विशेष कहानियाँ

ONE: KING OF THE JUNGLE के स्टार्स के टॉप-5 प्रदर्शन

शुक्रवार, 28 फरवरी को ONE Championship की सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में वापसी हो रही है और ये इस दशक का सिंगापुर में पहला ONE इवेंट है।

ONE: KING OF THE JUNGLE का बाउट कार्ड ऊपर से नीचे तक टैलेंटेड एथलीट्स से भरा हुआ है जिनमें कुछ वर्ल्ड चैंपियंस भी शामिल हैं और उन्हें सर्कल में अच्छा प्रदर्शन करने की जैसे आदत लग चुकी है।

अब अगर वो एथलीट “द लॉयन सिटी” में उसी तरह का प्रदर्शन करने में सफल रहते हैं तो जरूर ये इवेंट फैंस के लिए यादगार बन जाएगा।

#1 स्टैम्प फेयरटेक्स चोट के बावजूद भी टाइटल डिफेंड करने में सफल रहीं

2-स्पोर्ट ONE वर्ल्ड चैंपियन स्टैम्प फेयरटेक्स को पिछले साल अपने पहले ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल डिफेंस में अल्मा जुनिकु की कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा था।

थाई सुपरस्टार के लिए शुरुआत अच्छी रही और पहले 2 राउंड में बढ़त बनाई क्योंकि उन्होंने अपनी प्रतिद्वंदी से ज्यादा दमदार स्ट्राइक्स का प्रयोग किया।

लेकिन तीसरे और चौथे राउंड में चैलेंजर ने जबरदस्त वापसी की और आगे बढ़ते हुए जैब लगाए और स्टैम्प को संभलने का मौका ही नहीं दिया। स्टैम्प ने माना कि ट्रेनिंग कैंप में चोट के कारण वो अपना बेस्ट प्रदर्शन नहीं कर पा रही थीं लेकिन मैच में किसी तरह जुनिकु के अटैक के सामने वो मजबूती से डटी रहीं।

आखिरी राउंड में दोनों के बीच कांटेदार टक्कर देखने को मिली और स्टैम्प भी थकी हुई महसूस करने लगी थीं, साथ ही जुनिकु दमदार पंच और बॉडी किक्स लगाती रहीं।

5 राउंड के जबरदस्त एक्शन के बाद जजों ने Fairtex टीम की प्रतिनिधि को सर्वसम्मत निर्णय से विजेता घोषित किया था।

#2  टॉड की शानदार जीत

“किलर बी” चुआंग काई टिंग के खिलाफ कांटेदार किकबॉक्सिंग मुकाबले में फैंस को जेनेट “JT” टॉड का धैर्य और प्रतिबद्धता देखने को मिली थी।

IFMA Pan-American मॉय थाई चैंपियन अपनी लय में वापसी कर चुकी थीं और इसके तुरंत बाद उन्होंने कॉम्बिनेशंस से अपनी प्रतिद्वंदी को झकझोर कर रख दिया। दूसरे राउंड में उन्होंने कई नी स्ट्राइक्स, हाई किक्स और लो किक्स भी लगाईं, जिनमें एक वो किक भी शामिल रही जिससे “किलर बी” खड़ी-खड़ी नीचे गिर गई थीं।

पहले 6 मिनट में “JT” को अच्छी बढ़त मिल चुकी थीं लेकिन आखिरी राउंड में चुआंग की एनर्जी एक अलग ही लेवल पर पहुंच चुकी थी। पूर्व ONE वर्ल्ड चैंपियन के पास जो भी मूव्स थे, उन सभी का उन्होंने इस्तेमाल किया और मैच में पहली बार अपनी प्रतिद्वंदी को बैकफुट पर लाने में सफलता पाई।

आखिर तक टॉड ने धैर्य बनाए रखा और मौका मिलते ही मैच के आखिरी सेकेंडों में जम्पिंग नी लगाई और इसी कारण उन्हें बहुमत निर्णय से विजेता घोषित किया गया था।

जापानी-अमेरिकी एथलीट को उस शानदार नॉकआउट के बाद अब स्टैम्प के खिलाफ ONE एटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड टाइटल रीमैच मिल गया है।

#3 दूसरे स्पोर्ट में भी सैम-ए का जलवा

पिछले साल दिसंबर में सैम-ए गैयानघादाओ ने ONE में अपना पहला किकबॉक्सिंग मैच खेला, जहाँ मैच के शुरुआती सेकेंड से ही उन्हें “गोल्डन बॉय” वांग जनगुआंग की आक्रामकता का सामना करना था।

पहले कुछ मिनट वो वांग के अटैक के खिलाफ डिफेंस करने में संघर्ष करते दिखाई दे रहे थे लेकिन मॉय थाई लैजेंड ने काउंटर-स्ट्राइकिंग गेम प्लान से अपने चीनी प्रतिद्वंदी को कुछ हद तक रोकने में सफलता प्राप्त की।

इसके बाद भी वांग पीछे हटने को तैयार नहीं थे और सैम-ए ने खुद माना था कि वो उस समय थके हुए थे। क्लिंचिंग तकनीक के ना होने से उन्हें आराम के लिए थोड़ा भी समय नहीं मिल पा रहा था, लगातार अटैक का सामना करने के बाद भी उन्होंने जबरदस्त वापसी की और मैच में सर्वसम्मत निर्णय से जीत दर्ज कर ONE स्ट्रॉवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप अपने नाम की।

सिंगापुर में सैम-ए उस स्पोर्ट में वापसी कर रहे हैं जहाँ उन्हें लैजेंड माना जाता है और रॉकी ओग्डेन के खिलाफ जीत दर्ज कर वो ONE स्ट्रॉवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल जीतकर 2-स्पोर्ट चैंपियन बनने की कोशिश करेंगे।

#4 पिछड़ने के बाद भी टिफनी ने की वापसी

Singaporean sensation Tiffany Teo digs deep to claim a unanimous decision victory over Michelle Nicolini!

Singaporean sensation Tiffany Teo digs deep to claim a unanimous decision victory over Michelle Nicolini!Watch the full event LIVE & FREE on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp | TV: Check local listings for global broadcast

Posted by ONE Championship on Friday, November 9, 2018

ONE: HEART OF THE LION में टिफनी “नो चिल” टियो ने कड़े मुकाबले में 8 बार की ब्राजीलियन जिउ-जित्सु वर्ल्ड चैंपियन मिशेल निकोलिनी पर जीत दर्ज की।

जीत दर्ज करने के लिए उन्हें अपना बेस्ट प्रदर्शन करना था क्योंकि पहले राउंड के आखिर में वो सबमिशन का शिकार होते-होते बची थीं। निकोलिनी ने टिफनी को आर्मबार में जकड़ लिया था लेकिन Team Highlight Reel की स्टार ने टैप आउट नहीं किया और जद्दोजहद करते हुए दूसरे राउंड में प्रवेश करने में सफल रहीं।

ब्राजील की स्टार को दूसरे राउंड में भी अच्छी बढ़त मिली और फिनिश का प्रयास किया लेकिन टियो ने सबमिशन से निकलते हुए अपनी प्रतिद्वंदी पर ग्राउंड एंड पाउंड अटैक कर दिया था।

तीसरे राउंड में निकोलिनी के गो-फ़ोर-ब्रेक गेम प्लान ने उन्हीं की एनर्जी के स्तर को कम कर दिया, इसी समय उनका कार्डियो उनके काम आया और उन्हें जब भी टेकडाउन करने का मौका मिला उसे उन्होंने खाली नहीं जाने दिया। ब्राजीलियाई एथलीट की एनर्जी जवाब दे चुकी थी और इसी वजह से टियो ने सर्वसम्मत निर्णय से जीत दर्ज की।

अब टियो का सामना जापान की अयाका मियूरा से होना है और इस मैच में जीत के साथ उन्हें ONE विमेंस स्ट्रॉवेट वर्ल्ड टाइटल शॉट मिल सकता है।

#5 यामागुची ने अपना बदला पूरा किया

ONE में आने से पहले साल 2014 में मेई यामागुची को जीना “कंविक्शन” इनियोंग के खिलाफ विभाजित निर्णय से हार झेलनी पड़ी थी।

उसके 3 साल बाद ONE: IMMORTAL PURSUIT में इनका रीमैच हुआ, जहाँ जापानी एथलीट जीत के प्रति प्रतिबद्ध थीं और जब परिणाम सामने आया तो उनकी प्रतिबद्धता का अंजाम साफ देखा जा सकता था।

शुरुआत में यामागुची को अपनी प्रतिद्वंदी की हाई-लेवल स्ट्राइकिंग के सामने संघर्ष करना पड़ रहा था और इसी वजह से उन्हें टेकडाउन करने में भी दिक्कत हो रही थी लेकिन आखिर में उन्होंने इनियोंग को ग्राउंड पर लाने में सफलता पाई थी। उसके बाद उन्होंने माउंट पोजिशन में रहते “कंविक्शन” को हेवी ग्राउंड एंड पाउंड अटैक से नुकसान पहुंचाया।

जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ा, यामागुची को फिलीपींस स्टार को नीचे गिराने, पास गार्ड और हेवी स्ट्राइक्स से उनपर बढ़त बनाने के कई मौके मिलते रहे। इसी प्रदर्शन ने उन्हें ना केवल सर्वसम्मत निर्णय से जीत दिलाई बल्कि “अनस्टॉपेबल” एंजेला ली के खिलाफ टाइटल शॉट भी दिलाया।

अब यामागुची लगातार पांचवीं जीत दर्ज कर एक और ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड टाइटल शॉट हासिल करने के लिए डेनिस ज़ाम्बोआंगा को हराने की कोशिश करती हुई नजर आएंगी।

ये भी पढ़ें: सैम-ए का मानना है कि उनके अनुभव को नहीं झेल पाएंगे रॉकी ओग्डेन