न्यूज़

स्टैम्प फेयरटेक्स का प्लान, ONE: NO SURRENDER में दिखाएंगी नई ट्रिक्स

ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन स्टैम्प फेयरटेक्स तीन खेलों (मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स, मॉय थाई, किकबॉक्सिंग) में गौरव की तलाश इस शुक्रवार, 31 जुलाई को भी जारी रखेंगी। हालांकि, अगला कदम बढ़ाने के लिए उन्हें अजेय हमवतन एथलीट को हराना होगा।

22 साल की एथलीट का मुकाबला युवा सनसनी सुनीसा “थंडरस्टॉर्म” श्रीसेन के साथ थाइलैंड के बैंकॉक में होने वाले ONE: NO SURRENDER के मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मुकाबले में होगा।

स्टैम्प अपनी पुरानी विरोधी से अच्छी तरह वाकिफ हैं। ये दोनों एथलीट्स पटाया के फेयरटेक्स् ट्रेनिंग सेंटर में मुकाबले का एलान होने से पहले एक साथ प्रैक्टिस करती थीं।

रायोंग प्रांत की निवासी ने कहा, “मैं उन्हें जानती हूं। मैं जब किकबॉक्सिंग कर रही थी, तब वो मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स कर रही थीं। उसके बाद उन्हें ट्रेनिंग के लिए यहां फेयरटेक्स में पूछा गया।”

“मैंने उनकी कुछ मार्शल आर्ट्स की ट्रिक्स सीखने में मदद की। हालांकि, उसके बाद पता चला कि हमारा मुकाबला होने वाला है। इस वजह से उन्होंने दूसरे बॉक्सिंग स्कूल जाकर ट्रेनिंग करने के लिए कहा, ताकि हम दोनों को अजीब न लगे।”

उसके बाद से ही थाई सुपरस्टार ने श्रीसेन के वीडियो देखे और उनकी स्किल्स को करीब से जानने की कोशिश की।

इस रिसर्च की उस रात काफी जरूरत पड़ेगी क्योंकि 19 साल की चोनबुरी की एथलीट अब तक अपने मिक्स्ड मर्शाल आर्ट्स करियर में हारी नहीं हैं।

जून 2016 में श्रीसेन ने अपना डेब्यू थाइलैंड के Full Metal Dojo प्रोमोशन में ONE Championship की दिग्गज एथलीट ऑड्रीलौरा “आइस कॉमेट” बोनीफेस को दूसरे राउंड में TKO (तकनीकी नॉकआउट) के जरिए हराकर किया था। इसके बाद उन्होंने फरवरी 2017 में विलासिनी “इनफिनिटी” कॉमहॉम को सबमिट करके और उसी साल नवंबर में फुंसासोरन “कोय” थैन्यूथॉन को नॉकआउट करके दो और जीत हासिल की थीं।

स्टैम्प ने श्रीसेन के बारे में बताया, “वो अपनी धुन की पक्की हैं। मैं देख सकती हूं कि वो जूडो में काफी अच्छी हैं। उनकी ताकत जूडो के साथ उनके स्टैमिना और सहनशक्ति में है।”



ये बात भी सच है कि फेयरटेक्स प्रतिनिधि ने काफी कमाल की स्किल्स दिखाते हुए खुद को The Home Of Martial Arts की सबसे प्रमुख स्ट्राइकर के तौर पर साबित किया है।

जुलाई 2018 में ONE Warrior Series 2 में अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स डेब्यू में उन्होंने 19 सेकंड में ही हेड किक नॉकआउट से जीत हासिल की थी। उसके बाद स्टैम्प ने ONE Super Series में टाइटल अपने नाम किए।

वहां उन्होंने अक्टूबर 2018 में ONE एटमवेट किकबॉक्सिंग चैंपियनशिप और फरवरी 2019 में पहली ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियनशिप पर कब्जा जमाया, इस पर आज तक उनकी बादशाहत कायम है।

इसके बाद अगस्त 2019 में Fairtex प्रतिनिधि फिर से मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में वापस आईं। वहां उन्होंने अपनी ऑलराउंड स्किल का प्रदर्शन करते हुए तीन लगातार जीत हासिल कीं। इसमें हाल ही में बीती जनवरी में भारत की पूजा “द साइक्लोन” तोमर पर पहले राउंड में तकनीकी नॉकआउट के जरिए जीत भी शामिल रही।

हालांकि, स्टैंप मानती हैं कि स्टैंडअप डिपार्टमेंट में उनके पास श्रीसेन के ऊपर एडवांटेज है लेकिन उन्हें शुक्रवार के मुकाबले में अपनी ग्रैपलिंग को दिखाने की भी इच्छा है।

एटमवेट डिविजन में राज कर रहीं मॉय थाई क्वीन ने कहा, “मुझे लगता है कि मैं इस मैच में मार्शल आर्ट्स (तकनीकों) से उन्हें जमीन पर गिरा दूंगी और फिर ज्यादा से ज्यादा अपने ग्राउंड गेम का इस्तेमाल करूंगी।”

“मैं अपने विरोधी को टेकडाउन और सबमिशन करने की प्रैक्टिस कर रही थी। अब मैं आर्मबार, चोक, ट्रायंगल चोक व अन्य चीजों पर काम कर रही हूं।”

इस तरह की नई तकनीकों को अपने तरकश में शामिल करने से ऐसा लगता है कि फेयरटेक्स प्रतिनिधि जल्द ही “अनस्टॉपेबल” एंजेला ली के ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड टाइटल को लेकर अपना अगला कदम बढ़ाने वाली हैं।

लेकिन इससे पहले कि वो ONE: NO SURRENDER के दौरान सर्कल में कदम रखें, स्टैम्प का श्रीसेन के लिए एक सिंपल संदेश है।

उन्होंने कहा, “प्रैक्टिस करते रहो और अपना बेस्ट प्रदर्शन करना। मैं भी अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन करूंगी और वहीं मुलाकात करूंगी।”

ये भी पढ़ें: ONE Championship एथलीट्स ने रोडटंग Vs. पेचडम मुकाबले को लेकर दी अपनी राय