न्यूज़

यूरी लापिकुस को जल्दी हरा देने का क्रिश्चियन ली को भरोसा

अगली बार जब ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन क्रिश्चियन “द वॉरियर” ली सर्कल में कदम रखेंगे तो वो अपने टाइटल का बचाव डिविजन के टॉप रैंक वाले दावेदार यूरी लापिकुस से करेंगे।

अभी तक लापिकुस अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर में अपराजित रहे हैं।

मोल्दोवा के 24 साल के Team Petrosyan के प्रतिनिधि का प्रोफेशनल रिकॉर्ड 14-0 है। उन्होंने हर उस एथलीट को हराया है, जो उनके सामने आया है।

मई 2019 में उन्होंने थाई मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के बेहतरीन एथलीट शेनन “वनशिन” विराचाई को अपने प्रोमोशनल डेब्यू में हरा दिया था। उन्होंने “वनशिन” पर रीयर-नेकेड चोक लगाकर तीसरे राउंड में टैपआउट करने लिए मजबूर किया था।

इसके बाद उन्होंने पूर्व ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन मरात “कोबरा” गफूरोव को फरवरी में 67 सेकंड के चौंका देने वाले मैच में सबमिट करा दिया था।



ली ने मोल्दोवा के इस एथलीट के प्रभावशाली प्रदर्शन और लाइटवेट रैंक्स के उछाल पर करीब से ध्यान दिया है। उनका मानना है कि उनके तेजी से बढ़ते कदमों से सिर्फ विरोधी की हिम्मत में इजाफा होगा।

21 साल के Evolve और United MMA के एथलीट ने बताया, “यूरी लापिकुस के बारे में मेरे शुरुआती विचार हैं कि वो खतरनाक युवा प्रतिद्वंदी हैं। अपने प्रोफेशनल करियर में वो अपराजित हैं। मुझे पता है कि गफूरोव के खिलाफ उन्होंने बेहतरीन सबमिशन से जीत हासिल की थी।”

“उनका आत्मविश्वास इस समय काफी बढ़ा हुआ है। मुझे लगता है कि इस समय उन्हें अपने करियर में सबसे अच्छी फीलिंग आ रही होगी, जो पहले कभी महसूस नहीं हुई होगी। इस वजह से मुझे लगता है कि वो रिंग में मेरे सामने होंगे, तो अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन करेंगे।”

हालांकि, लापिकुस अकेले ऐसे एथलीट नहीं होंगे, जो खुद में आत्मविश्वास महसूस कर रहे होंगे क्योंकि साल 2019 “द वॉरियर” के लिए भी बेहतरीन रहा था

The first sibling World Champions in mixed martial arts history, Angela and Christian Lee

जनवरी 2019 में उन्होंने फेदरवेट डिविजन में मुकाबला किया और अपनी पहले की डिस्क्वालीफाई हार का बदला उन्होंने एडवर्ड “द फेरोसियस” केली को पहले राउंड में तकनीकी नॉकआउट से जल्दी हराकर दिया।

चार महीने बाद वो भार वर्ग में ऊपर की ओर बढ़े और Evolve में अपने टीममेट और उस समय के ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन शिन्या “टोबीकन जुडन” एओकी को बेल्ट के लिए चैलेंज किया। हालांकि, जापानी लैजेंड ने “द वॉरियर” को मैच के शुरुआत में ही डीप आर्मबार में फंसा लिया लेकिन ली ने खुद को इससे बचा लिया और उन्हें दूसरे राउंड में नॉकआउट करते हुए गोल्ड पर कब्जा जमा लिया।

इस एशियाई-अमेरिकी एथलीट ने साल का अंत अक्टूबर में वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप के दौरान ONE लाइटवेट में दाखिल होकर किया। इस दौरान उन्होंने सायिद हुसैन “दागी” अर्सलानअलीएव को सर्वसम्मत निर्णय के जरिए हराकर टूर्नामेंट के ताज पर कब्जा जमाया।

हालांकि, ली हमेशा ही अपनी वर्ल्ड क्लास स्किल्स को निखारने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं लेकिन वो चैंपियनशिप जीत का श्रेय अपने स्वभाव और मानसिकता को देते हैं।

उन्होंने बताया, “जब मैं फेदरवेट में मैच कर रहा था, तभी मुझे लग गया था कि मैं ही चैंपियन हूं। मैं जब लाइटवेट में गया था, तब भी लग गया था कि मैं ही चैंपियन हूं।”

“लेकिन ये एक माइंडसेट है, जो मेरी ट्रेनिंग और मैच के दौरान भी साथ रहता है। मेरा माइंडसेट हमेशा एक जैसा रहता है। ऐसे में मैंने सिर्फ अपनी कड़ी मेहनत और ट्रेनिंग का फल पिछली दो फाइट में चखा है।”

Christian Lee takes down Saygid Guseyn Arslanaliev

लापिकुस वो पहले एथलीट हो सकते हैं, जो उन्हें शीर्ष से हटाने वाले बन सकते हैं। उनके पास स्ट्राइकिंग की क्षमता और ग्रैपलिंग का कौशल है, जो उन्हें ऐसा करने में मदद कर सकता है।

हालांकि, ली का मनना है कि उनकी सहनशक्ति, मार्शल आर्ट्स में प्रदर्शनों की सूची और वर्ल्ड टाइटल बाउट्स में उनका अनुभव आने वाले मैच में काफी बड़ा अंतर पैदा कर सकता है।

ली ने स्वीकारा, “मुझे लगता है कि वो जी-जान लगाकर ट्रेनिंग कर रहे हैं। वो अपना स्तर बढ़ाने के इच्छुक हैं। मुझे लगता है कि मैं हर क्षेत्र में उन पर भारी पड़ूंगा। मैं चैंपियनशिप राउंड से गुजरा हूं और मुझे नहीं लगता कि वो वहां पांच राउंड मेरे साथ टिक पाएंगे।”

“उनकी ज्यादातर जीत व मैच पहले ही राउंड में खत्म हुए हैं इसलिए मुझे लगता है कि वो कुछ मामलों में अब भी कच्चे हैं। वो अपने विरोधियों को जल्दी हराने की कोशिश करते हैं और यही चाल उन्हें मात दे सकती है। मैं सच में उनके लिए आज के दिन तक का सबसे मुश्किल इम्तिहान और तगड़ा विरोधी साबित होने वाला हूं।

“मैं सौभाग्यशाली हूं कि मुझे कई सारे जूडो प्रैक्टिशनर्स और किकबॉक्सर्स के साथ ट्रेनिंग करने का मौका मिला है। मुझे लगता है कि वो इन दोनों क्षेत्रों में बहुत बढ़िया हैं लेकिन मैं इसके लिए तैयार हूं।”

Singaporean-American Christian Lee goes for the cross

हालांकि, “द वॉरियर” को लगता है कि उनके पास अपने विरोधी पर चैंपियनशिप राउंड के अनुभव के तौर पर एडवांटेज है। ऐसे में उन्हें नहीं लगता कि उनके विरोधी के पास इससे निपटने का कोई मौका है।

लाइटवेट किंग ने ऐसी ट्रेनिंग की है, जिससे वो अपने विरोधी को जितना हो सके जल्दी नॉकआउट कर सकते हैं।

ली ने बताया, “मुझे अक्सर ये चीजें कहना पसंद नहीं है क्योंकि मुझे चीजें जाने देना अच्छा नहीं लगता लेकिन ये पहले राउंड में फिनिश होने वाला मैच रहेगा।”

ये भी पढ़ें: क्रिश्चियन ली ने अपनी शादी की यादगार चीजों के बारे में बताया