न्यूज़

सैम-ए गैयानघादाओ का मानना है कि उनके अनुभव को नहीं झेल पाएंगे रॉकी ओग्डेन

सैम-ए गैयानघादाओ को पहले ही थाईलैंड के सबसे महान एथलीट्स में से एक होने का गौरव हासिल है लेकिन अब वो एक और इतिहास रचने के बेहद करीब आ पहुंचे हैं। जल्द ही वो ONE Super Series में 2-स्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियन बनने वाले पहले पुरुष एथलीट बन सकते हैं।

शुक्रवार, 28 जनवरी को ONE स्ट्रॉवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन, इसी डिविजन का मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल भी जीतने की कोशिश करने वाले हैं। उनका ये मुकाबला सिंगापुर में ऑस्ट्रेलियाई एथलीट रॉकी ओग्डेन के खिलाफ होने वाला है।

पहला ONE स्ट्रॉवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल मैच ONE: KING OF THE JUNGLE का को-मेन इवेंट होने वाला है और सैम-ए फैंस को शानदार प्रदर्शन से खुश करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रहे हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे ख़ुशी है कि सिंगापुर में मैच मिला है, ये मेरे लिए दूसरे घर के समान है।”

“यहाँ मुझे चीयर करने के लिए काफी लोग हैं, इससे जाहिर तौर पर मुझे जीत के लिए ज्यादा प्रोत्साहन मिल सकेगा। यहाँ मैं हारना तो बिल्कुल नहीं चाहता।”

साल 2018 से लेकर 2019 तक के बीच 36 वर्षीय एथलीट ने करीब 1 साल बिना कोई मैच खेले बिना गुजारा है। लेकिन पिछले साल के अंत से उन्होंने उसी तरह प्रतिस्पर्धा करनी शुरू कर दी है जिस तरह वो सालों पहले बैंकॉक स्टेडियम्स में किया करते थे।

अपने स्ट्रॉवेट डेब्यू मुकाबले में डैरन रोलैंड को नॉकआउट करने के कुछ ही हफ़्तों बाद उन्होंने वापसी की और अपने पहले किकबॉक्सिंग मुकाबले में वांग जनगुआंग को 5 राउंड तक चले मुकाबले में हराकर वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया।

आमतौर पर अन्य एथलीट इतने लंबे और कड़े मुकाबले के बाद आराम करना पसंद करते हैं लेकिन सैम-ए जितना जल्दी हो सकता था उतनी जल्दी वापसी करने वाले हैं।



उन्होंने बताया, “मेरा पिछला मैच दिसंबर में हुआ था। मुझे लगता है कि ये मेरे लिए अच्छा है क्योंकि इससे मुझे अपनी बेस्ट शेप में बने रहने में मदद मिलती है।”

“वांग के साथ मुकाबले के बाद मैंने फिट रहने के लिए ट्रेनिंग करनी जारी रखी। एक्टिव रहने से मुझे रिंग में भी अच्छा प्रदर्शन करने में मदद मिलती है। इसके अलावा मेरा पिछला मैच 5 राउंड तक चला था। मैं दिसंबर से ज्यादा अब अच्छा महसूस कर रहा हूँ।

“मुझे खुद पर भरोसा है और हमेशा की तरह मेरी कंडिशनिंग भी अच्छी है।”

सैम-ए के प्रतिद्वंदी चाहे ONE में अपना डेब्यू कर रहे हों लेकिन 20 वर्षीय एथलीट थोड़े समय में ही मॉय थाई के उभरते हुए सितारों में अपना नाम दर्ज करवाने में सफल रहे हैं। ओग्डेन 16 साल की उम्र से थाईलैंड में मैचों का हिस्सा रहे हैं और इस दौरान उन्होंने WPMF मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल भी जीता था।

एक तरफ सैम-ए इस बात का सम्मान करते हैं कि उनके प्रतिद्वंदी उनसे उम्र में 16 साल छोटे हैं, वहीं उन्हें ये भी पता है कि उनका अनुभव इस मैच के परिणाम में अहम भूमिका निभाने वाला है।

कई बार के वर्ल्ड चैंपियन सैम-ए 424 मुकाबलों का हिस्सा रह चुके हैं, वहीं उनके प्रतिद्वंदी का रिकॉर्ड केवल 42 का है। वो अपने करियर में काफी संख्या में वर्ल्ड-क्लास एक्शन का प्रदर्शन कर चुके हैं और उन्हें मार्शल आर्ट्स के इतिहास के सबसे महान एथलीट्स में से भी एक माना जाता है।

ONE Strawweight Kickboxing World Champion Sam-A Gaiyanghadao

उन्होंने कहा, “वो एक फ्रेशर हैं, युवा हैं और शायद उनकी फिटनेस मुझसे बेहतर हो सकती है लेकिन मेरा मानना है कि वो मेरे अनुभव को झेल नहीं पाएंगे।”

“अगर मैच 5 राउंड तक चला तो जरूर उनके प्रदर्शन में अनुभव की कमी साफ देखी जा सकेगी।”

सैम-ए भली-भांति जानते हैं कि ओग्डेन क्या करने में सक्षम हैं। उनके हाथों में ताकत है, डिफेंस अच्छा करते हैं और छोटे ग्लव्स के साथ उन्हें अनुभव भी है।

“मैंने उनकी वीडियो देखी हैं और वो काफी अच्छे हैं। उन्हें मॉय थाई की पूरी जानकारी है क्योंकि वो काफी संख्या में थाई एथलीट्स के खिलाफ मुकाबले लड़ चुके हैं।

“मुझे शुरुआत में सतर्क रहना होगा और देखना होगा कि वो क्या करने में सक्षम हैं। मैं उन्हें कम नहीं आंकना चाहता। वो युवा हैं और ताकतवर हैं, मेरा प्लान सब्र रखते हुए काउंटर करने का है।

“अगर मेरी स्ट्राइक्स सही तरीके से टाइम हुईं तो मैं जरूर नॉकआउट का प्रयास करूंगा लेकिन लापरवाह होते हुए इसके ज्यादा प्रयास भी नहीं करना चाहता।”

ONE Strawweight Kickboxing World Champion Sam-A Gaiyanghadao celebrates his win against Wang Junguang

ये अनुभवी और युवा एथलीट के बीच एक क्लासिक मुकाबला होने वाला है, जहाँ दोनों एथलीट ऐतिहासिक जीत दर्ज कर पहला ONE स्ट्रॉवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन बनने के लिए अपना बेस्ट प्रदर्शन करना चाहेंगे।

अपने हालिया प्रदर्शन से सैम-ए अच्छा महसूस कर रहे हैं और ओग्डेन के हर अटैक का सामना करने के लिए तैयार हैं। लेकिन उनका ध्यान भटका नहीं है क्योंकि इस मौके की अहमियत से वो अच्छी तरह वाकिफ हैं।

उन्होंने कहा, “ये मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण मुकाबला है क्योंकि मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल दांव पर लगा हुआ है और अगर मुझे जीत मिली तो मैं स्ट्रॉवेट डिविजन में 2-स्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियन बन जाऊंगा।”

“इसके अलावा मैं थाईलैंड के लोगों के लिए मॉय थाई टाइटल जीतना चाहता हूँ और अपना बेस्ट प्रदर्शन करना चाहता हूँ।”

ये भी पढ़ें: जेनेट टॉड के खिलाफ एक और 5 राउंड के जबरदस्त मुकाबले की उम्मीद कर रही हैं स्टैम्प फेयरटेक्स