Mixed Martial Arts

कैसे क्रिश्चियन ली ने खुद को साल 2019 का “द वॉरियर” साबित किया

Dec 22, 2019

ONE Championship रोस्टर में फिलहाल शायद ही क्रिश्चियन ली “द वॉरियर” के अलावा कोई दूसरा एथलीट हो, जिसके लिए साल 2019 काफी दिलचस्प घटनाओं से भरा रहा है।

साल की शुरुआत में सिंगापुर के 21 वर्षीय एथलीट फेदरवेट डिविजन के टॉप स्टार्स में शामिल होने का प्रयास कर रहे थे, जिससे उन्हें मौजूदा चैंपियन मार्टिन गुयेन “द सीटू एशियन” के साथ मैच मिल सकता था। लेकिन अप्रैल में उन्होंने अपने प्लांस में बदलाव किया था।

ली जिन्होंने 2019 की शुरुआत में आयोजित हुए ONE: ETERNAL GLORY में एडवर्ड केली “द फेरोसियस” पर पहले राउंड में तकनीकी नॉकआउट से जीत दर्ज की थी। ONE: A NEW ERA में टाइटल जीतने के बाद ली के ट्रेनिंग पार्टनर शिन्या एओकी “टोबीकन जुडन” ने उन्हें चैलेंज कर दिया।

Christian Lee STOPS Shinya Aoki in the second round to win the ONE Lightweight World Title! ????

Christian Lee STOPS Shinya Aoki in the second round to win the ONE Lightweight World Title! ????TV: Check local listings for global broadcast

Posted by ONE Championship on Friday, 17 May 2019

“द वॉरियर” ने इस चैलेंज को स्वीकार किया और अपने भार वर्ग में बदलाव किया था। मई में आयोजित हुए ONE: ENTER THE DRAGON के मेन इवेंट में इनका आमना-सामना हुआ। हालांकि, पहले राउंड में उन्हें एओकी के आर्मबार का शिकार होना पड़ा लेकिन किसी तरह वो इस सबमिशन मूव से बाहर निकलने में सफल रहे। दूसरे राउंड में ली ने जबरदस्त वापसी करते हुए वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया था।

उसके बाद अक्टूबर में उन्होंने ONE: CENTURY PART I में हुए ONE लाइटवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप फाइनल मुकाबले में एडी अल्वारेज़ “द अंडरग्राउंड किंग” की जगह लेते हुए सायिद हुसैन अर्सलानअलीएव का सामना किया। तीनों राउंड में क्रिश्चियन ने अपने प्रतिद्वंदी पर वर्चस्व कायम रखा और सिल्वर बेल्ट अपने नाम की थी।

अब जब साल 2019 लगभग समाप्त हो चुका है तो “द वॉरियर” ने बताया कि किस तरह फेदरवेट डिविजन से लाइटवेट डिविजन में जाकर उन्होंने वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया था।

???? LIGHTWEIGHT KING ????

???? LIGHTWEIGHT KING ????ONE Lightweight World Champion Christian Lee overcomes "Dagi" Arslanaliev in a three-round thriller to win the inaugural ONE Lightweight World Grand Prix!????: Check local listings for global broadcast details????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp????: Shop Official Merchandise ???? http://bit.ly/ONECShop

Posted by ONE Championship on Saturday, 12 October 2019

ONE Championship: आपने साल 2019 की शुरुआत फेदरवेट डिविजन में की थी लेकिन अंत ONE लाइटवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप जीतकर किया है। क्या साल की शुरुआत में आपने ऐसे कोई प्लान तैयार किए थे?

क्रिश्चियन ली: ये मेरे लिए रोचक सफर रहा है। पिछले साल भी इसी समय मैंने इंटरव्यू में कहा था कि अगर मौका मिला तो मैं जरूर ग्रां प्री पर निशाना साधने वाला हूँ।

कुछ ही महीने बाद मई में मुझे मौका मिला और मैं ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन बना। फिर अक्टूबर में मुझे ग्रां प्री फाइनल्स में भी लड़ने का मौका मिला और वहां भी मैंने बेल्ट अपने नाम की।

जाहिर है कि ये साल मेरे लिए अच्छा गुजरा है, इस बीच जरूर कुछ चीजें इधर से उधर हुईं लेकिन साल के अंत में जहाँ हूँ, उससे मुझे काफी ख़ुशी हो रही है।

ONE: साल की शुरुआत को याद करें तो आपको एडवर्ड केली पर जीत मिली थी, जिन्होंने इससे पहले आपको डिसक्वालीफिकेशन के जरिए हराया था। उस हार का बदला लेने के बाद कैसा महसूस हुआ?

क्रिश्चियन: वो मैच मेरे लिए सबकुछ था क्योंकि उस समय मैं साल 2018 से बाहर आने की कोशिश कर रहा था, 2018 का मेरा रिकॉर्ड 2-2 का था इसलिए हार हाल में साल 2019 की शुरुआत मुझे बेहतर ढंग से करनी थी। उस डिसक्वालीफिकेशन के दौर को पीछे छोड़ते हुए मुझे खुद को एक बेहतर एथलीट के रूप में साबित करना था।

तकनीकी नॉकआउट (TKO) से मिली जीत से मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं पिछले मुकाबले को पीछे छोड़ चुका हूँ। यहाँ मुझे खुद को केवल एक बेहतर एथलीट साबित करना था।

Christian Lee knocks out Shinya Aoki to become the ONE Lightweight World Champion

ONE: साल का दूसरा मुकाबला आपने शिन्या एओकी के साथ लड़ा, जिन्होंने चौंकाते हुए आपको चैलेंज किया था। इस चैलेंज के बारे में सुनकर आपकी भावनात्मक प्रतिक्रिया क्या रही?

क्रिश्चियन: जब उन्होंने ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप जीती, उस समय मैं टोक्यो में था। मैंने उन्हें मैच से पहले भी अच्छा करने के लिए और मैच के बाद भी शुभकामनाएं दी।

उसके बाद ONE Elite Retreat के लिए फुकेत में था, तभी मैंने फोन निकाला और आर्टिकल देखा तो मैं चौंक उठा था। शिन्या शायद पहले ही तय कर चुके थे कि बेल्ट जीतने के बाद उन्हें किसे चैलेंज करना है। सबसे चौंकाने वाली बात तो ये रही कि मैं उनके डिविजन का हिस्सा भी नहीं था।

ये स्थिति ऐसी थी कि वो मुझे खुलेआम ललकार रहे हैं, मुझे खुशी है कि उन्होंने खुद की स्किल्स को टेस्ट करने के लिए मेरे जैसे एथलीट का चुनाव किया और मुझे चैंपियन बनने का मौका दिया।

ONE: क्या उस मैच से पहले आपको डर लग रहा था क्योंकि आप दोनों साथ में ट्रेनिंग लेते आए हैं?

क्रिश्चियन: सच्चाई ये है कि जब आप किसी के साथ ट्रेनिंग कर रहे हैं तो आपको खुद-ब-खुद सामने वाले के स्किल सेट, मूव सेट और कमजोरी का पता चल ही जाता है। जब मैंने पहली बार उनके साथ ट्रेनिंग की थी, तब मैं 17 साल का था और कुछ समय पहले ही इवॉल्व टीम को जॉइन किया था। उस समय हर बार शिन्या मुझपर भारी पड़ते थे।

जैसे-जैसे साल गुजरे हमारे बीच प्रतिद्वंदिता का स्तर 50-50 हो चुका था। हमने 2 साल तक एक-दूसरे के साथ ट्रेनिंग नहीं की थी।

आखिरकार जब सर्कल में हमारा आमना-सामना हुआ तो सभी चीजें नई लगने लगी थीं। ट्रेनिंग रूम में जरूर हमारी मुलाकात होती रही लेकिन वो 2 साल पहले की बात थीं और आखिर में ट्रेनिंग, ट्रेनिंग होती है असली मैच नहीं।

जब आप अपने ही पार्टनर के साथ सर्कल में आते हैं तो दोस्ती को दूर ही रखना होता है। ट्रेनिंग रूम में चाहे ट्रेनिंग पार्टनर से आपको रोज हार मिल रही हो लेकिन सर्कल में सभी चीजें बदल जाती हैं और उसी पार्टनर को आप हरा भी सकते हैं।

ONE Lightweight World Champion Christian Lee grounds and pounds Saygid Guseyn Arslanaliev

ONE: पहले राउंड में आप शिन्या के सबमिशन से बचने में सफल रहे लेकिन दूसरे राउंड में चुनौतियों से पार पाते हुए आपने उन्हें नॉकआउट किया। क्या मुकाबले से पहले आपको जीत का अंदाजा था?

क्रिश्चियन: दूसरे राउंड में शिन्या के साथ जो मैंने किया, मैच में उसी रणनीति के साथ उतरा था लेकिन फर्क ये रहा कि दूसरे के बजाय पहले राउंड में ही जीत दर्ज करना चाहता था। यह अच्छी बात रही कि मुझे उनका सामना करने का मौका मिला, एक ऐसा भी समय आया जब वो लगभग मेरा हाथ तोड़ने की स्थिति में पहुंच चुके थे।

मैच काफी मुश्किलों भरा रहा लेकिन जिस तरह की जीत मुझे मिली उसने मेरी खुशी को दोगुना कर दिया था।

ONE: आपने इसके बाद ONE लाइटवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप फाइनल के लिए सायिद हुसैन अर्सलानअलीएव की चुनौती को भी स्वीकार किया, जो इस डिविजन के सबसे बेहतरीन एथलीट्स में से एक हैं उस मुकाबले से पहले कैसा महसूस कर रहे थे?

क्रिश्चियन: इस मुकाबले में चैंपियन के रूप में रिंग में उतर रहा था और सायिद कंटेंडर के रूप में, इसके बावजूद मैं खुद को अंडरडॉग महसूस कर रहा था। इसी चीज ने मुझे बेहतर करने का प्रोत्साहन दिया कि मैं क्यों इस डिविजन का बेस्ट एथलीट हूँ। मैं चैंपियन हूँ, मैं लाइटवेट डिविजन का बेस्ट एथलीट हूँ।

मैं तीनों राउंड्स में बेहतर एथलीट साबित हुआ और इसके साथ ही खुद को लाइटवेट डिविजन का चैंपियन और बेस्ट एथलीट भी साबित कर चुका था। मुझे अंदाजा था कि सायिद आसानी से हार मानने वालों में से नहीं हैं इसलिए मुझे अपना बेस्ट देना होगा।

इस बात में कोई संदेह नहीं है कि वो एक अच्छे एथलीट हैं और उन्होंने मुझे बेहतर से भी बेहतर करने के लिए पुश किया था और इस फाइट ने हम दोनों को ही अच्छा एथलीट साबित किया है।

Angela Lee and Christian Lee with their ONE Championship belts at ONE: CENTURY

ONE: आप 13 साल की उम्र से ही मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स वर्ल्ड चैंपियन बनना चाहते थे। अब 9 साल बाद यह सपना पूरा हो चुका है तो कैसा महसूस हो रहा है?

क्रिश्चियन: ये सफर मेरे लिए दिलचस्प घटनाओं से होकर गुजरा है। पिछले साल फेदरवेट डिविजन में वर्ल्ड टाइटल शॉट का इंतज़ार कर रहा था लेकिन मुझे पता ही नहीं चला कि ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन बनने का मौका मुझे कैसे मिला।

मैं इस मौके को भुनाने में सफल रहा और मुझे 10 दिन के नोटिस पर दूसरी बेल्ट जीतने का मौका मिला और उसे भी मैंने जीता। मुझे अंदाजा नहीं है कि 2020 में क्या चीजें मेरा इंतज़ार कर रही हैं क्योंकि मैंने कभी नहीं सोचा था कि 2019 मेरे लिए इतना सफल साबित होगा।

ये भी पढ़ें: साल 2020 के लिए क्या हैं बिबियानो फर्नांडीस के प्लान?

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में दोपहर 3:30 बजे से देखें