न्यूज़

सैमापेच ने करीबी मुकाबले में रोडलैक को हराया, टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई

3 राउंड तक चले कड़े मुकाबले में सैमापेच फेयरटेक्स ने अपने पुराने प्रतिद्वंदी रोडलैक पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम को हराकर ONE बेंटमवेट मॉय थाई टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बना ली है।

शुक्रवार, 14 अगस्त को बैंकॉक में हुए ONE: NO SURRENDER II में Fairtex टीम के 25 वर्षीय स्टार ने अपने 30 वर्षीय हमवतन एथलीट के खिलाफ बहुमत निर्णय से जीत दर्ज की।

Muay Thai fighter Saemapetch Fairtex

सैमापेच ने मुकाबले से पहले ही वादा कर दिया था कि इस मैच में वो नई ट्रिक्स सीखकर रिंग में उतरने वाले हैं और रोडलैक से चल रही प्रतिद्वंदिता को बराबर कर ही दम लेंगे। उन्होंने ऐसा कर भी दिखाया है।

शुरुआत से ही वो शानदार तरीके से काउंटर मूव्स लगा रहे थे। दूसरी ओर, रोडलैक भी दमदार लो किक्स से अपने प्रतिद्वंदी की दाईं जांघ के हिस्से को खूब क्षति पहुंचा रहे थे लेकिन Fairtex टीम के स्टार अपनी रणनीति पर कायम रहे और मौका मिलते ही लेफ्ट पंच और एल्बोज लगाईं, जिससे रोडलैक सन्न रह गए।

सैमापेच ने यहां तक कि पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम की बॉडी पर स्ट्रेट लेफ्ट भी लगाया लेकिन रोडलैक प्री-बाउट इंटरव्यू में कह चुके थे कि उनका मिडसेक्शन (पेट और छाती का हिस्सा) काफी स्ट्रॉन्ग है और ऐसा ही कुछ देखने को भी मिला।

सैमापेच भी बेहतरीन मूव्स का इस्तेमाल करने में सफल साबित हो रहे थे। “द स्टील लोकोमोटिव” द्वारा हाई किक को आता देख सैमापेच पीछे की तरफ झुक गए और एकदम से आगे आकर राइट-लेफ्ट-राइट पंच कॉम्बिनेशन लगाया और इसी अटैक ने उन्हें पहले राउंड में बढ़त दिलाई थी।

Muay Thai fighter Saemapetch Fairtex hits Rodlek in the ribs

दूसरे राउंड की शुरुआत भी सैमापेच के स्ट्रेट लेफ्ट पंच और लेफ्ट हाई किक से हुई, जिससे रोडलैक को काफी क्षति पहुंची। रोडलैक आगे आकर सैमापेच को पीछे जाने पर मजबूर कर रहे थे और रोप्स से सटे होने के दौरान ही उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी की बॉडी पर 2 दमदार नी लगाईं।

रोडलैक इस अटैक को ज्यादा देर तक जारी नहीं रख पाए क्योंकि सैमापेच उसके बाद उनके लगभग हर अटैक से बचने में सफल हो रहे थे। इसी बीच उन्होंने दमदार काउंटर मूव्स भी लगाए, जो PK.Saenchai Muaythaigym के मेंबर पर बढ़त हासिल करने के लिए काफी साबित हुए।

“द स्टील लोकोमोटिव” जानते थे कि तीसरे राउंड में उनके लिए करो या मरो जैसी स्थिति उत्पन्न हो चुकी है। उन्होंने बेहद तेजी और दमदार तरीके से अटैक करना शुरू कर दिया, खतरनाक राइट हैंड्स और लो किक्स भी लगाईं।

तीसरे राउंड में इस तरह के अटैक के बाद एक बार के लिए ऐसा लगने लगा था कि मैच अब रोडलैक के पाले में जाने वाला है लेकिन सैमापेच के काउंटर हर बार प्रभावशाली साबित हो रहे थे। चिआंग माई निवासी एथलीट अपने प्रतिद्वंदी के राइट हैंड्स को चकमा दे रहे थे और अगले ही पल लेफ्ट एल्बोज से उन्हें क्षति पहुंचा रहे थे।

Muay Thai fighter Samapetch Fairtex defeats Rodlek PK.Saenchai Muaythaigym

रोडलैक ने अंत में एक बार फिर आक्रामक रुख अपनाया लेकिन इस बार भी सैमापेच ने बेहतरीन अंदाज में उन पर खूब सारे पंच लगाए, जिनका प्रभाव तीसरे राउंड में आने के बाद भी कम नहीं हुआ था।

जब तीसरा राउंड समाप्त हुआ तो सैमापेच के चेहरे के हाव-भाव सब बयां कर रहे थे और तीनों जजों ने उन्हीं के पक्ष में फैसला सुनाया।

बहुमत निर्णय से आई इस जीत के बाद सैमापेच अब ONE बेंटमवेट मॉय थाई टूर्नामेंट में फाइनल में पहुंच गए हैं। इसके बाद उनका सामना 21 अगस्त को सांगमनी “द मिलियन डॉलर बेबी” क्लोंग सुआनप्लूरिज़ॉर्ट और कुलबडम “लेफ्ट मीटियोराइट” सोर. जोर. पिएक उथाई के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगा।

ये भी पढ़ें: ONE: NO SURRENDER II – रिजल्ट्स और हाइलाइट्स, सैमापेच vs रोडलैक