न्यूज़

शरीफ मोहम्मद का योशिहीरो अकियामा को दूसरे राउंड में फिनिश करने का लक्ष्य

ONE: KING OF THE JUNGLE में शरीफ “द शार्क” मोहम्मद का मिशन बहुत मुश्किल है लेकिन उन्हें मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स आइकन का सामना करने में कोई डर नहीं है।

अगले शुक्रवार, 28 फरवरी को मिस्र के एथलीट- जो 2017 के बाद से दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन के साथ हैं – सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में मेन-कार्ड की वेल्टरवेट बाउट में योशिहीरो “सेक्सी यम” अकियामा का सामना करेंगे।

पिछले 15 साल में दुनिया भर के बड़े शोज की हाई प्रोफाइल बाउट्स में अकियामा का जबरदस्त अनुभव रहा है लेकिन सर्कल और लॉक हॉर्न्स में कदम रखने के बाद “द शार्क” को लगता है कि उनके पास बराबरी से सामना करने का मौका होगा।

उन्होंने कहा, “वो काफी लंबे समय से इस खेल में हैं। वो काफी अनुभव के साथ एक मजबूत फाइटर बन गए हैं।”

“मुझे जिस वक्त ये ऑफर मिला कि अकियामा का सामना करना है, तभी मुझे पता चल गया था कि ये एक चुनौतीपूर्ण बाउट होने वाली है। वो एक अच्छे फाइटर हैं लेकिन पूरी तरह से सुसज्जित फाइटर नहीं हैं।”

अपने प्रतिद्वंदी की स्किल्स को लेकर मोहम्मद की राय सुनने के बाद थोड़ी हैरानी हो सकती है लेकिन वो ऐसा सिर्फ अपनी क्षमताओं को विकसित करने के बाद ही बोल रहे हैं।

अकियामा के पास जूडो स्किल्स का अच्छा हुनर है लेकिन “द शार्क” का मानना ​​है कि वो अपनी रेसलिंग, ग्राउंड एंड पाउंड के साथ उनके लिए खतरा बन सकते हैं। उनकी सबमिशन की तकनीकें “सेक्सी यामा” के लिए ज्यादा मुश्किलें पैदा करने में सक्षम होंगी। यही वजह है कि वो जापानी एथलीट से स्ट्राइकिंग की रणनीति के साथ सामने करने के लिए तैयार हैं।

मोहम्मद कहते हैं, “मुझे लगता है कि वो इस मैच को स्टैंड-अप बाउट बनाने की कोशिश करेंगे। ग्राउंड पर हम अच्छे हैं लेकिन मैं उनसे ज्यादा बेहतर हूं।”

“मुझे लगता है कि वो मेरे साथ दूर बनाकर बाउट करेंगे। इसकी बजाय वो अपने हाथों और किक्स के साथ सही समय पर जमीन पर उतरने के लिए तैयार रहेंगे।”



सर्कल में अकियामा अपने विरोधी के खिलाफ जो भी दृष्टिकोण अपनाएंगे, उसे EFC चैंपियन अपनी तकनीकों और प्रहारों से नाकाम करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

उन्होंने बताया, “काफी समय होने की वजह से मेरा ट्रेनिंग कैंप परफेक्ट रहा है। मैंने अपने सबसे अच्छे दोस्त मुस्तफा अब्देलसलाम के साथ ट्रेनिंग ली है, जो मिस्र के एक शानदार एथलीट हैं।”

“रेसलिंग में उनका वजन मेरे लिए चुनौतीपूर्ण था लेकिन उन्होंने मेरी मदद की। इसके अलावा, मैं अपने भाई (महमूद “एल डीप” मोहम्मद) के साथ ट्रेंड हुआ हूं और उन्होंने मुझे बहुत कुछ सिखाया है। उनकी सलाह मेरे लिए बहुत सिंपल थी- वो चाहते थे कि मैं अपनी स्ट्राइकिंग और जमीन पर किक्स को और बेहतर करूं।”

अच्छे मार्गदर्शन और एक सहयोगी टीम की मदद से काहिरा मूल के एथलीट “द लॉयन सिटी” में करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए उत्साहित हैं। हो सकता है कि उनके प्रतिद्वंदी के पूरी दुनिया में मार्शल आर्ट्स प्रशंसक ज्यादा हों लेकिन अगर प्रशंसकों ने उनकी क्षमता को नजरअंदाज किया तो भी मोहम्मद को कोई आपत्ति नहीं होगी क्योंकि वो बाउट में खुद को साबित करने के इरादे के साथ ही उतर रहे हैं।

नौ महीने तक मैचों से दूर रहने के बाद वो ये याद दिलाने के लिए उत्साहित है कि उन्होंने अफ्रीका में शीर्ष एथलीटों के बीच अपनी जगह बनाई थी। उनके बीच पहला स्थान हासिल करने के बाद उन्होंने दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किए थे।

एक पूर्व लाइवट हेवीवेट के रूप में मिस्र के एथलीट को विश्वास है कि वो सर्कल में एक नई ताकत के साथ आ रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि वो मैच को फिनिश करके अपने देशवासियों को गौरवांवित होने का मौका देंगे।

मोहम्मद कहते हैं, “मेरे पिछले हार ने मुझे इस बार जीतने के लिए और प्रेरित किया है।”

“मुझे लगता है कि मैं इस बाउट को दूसरे राउंड में ही फिनिश कर सकता हूं। मैं पहले दौर में अपने विरोधी को परखने के लिए समय लेना चाहता हूं।”

“मैं अपने परिवार, दोस्त और टीम के साथियों के लिए इस बाउट को जीतने की भरपूर कोशिश करूंगा। साथ ही मिस्र के लिए, ताकि उन्हें अपने देश के एथलीट पर गर्व हो सके।”

ये भी पढ़ें: मेई यागामुची को हराकर एंजेला ली को चुनौती देना चाहती हैं डेनिस ज़ाम्बोआंगा