किकबॉक्सिंग

रामज़ानोव के खिलाफ कैपिटन ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का वादा किया

लंबे समय बाद कैपिटन पेटयिंडी एकेडमी को अपने प्रोफेशनल करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि प्राप्त करने का मौका मिला है।

शुक्रवार, 22 जनवरी को ONE: UNBREAKABLE के मेन इवेंट में थाई स्टार ONE बेंटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन अलावेर्दी “बेबीफेस किलर” रामज़ानोव को उनके टाइटल के लिए चुनौती देंगे।

#2 रैंक के बेंटमवेट किकबॉक्सिंग कंटेंडर कैपिटन के लिए शायद साल 2021 की शुरुआत इससे बेहतर तरीके से नहीं हो सकती थी।

उन्होंने कहा, “मैं ONE वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच मिलने से खुश हूं। मुझे कोई घबराहट या उत्सुकता नहीं हो रही है। ONE को जॉइन करने के बाद से ही मेरा सपना वर्ल्ड चैंपियन बनने का रहा है और मैं ऐसा करने में जरूर सफल रहूंगा।”

वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच से पहले कैपिटन ने अपने ONE के सफर की शुरुआत धमाकेदार अंदाज में की थी।

पिछले साल सितंबर में उन्होंने अपने प्रोमोशनल डेब्यू में 6 बार के मॉय थाई और किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन पेटटानोंग पेटफर्गस को हराया था। पेटफर्गस जिन्हें कई बड़े प्रकाशनों ने अपने डिविजन का टॉप किकबॉक्सर बताया था।

पेटटानोंग अपने शानदार सफर को जारी रखना चाहते थे, लेकिन कैपिटन ने उनके बेहतरीन मोमेंटम को पूरी तरह बिगाड़ दिया। Petchyindee Academy के स्टार ने अपने प्रतिद्वंदी को दमदार क्रॉस की मदद से केवल 6 सेकंड में नॉकआउट किया, जो ONE Super Series के इतिहास का सबसे तेज नॉकआउट रहा।

इस बड़ी उपलब्धि को प्राप्त करने के बाद भी कैपिटन निराश थे, क्योंकि वो ज्यादा समय तक रिंग में अपनी स्किल्स को प्रदर्शित नहीं कर पाए।

उन्होंने कहा, “सच कहूं तो मैं कुछ हद तक अपने डेब्यू से निराश रहा क्योंकि मुझे फैंस के सामने ये साबित करने का मौका नहीं मिला कि मेरी स्किल्स कितनी बेहतरीन हैं।”

“मैच बहुत जल्दी समाप्त हुआ, लेकिन इसके जरिए मुझे अब ज्यादा लोग जानने लगे हैं। लोकप्रिय बनना भी मेरे लक्ष्यों में से एक था और मैं भविष्य में भी इसी तरह धमाकेदार प्रदर्शन करना चाहता हूं।”

डेब्यू जीत के बाद कैपिटन ने थाईलैंड में कई बार के मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियंस चामुआकटोंग फाइटरमॉयथाई और “द मिलियन डॉलर बेबी” सांगमनी क्लोंग सुआनप्लूरिज़ॉर्ट के खिलाफ जीत दर्ज कीं। उनका प्रोफेशनल रिकॉर्ड अब 142-40 का हो गया है।

उसी सफलता ने अब थाई स्टार को ONE बेंटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन बनने के करीब ला खड़ा किया है, लेकिन वो जानते हैं कि “बेबीफेस किलर” के खिलाफ जीत दर्ज करना आसान नहीं होगा।

रामज़ानोव का रिकॉर्ड 61-5 का है और ONE Super Series के टॉप एथलीट्स में से एक हैं।

दागेस्तानी एथलीट ने अक्टूबर 2018 में कैपिटन के टीम मेंबर और भविष्य के फेदरवेट मॉय थाई चैंपियन पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी को हराया था और उसके बाद एंड्रयू “मैडडॉग” मिलर और ओग्नयेन टॉपिच को भी पहले राउंड में नॉकआउट कर चुके हैं।

रामज़ानोव दिसंबर 2019 में “मॉय थाई बॉय” झांग चेंगलोंग को हराकर सबसे पहले ONE बेंटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन बने।



रामज़ानोव का स्टाइल Petchyindee Academy के स्टार के लिए मुसीबतें पैदा कर सकता है। मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन अपने प्रतिद्वंदी से 11 सेंटीमीटर लंबे हैं, उनकी स्ट्राइकिंग वर्ल्ड-क्लास है और खतरनाक पुश किक्स लगाते हैं।

27 वर्षीय थाई एथलीट मानते हैं कि उनके अगले प्रतिद्वंदी खतरनाक हैं, लेकिन उनका मानना है कि “द बेबीफेस किलर” को भी अपने प्रतिद्वंदी से सतर्क रहना चाहिए।

कैपिटन ने कहा, “अलावेर्दी का स्टाइल थोड़ा अलग है इसलिए उन्हें टक्कर देना आसान नहीं है। उनके पास कई तरह के मूव्स हैं, ऐसे में मुझे सावधानी से अपने मूव्स लगाने होंगे।”

“उनकी लंबाई उन्हें फायदा पहुंचा सकती है, लेकिन मैं इसे अपने लिए खतरा नहीं मानता। मुझे ज्यादा अनुभव और उनसे ज्यादा चीजों में फायदा मिल सकता है। उन्हें मेरा एक पंच या किक सटीक निशाने पर लगने का मतलब वो मुसीबत में पड़ने वाले हैं।

“वो कुछ समय से रिंग से दूर रहे हैं। मुझसे पिछले साल कई मैच मिले इसलिए मेरी बॉडी इस मैच के लिए ज्यादा बेहतर महसूस कर रही है।”

अपने अगले मैच के लिए कैपिटन पूर्व ONE फ्लाइवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन पेचडम “द बेबी शार्क” पेटयिंडी एकेडमी के साथ ट्रेनिंग कर रहे हैं।

दूसरी ओर, जिम के मालिक नटादेज वाचिरारटनावोंग, जिन्हें सिया बोट के नाम से भी जाना जाता है, जिम के हेड कोच भी हैं और पूर्व WBC फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियन चटचाई सासाकुम उनकी बॉक्सिंग पर ध्यान दे रहे हैं।

एक ऐसी टीम जो कैपिटन को खुद में सुधार और अच्छा प्रदर्शन करने का प्रोत्साहन दे रही है।

थाई स्टार ने कहा, “मुझे उन्हें उनके ही मूव्स में फंसाना होगा, जिससे मैं फ्रंटफुट पर रहकर उनपर अटैक कर सकूं।”

“मैं उन्हें नॉकआउट भी करना चाहता हूं, लेकिन मैं नहीं जानता कि मैच कितने राउंड्स तक चलेगा।”

इस समय कैपिटन का पूरा ध्यान अपने मैच पर है, अगर वो बेंटमवेट किकबॉक्सिंग चैंपियन बने तो उनका अगला लक्ष्य अपने हमवतन एथलीट नोंग-ओ गैयानघादाओ को हराना होगा।

उन्होंने कहा, “अगर मैं किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन बना तो भविष्य में मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल को भी जीतना चाहूंगा।”

उनके सपने बड़े हैं और अभी तक उन्होंने अपनी किसी कमजोरी को सामने नहीं आने दिया है।

ये भी पढ़ें: 5 कारणों से आपको ONE: UNBREAKABLE के लिए उत्साहित रहना चाहिए