विशेष कहानियाँ

ONE: KING OF THE JUNGLE मेन कार्ड – 5 सवाल जिनका जवाब मिलेगा

शुक्रवार, 28 फरवरी को सिंगापुर में होने वाले ONE: KING OF THE JUNGLE का हर एक मैच कई दिलचस्प चीजें अपने साथ लेकर आ रहा है।

“द लॉयन सिटी” में होने वाले इस इवेंट से पहले ऐसे कई सवाल लोगों के मन में उमड़ रहे हैं और इस आर्टिकल में आप देख सकते हैं कि उनका जवाब क्या हो सकता है।

#1 परिणाम पहले जैसा होगा या टॉड बदला लेंगी?

पिछले साल फरवरी में स्टैम्प फेयरटेक्स के साथ अपने आखिरी मैच के बाद जेनेट “JT” टॉड ने दिखा दिया था कि अगर उन्हें 2-स्पोर्ट ONE वर्ल्ड चैंपियन के खिलाफ रीमैच मिला तो वो जरूर इस बार नतीजे को अपने पक्ष में ला सकती हैं।

जापानी-अमेरिकी एथलीट पहले से बेहतर नजर आ रही हैं, जीत की भूखी हैं और फरवरी के बाद तीनों मुकाबलों में वो पहले से भी अधिक खतरनाक दिखाई दी हैं। इसी प्रदर्शन के सहारे उन्हें बदला लेना का मौका मिला है।

हालांकि, चैंपियन को हराना अपने आप में एक अलग और बड़ी चुनौती है। स्टैम्प ने उसके बाद ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया और उसे एक बार डिफेंड भी किया है। जबकि वो अल्मा जुनिकु के खिलाफ मुकाबले में अपना बेस्ट प्रदर्शन करने में नाकाम रही थीं लेकिन 5 राउंड के जबरदस्त एक्शन के बाद उन्होंने मुकाबला अपने नाम किया था।

जब भी स्टैम्प के सामने कोई कड़ी चुनौती आई है तो उन्हें जबरदस्त वापसी करने में भी जैसे महारथ हासिल है। वो अभी काफी युवा हैं लेकिन उन्हें टॉड से ज्यादा अनुभव का भी लाभ मिलने वाला है। टॉड के पास ही वो दिल, ताकत और स्किल्स हैं जिनसे वो स्टैम्प को हराकर ONE एटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन बन सकती हैं।

#2 लैजेंड को जीत मिलेगी या होगा बड़ा उलटफेर?

को-मेन इवेंट में पहले ONE स्ट्रॉवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड टाइटल मैच में ऐसे 2 एथलीट आमने-सामने आ रहे हैं, जिनमें से एक का करियर अभी शुरुआती सालों में है तो दूसरे एथलीट अपने करियर के आखिरी कुछ सालों से गुजर रहे हैं।

सैम-ए गैयानघादाओ पिछले 25 सालों से एक के बाद एक रिकॉर्ड अपने नाम करते आए हैं। 368 मैच जीत चुके हैं और एक एथलीट जितने वर्ल्ड टाइटल जीतने का सपना देखता है वो उससे कहीं ज्यादा टाइटल अपने नाम कर चुके हैं, जिनमें 2 ONE Super Series टाइटल भी शामिल हैं। उनका सामना रॉकी ओग्डेन से होने वाला है जो अभी तक केवल एक ही बार वर्ल्ड चैंपियन बन पाए हैं और अभी वो केवल 20 साल के हैं और अगले एक दशक में उनका करियर नई ऊंचाइयों को छू सकता है।

कुछ फैंस का मानना है कि सैम-ए ने अपने करियर में हर तरीके के प्रतिद्वंदी का सामना किया है और उनकी स्किल्स और अनुभव उनके युवा प्रतिद्वंदी पर भारी पड़ने वाली हैं। वहीं ओग्डेन के फैंस कहेंगे कि उन्हें जीत की भूख है, किसी चुनौती से डरते नहीं हैं और उनके पास वो काबिलियत है कि वो बड़ा उलटफेर कर सकते हैं।

पिछले साल मई में जोनाथन “द जनरल” हैगर्टी ने थाई लैजेंड को हराकर जब ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया तो दुनिया भर के मार्शल आर्ट्स फैंस चौंक उठे थे। लेकिन हमें इंतज़ार करना होगा कि ऑस्ट्रेलियाई एथलीट उस तरह का प्रदर्शन करने में सक्षम हैं या नहीं।

#3 क्या खान एक बार पहले की तरह मैच को फिनिश कर पाएंगे?

ऐसा कोई एथलीट नहीं है जिसने ONE Championship में अमीर खान से ज्यादा नॉकआउट फिनिश किए हों और केवल ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन क्रिश्चियन “द वॉरियर” ली ग्लोबल स्टेज पर इससे ज्यादा फिनिश करने की क्षमता रखते हैं।

हालांकि, खान ने अपने पिछले मैच के बाद माना था कि वो अपनी शैली के मुताबिक उस मैच में प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। सिंगापुर के स्टार किसी तरह जीत की लय में वापस आने के लिए ज्यादा सावधानी बरतने की रणनीति अपनाए हुए थे।

अब जब वो अपना पिछला मुकाबला जीतकर यहाँ आ रहे हैं तो वो जरूर किमिहीरो एटो के खिलाफ उस तरह का प्रदर्शन करना चाहेंगे जिसके लिए उन्हें जाना जाता है। यदि संभव हुआ तो वो टैलेंट से भरे हुए इस डिविजन में टॉप-लेवल एथलीट के रूप में खुद को साबित करना चाहेंगे।

#4 क्या योशिहीरो अकियामा वो कर पाएंगे जिसके लिए उन्हें जाना जाता है?

योशिहीरो अकियामा उन चुनिंदा एथलीट्स में से एक हैं जो अपने प्रदर्शन से दुनिया भर के फैंस का मनोरंजन करना अच्छे से जानते हैं।

जब लुक्स की बात आती है तो जापानी-दक्षिण कोरियाई स्टार सबसे अलग नजर आते हैं, आइकॉनिक एंट्रेंस और उनका अपना ही एक औधा है। उन्हें मुकाबला करते देखने में एक अलग ही मजा आता है क्योंकि उनकी शानदार जूडो तकनीक से अंदाजा लगाना मुश्किल होता है कि वो अब किस तरह का अटैक करने वाले हैं।

अकियामा के प्रतिद्वंदी शरीफ “द शार्क” मोहम्मद जीत दर्ज करने के लिए अपने हर एक मूव का इस्तेमाल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। मिस्र से आने वाले शरीफ जैसे लंबे और तगड़े एथलीट का इस तरह से अटैक अन्य उनके प्रतिद्वंदियों के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकता है। लेकिन इस तरह के अटैक के सामने अकियामा अकसर बेहतर ही साबित होते हैं चाहे वो ग्रैपलिंग अटैक से खुद को बचाने की बात हो या फिर जवाबी हमले की।

#5 जिओंग जिंग नान को कौन चुनौती देगी?

अगले शुक्रवार चाहे अयाका मियूरा को जीत मिले या फिर टिफनी “नो चिल” टियो को, इन दोनों के ही खिलाफ “द पांडा” जिओंग जिंग नान को ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड टाइटल डिफेंड करने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

मियूरा पिछले साल ONE की उभरती हुई स्टार्स में से एक रही थीं और जनवरी में आया उनका लगातार तीसरा स्कार्फ़-होल्ड अमेरिकाना सबमिशन दर्शाता है कि उन्होंने इस डिविजन की टॉप-लेवल एथलीट्स में अपना नाम दर्ज करवा लिया है। इसके साथ ही उनकी विनिंग स्ट्रीक भी 6 मैचों की हो गई है और विमेंस स्ट्रॉवेट डिविजन में वो उन चुनिंदा एथलीट्स में से एक हैं जो फिलहाल जबरदस्त फॉर्म में चल रही हैं।

टियो पहले भी वर्ल्ड टाइटल के लिए चुनौती पेश कर चुकी हैं और इस बार वो अपने करियर की सबसे बड़ी जीत दर्ज कर रिंग में उतर रही हैं। उन्होंने 8 बार की ब्राजीलियन जिउ-जित्सु वर्ल्ड चैंपियन मिशेल निकोलिनी को हराया था, निकोलिनी वही नाम है जो “अनस्टॉपेबल” एंजेला ली को हरा चुकी हैं। अब अगर वो मियूरा जैसी कड़ी प्रतिद्वंदी को हराने में सफल रहती हैं तो संभव ही वो खुद को टाइटल के लिए टॉप कंटेंडर साबित कर सकती हैं।

अब ये देखने वाली बात होगी कि सिंगापुर की एथलीट अपनी प्रतिद्वंदी को ग्राउंड गेम में मात देने वाली हैं या फिर अपनी स्ट्राइकिंग के सहारे आगे बढ़ेंगी, जैसा कि उन्होंने अपने पिछले मैच में किया था। वहीं ये भी देखना दिलचस्प होगा कि क्या जापानी स्टार एक बार फिर अपने ट्रेडमार्क सबमिशन मूव से जीत हासिल कर पाएंगी।

ये भी पढ़ें: ONE: KING OF THE JUNGLE के स्टार्स के टॉप-5 प्रदर्शन