मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

ONE: KING OF THE JUNGLE लीड कार्ड – 5 सवाल जिनके जवाब मिलेंगे

एक तरफ ONE: KING OF THE JUNGLE का मेन कार्ड धमाकेदार मैचों से भरा हुआ है, वहीं लीड कार्ड में भी ऐसे कई मैच हैं जिनमें फैंस को जबरदस्त एक्शन देखने को मिलने वाला है।

इस शुक्रवार, 28 फरवरी को सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में 12 टैलेंटेड एथलीट्स के बीच जबरदस्त एक्शन देखने को मिलेगा और इन मुकाबलों के परिणाम साल 2020 में उनके डिविजन पर गहरा प्रभाव डाल सकते हैं।

#1 क्या डेनिस ज़ाम्बोआंगा वर्ल्ड टाइटल शॉट हासिल कर पाएंगी?

इस शुक्रवार अगर डेनिस ज़ाम्बोआंगा को जीत मिलती है तो इस बात को नकारना बेहद मुश्किल होगा कि उन्होंने “अनस्टॉपेबल” एंजेला ली के खिलाफ ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड टाइटल शॉट हासिल कर लिया है।

अपने ONE डेब्यू मुकाबले में ज़ाम्बोआंगा ने मार्शल आर्ट्स की सबसे टैलेंटेड एथलीट्स में से एक जिहिन राडज़ुआन को उन्हीं के घरेलू फैंस के सामने सर्वसम्मत निर्णय से हराया था।

सिंगापुर में उनका सामना मेई यामागुची से होने वाला है, जिनके पास इस स्पोर्ट में अन्य एथलीट्स से कहीं अधिक अनुभव है। वो DEEP Jewels फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन हैं और 2 बार एंजेला ली को 5 राउंड तक के मुकाबले के लिए पुश कर चुकी हैं।

यामागुची फिलहाल 4 मैचों की विनिंग स्ट्रीक पर चल रही हैं और तीसरे वर्ल्ड टाइटल शॉट की ओर मजबूती से कदम आगे बढ़ा रही हैं। इस तरह का प्रदर्शन उन्हें डिविजन में सबसे ज्यादा फॉर्म में रहने वाली एथलीट साबित करने के लिए काफी है।

ज़ाम्बोआंगा के सामने उनके करियर का सबसे बड़ा चैलेंज मौजूद है लेकिन खास बात ये है कि इस मैच को जीतकर वो वर्ल्ड टाइटल शॉट हासिल कर सकती हैं।

#2 क्या एबेलार्डो, वर्थेन की रेसलिंग स्किल्स से बच पाएंगे?

“प्रीटी बॉय” ट्रॉय वर्थेन के ग्लोबल स्टेज पर पहले 2 मुकाबले करीब-करीब एक ही तरीके से समाप्त हुए हैं। NCWA रेसलिंग चैंपियन ने चेन रुई और चेन लेई को मैट पर लाने के लिए अपनी ताकत और ग्रैपलिंग स्किल्स का इस्तेमाल किया था और अपने प्रतिद्वंदी को मैट पर लाते ही उन्होंने पंच बरसाने शुरू कर दिए।

वहीं अपराजित अमेरिकी स्टार का ये भी कहना है कि कोई उनकी स्ट्राइकिंग को कम आंकने की भूल ना करे। इसके साथ उन्होंने माना है कि ये स्ट्राइकिंग और ग्रैपलिंग की टक्कर होने वाली है लेकिन इस तरह के मुकाबले अक्सर उन्हें फायदा पहुंचाते आए हैं।

उन्होंने ये भी माना कि उनके प्रतिद्वंदी मार्क “टायसन” फेयरटेक्स एबेलार्डो बैक पर ज्यादा खतरनाक साबित हो सकते हैं लेकिन कीवी एथलीट स्टैंड-अप गेम में या टॉप पोजिशन में सबसे अधिक खतरनाक साबित होंगे। अगर एबेलार्डो को अपने करियर में बारहवीं नॉकआउट जीत दर्ज करनी है तो उन्हें वर्थेन के टेकडाउन के प्रयासों से बचकर रहना होगा।

#3 फेदरवेट डिविजन में वापसी पर किसे मिलेगी सफलता?

होनोरियो “द रॉक” बानारियो और शेनन “वनशिन” विराचाई, दोनों ने ही लाइटवेट डिविजन में कुछ शानदार जीत दर्ज करने में सफलता पाई है लेकिन अब दोनों ने ही एक फेदरवेट डिविजन में वापसी करने का फैसला लिया है, यहाँ ये सबसे ज्यादा सफल साबित हुए हैं।

Team Lakay के स्टार बानारियो का कहना है कि इस डिविजन में वो हर मुकाबले को स्टॉपेज से जीतकर ही पहले ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन बने थे। वहीं उनके थाई प्रतिद्वंदी ने केवल एक मुकाबले को छोड़कर सभी में नॉकआउट या सबमिशन से जीता है।

इनका इतिहास बताता है कि सिंगापुर में जीत किसी को भी मिले, वो धमाकेदार ही साबित होगी और यही चीज इन्हें फेदरवेट रैंक्स में एक बार फिर टॉप पर पहुंचाने में मदद कर सकती है।

#4 ऋतु फोगाट से क्या उम्मीद की जानी चाहिए?

अधिकतर मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स फैंस को अंदाजा था कि ग्लोबल स्टेज पर पहले मैच में ऋतु “द इंडियन टाइग्रेस” फोगाट से क्या उम्मीद की जानी चाहिए।

रेसलिंग सेंसेशन ने स्ट्राइकिंग स्पेशलिस्ट को टेकडाउन कर पहले ही मुकाबले को फिनिश कर सुर्खियाँ बटोरी थीं। 25 वर्षीय स्टार ने नाम ही किम पर लगातार स्ट्राइक्स कर तकनीकी नॉकआउट (TKO) से जीत दर्ज की थी।

अब सिंगापुर में Evolve टीम में 3 महीने की ट्रेनिंग और एलीट लेवल के एथलीट्स के सपोर्ट से अंदाजा लगाया जा सकता है कि संभव ही उनकी मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स स्किल्स अलग लेवल पर पहुंच गई होंगी। इन्हीं स्किल्स की उन्हें “मिस रेड” वू चाओ चेन के खिलाफ जरूरत पड़ने वाली है, जिन्हें ब्राजीलियन जिउ-जित्सु, एमेच्योर और प्रोफेशनल मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में अच्छा खासा अनुभव प्राप्त है।

फोगाट का कहना है कि उनका ध्यान फिलहाल स्ट्राइकिंग पर ज्यादा है और वो नॉकआउट फिनिश करना चाहती हैं, तो क्या हमें चीन की अनुभवी स्टार और भारतीय स्टार के बीच कांटेदार टक्कर देखने को मिलने वाली है?

#5 क्या वेल्टरवेट डिविजन को एक नया स्टार मिलेगा?

28 फरवरी को ONE के वेल्टरवेट डिविजन को 2 नए चेहरे मिलने वाले हैं क्योंकि “वुल्वरिन” बे म्यूंग हो और मुराद रामज़ानोव पहली बार सर्कल में उतरने वाले हैं।

म्यूंग हो पूर्व AFC वेल्टरवेट चैंपियन रह चुके हैं। वो साल 2010 और 2018 के बीच चली 9 मैचों की अनडिफेटेड स्ट्रीक के कारण दक्षिण कोरिया के मार्शल आर्ट्स स्टार बनने में सफल रहे थे। प्रोफेशनल करियर में 17 में से उन्हें 8 में स्टॉपेज से जीत मिली है।

उनके प्रतिद्वंदी दागिस्तान, रूस से ONE में अपना परचम लहराने के लिए प्रतिबद्ध हैं। WMMAA वर्ल्ड चैंपियन 8-0 के रिकॉर्ड के साथ अभी तक अपने प्रोफेशनल करियर में अपराजेय रहे हैं और 2 मुकाबलों को छोड़कर उन्होंने सभी में नॉकआउट या सबमिशन से जीत दर्ज की है।

अपने ONE डेब्यू में जीत किसी को भी मिले लेकिन ये एक जीत उन्हें इस डिविजन में ऊंचा दर्जा दिला सकती है, जिसके चैंपियन फिलहाल कियामरियन अबासोव हैं।

ये भी पढ़ें: ONE: KING OF THE JUNGLE मेन कार्ड- 5 सवाल जिनका जवाब मिलेगा