुनिया के सबसे बेहतरीन बेंटमवेट किकबॉक्सर्स में से एक माना जाता है।

इस शुक्रवार वो अपना प्रोमोशनल डेब्यू कर रहे कैपिटन पेटयिंडी एकेडमी के खिलाफ अपना ONE डेब्यू करने वाले हैं, जिन्हें इस मैच से पहले काफी शानदार मोमेंटम प्राप्त है।

3 बार के मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन कैपिटन का रिकॉर्ड 140-40 का है और इस मुकाबले से पूर्व लगातार 9 मैचों में जीत दर्ज कर चुके हैं।

अपने प्रोमोशनल डेब्यू में दोनों ही एथलीट्स बेहतरीन प्रदर्शन कर सभी को प्रभावित करना चाहेंगे। साथ ही इस मैच के विजेता को बेंटमवेट किकबॉक्सिंग डिविजन की एथलीट रैंकिंग्स के टॉप 5 स्थानों में जगह मिल सकती है।



सुनीसा श्रीसेन और रिका इशिगे

Sunisa Srisen fights Rika Ishige at ONE: A NEW BREED III

दोनों थाई एटमवेट मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट्स का ONE Championship का सफर अभी तक मुश्किलों भरा रहा है।

रिका “टाइनी डॉल” इशिगे लगातार 2 मैचों में हार झेल चुकी हैं। पहले उन्हें फरवरी 2019 में कुन खमेर वर्ल्ड चैंपियन नोउ श्रे पोव के खिलाफ सर्वसम्मत निर्णय और अक्टूबर में अपराजित जापानी एथलीट इत्सुकी “स्ट्रॉन्ग हार्ट फाइटर” हिराटा के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था।

दूसरी ओर, जुलाई में पूर्व 2-स्पोर्ट ONE वर्ल्ड चैंपियन स्टैम्प फेयरटेक्स के खिलाफ हार झेलने से पहले सुनीसा “थंडरस्टॉर्म” श्रीसेन को अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर में कोई हार नहीं मिली थी।

दोनों एथलीट्स जीत की लय में वापसी करने को बेताब हैं, जिससे वो ONE एथलीट रैंकिंग्स में प्रवेश कर सकें।

इशिगे को अगर इस मैच में भी जीत नसीब नहीं हुई तो उनके लिए ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप के एक कदम करीब पहुंचने की संभावनाएं और भी कम हो जाएंगी। वहीं, श्रीसेन डेब्यू मैच में खराब प्रदर्शन के बाद ना केवल जीत की लय में वापसी करना चाहेंगी बल्कि खुद को एक बेहतर एथलीट के रूप में भी प्रदर्शित करना चाहेंगी।

योडपनोमरूंग जित्मुआंगनोन और फिलिपे लोबो

Yodpanomrung Jitmuangnon fights Felipe Lobo at ONE: A NEW BREED III

6 बार के मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन “द लाइटनिंग नी” योडपनोमरूंग जित्मुआंगनोन को ONE में कोई खास सफलता नहीं मिल पाई है। लेकिन मई 2019 में टायलर हार्डकैसल के खिलाफ नॉकआउट जीत हासिल करने के बाद ऐसा प्रतीत होने लगा था कि अब उनका करियर रफ़्तार पकड़ने वाला है।

योडपनोमरूंग का प्रोफेशनल रिकॉर्ड 232-69-2 का है और 4-औंस के मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स ग्लव्स पहनकर मैचों में भाग लेना उन्हें काफी पसंद है। 4-औंस के ग्लव्स के कारण ही ONE Super Series मॉय थाई को दुनियाभर में पहचान मिल सकी है।

अब थाई एथलीट ग्लोबल स्टेज पर Jitmuangnon Gym के अगले बड़े सुपरस्टार बनने को बेताब हैं और इस शुक्रवार अच्छे प्रदर्शन से वो ONE बेंटमवेट मॉय थाई रैंकिंग्स में जगह बना सकते हैं।

लेकिन ऐसा करने के लिए उन्हें ब्राजीलियाई स्ट्राइकर फिलिपे “डिमोलिशन मैन” लोबो की चुनौती से पार पाना होगा। फिलिपे, जो अपनी हमवतन एथलीट ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन एलिसिया हेलन रोड्रीगेज़ की तरह सफलता प्राप्त करना चाहते हैं।

लोबो का प्रोफेशनल रिकॉर्ड 19-4 का है, लेकिन Revolution Muay Thai Phuket टीम के मेंबर अपने डेब्यू मैच में ही बेंटमवेट डिविजन पर अपनी छाप छोड़ना चाहेंगे। वो मॉय थाई लैजेंड को हराकर इस शुक्रवार ऐसा कर सकते हैं।

बांगप्लीनोई पेटयिंडी एकेडमी और यूरिक डवट्यान

Bangpleenoi Petchyindee Academy fights Yurik Davtyan at ONE: A NEW BREED III

इवेंट का शुरुआती मुकाबला मेन इवेंट मैच से काफी मेल खाता है क्योंकि इसमें पेटमोराकोट के टीम मेंबर बांगप्लीनोई पेटयिंडी एकेडमी और एंडरसन के टीम मेंबर यूरिक डवट्यान ONE Super Series मॉय थाई फेदरवेट कॉन्टेस्ट में आमने-सामने आने वाले हैं।

बांगप्लीनोई 2-डिविजन के WMC मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन रहे हैं और उनका प्रोफेशनल रिकॉर्ड 122-50-10 का है और प्रोमोशनल करियर की बात करें तो उन्हें अपने दोनों मैचों में जीत हासिल हुई है।

थाई स्टार ONE Super Series में जीत की हैट्रिक बनाने को बेताब होंगे और ऐसा करने के लिए उन्हें ग्लोबल स्टेज पर अपना डेब्यू कर रहे एक तगड़े एथलीट की चुनौती से पार पाना होगा।

डवट्यान 3 बार के यूरोपीयन मॉय थाई चैंपियन रहे हैं और उनके हाथों में गज़ब की ताकत है। उनका रिकॉर्ड चाहे अपने प्रतिद्वंदी जितना शानदार ना हो लेकिन वो एक ही स्ट्राइक के प्रभाव से किसी भी क्षण मैच को समाप्त कर सकते हैं और बांगप्लीनोई भी इससे अच्छी तरह वाकिफ हैं।

इस मैच में जिसे भी जीत मिलेगी वो जरूर मेन इवेंट में अपने टीम मेंबर का मनोबल बढ़ाने का काम करेगा।

ये भी पढ़ें: इन 5 कारणों से आपको ONE: A NEW BREED III को मिस नहीं करना चाहिए