न्यूज़

आंग ला न संग के खिलाफ बाउट करने को तैयार हैं रीनियर डी रिडर

रीनियर “द डच नाइट” डी रिडर का मानना है कि उन्होंने लिएंड्रो “वुल्फ” अटाईडिस के खिलाफ अपने करियर की सबसे बेहतरीन जीत दर्ज की है। उनका मानना है कि इसका अनुभव उन्हें ONE मिडलवेट वर्ल्ड चैंपियन आंग ला “द बर्मीस पाइथन” न संग का सामना करने में मदद करेगा।

नीदरलैंड्स के ब्रेडा के अपराजित ब्राजीलियन जिउ-जित्सु ब्लैक बेल्ट एथलीट ने पिछले शुक्रवार, 7 फरवरी को इंडोनेशिया के जकार्ता में ONE: WARRIOR’S CODE में पूर्व वर्ल्ड टाइटल चैलेंजर को हराकर टाइटल मैच हासिल किया।

डी रिडर को अपने करियर में पहली बार इतनी लंबी बाउट के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने 15 मिनट तक ब्राजीलियन एथलीट से संघर्ष किया। इस दौरान उन्हें विपरीत परिस्थितियों से उबरने की नई क्षमता मिली और खुद को लेकर एक नया विश्वास जागा। उन्हें कुछ जरूरी सबक भी मिले, जिनका इस्तेमाल वो एक मार्शल आर्टिस्ट के रूप में कर सकते हैं।

इस्तोरा सेनयन में “द डच नाइट” को रोमांचक मैच जीतने का मौका मिला तो उन्होंने खुलासा किया कि पहली बार निर्णय के माध्यम से जीत-हार तय होने पर कैसा लगता है। उन्होंने ये भी बताया कि जब उनका सामना “द बर्मीस पाइथन” से होगा तो वो किस तरह की योजना और अनुभव का इस्तेमाल उनको हराने में करेंगे।

ONE Championship: आप जकार्ता में हुए मैच और जीत के बारे में कैसा महसूस कर रहे हैं?

रीनियर डी रिडर: मेरे पास घर जाते वक्त प्लेन में इस बारे में सोचने का काफी समय था। इसके अलावा मेरे पास कोचों से बात करने के लिए भी कुछ समय था।

इस मैच के जरिए मैंने गहराई में जाकर अपनी सीमाओं को अच्छी तरह से जाना है। ये देखना चाहता था कि जीत हासिल करने के लिए मैं खुद को कितना आगे तक ले जा सकता हूं। बहुत सारी चीजें योजना के मुताबिक नहीं हो पाईं लेकिन लंबे समय तक मुकाबला करके जीत हासिल करना अच्छा अनुभव था।

ONE: आपने अपने करियर की पहली डिसिजन वाली जीत से क्या सीखा?

रीनियर डी रिडर: इसने मेरे बारे और मेरी तकनीक के बारे में बहुत कुछ सिखाया है।

इससे मिली सीख के बाद बहुत सी चीजें हैं, जो मैं अगले मैच में बेहतर करूंगा। बहुत सी ऐसी चीजें भी मेरे दिमाग में हैं, जिन पर मैं आगे काम करूंगा। हाल ही में जिम में था तो लगा कि मैं अभी बहुत कुछ नहीं कर सकता हूं। फिर भी मैं सारी चीजों को एडजस्ट करके सीखने और आंग ला का सामने करने के लिए तैयार होने को बेहद उत्साहित हूं।



ONE: अटाईडिस पहले दौर में मजबूत नजर आ रहे थे और उन्होंने आपके टेकडाउंस का अच्छी तरह से बचाव भी किया, उस वक्त आप कैसा महसूस कर रहे थे?

रीनियर डी रिडर: शुरुआती दो मिनट में उनका होंठ कट गया था और वो बहुत स्लिप करने लगे थे। मैंने जब उन्हें पकड़ने की कोशिश की तो वो फिसल रहे थे। इससे पहले मैंने इस तरह का कभी अनुभव नहीं किया था।

मुझे याद है कि दूसरा राउंड चल रहा था। मैंने उन्हें नीचे ले जाने की कोशिश की। उन्हें पकड़ भी लिया और वो कहीं जा भी नहीं रहे थे लेकिन वो थोड़ा सा हिले और मेरे हाथों से फिसल गए।

ONE: जैसे-जैसे बाउट आगे बढ़ती गई आप अधिक आत्मविश्वास से भरे नजर आने लगे और आपको ज्यादा सफलता भी मिली। ऐसा क्यों?

रीनियर डी रिडर: मेरे विरोधी थक गए थे और मैं भी। उन्हें मेरे टेकडाउन और क्लिंच का बचाव करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही थी। मैंने उनके शरीर पर बहुत से शॉट्स जड़े, बहुत बार घुटना मारा। मुझे लगता है कि इन चीजों ने मुझे स्कोर करने में मदद की।

इतना होने के बावजूद भी मुझे सावधान रहने की जरूरत थी क्योंकि वो बहुत ही खतरनाक एथलीट हैं। खासकर कि जब वो घुटनों से प्रहार करते हैं। मैं सतर्क था और जल्दबाजी नहीं करना चाहता था। मैंने उन पर सतर्कता के साथ प्रहार किए।

Holland's Reinier De Ridder takes aim at Leandro Ataides

ONE: उन्होंने आप पर कई हार्ड शॉट्स लगाए। मैच के दौरान उनकी ताकत का आपको कितना अंदाजा लगा?

रीनियर डी रिडर: उनकी ताकत अलग स्तर की है। वो टॉप के एथलीटों को बाहर कर चुके हैं, जिनमें विटाली बिगडैश जैसे बहुत से एथलीट हैं। हालांकि, वो मेरे खिलाफ अपने क्लीन शॉट इस्तेमाल नहीं कर पाए।

मैं हमेशा अपने सिर को मूव करता रहता था या उनके प्रहारों को निष्क्रिय करने के लिए कुछ न कुछ करता रहता था। मुझे खुशी है कि उनके प्रहारों को अपने चेहरे पर नहीं लेना पड़ा। वो बहुत मजबूत, ताकतवर और खूंखार हैं। उनके साथ जो अनुभव मिला, वो मुझे पहले कभी नहीं मिला था। अब भी वो मैच मेरे दिमाग में बसा हुआ है।

उनके हाथ नीचे थे इसलिए मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि शॉट्स कहां से आ रहे थे। मैंने सोचा था कि उन्हें जैब, क्रॉस या किसी और ट्रिक से हिट करूंगा लेकिन वो अपने बाएं और दाएं हाथ से प्रहार कर रहे थे, जो मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि कहां से आ रहे हैं।

आमतौर पर जब हाथ उठता है तो समझ में आ जाता है कि शॉट कहां से आ रहा है। मुझे इन शॉट्स से बचने के लिए बड़े हेड मूवमेंट के साथ जाना पड़ा। जिम में इस तरह से कोई नहीं लड़ता है, जो मेरे लिए बिल्कुल नया था। मुझे लगता है कि ये कुछ ऐसा है, जिस पर मैं काम कर सकता हूं।

ONE: ऐसी कौन सी खास चीज थी, जिसने आपको जीत हासिल करवाई?

रीनियर डी रिडर: मुझे लगता है कि मैंने विरोधी को ज्यादा नुकसान पहुंचाया। अगर फाइट दो या तीन मिनट और चलती तो मैं उन्हें फिनिश कर देता।

ONE: आप अपने प्रदर्शन से कितने संतुष्ट हैं?

रीनियर डी रिडर: ईमानदारी से कहूं तो मैं संतुष्ट नहीं था। मैं अपने विरोधी को फिनिश करना चाहता था ना कि डिसिजन के जरिए जीत हासिल करना चाहता था। मैं बाउट के बाद कुछ घंटों तक अपनी जीत पर खुश था लेकिन मैं इस बात को लेकर भी निराश था कि मैच फिनिश नहीं कर पाया।

हालांकि, अब मुझे उस मुकाबले के बारे में सोचकर अच्छा लग रहा है। ये परिणाम मेरे कुछ दिन काम और मेहनत करने के बाद आया। मैंने अपने कोचों से बात की। अब मुझे गर्व है कि मैंने मैच के दौरान दिलेरी दिखाई। मैं खुश हूं कि मैच में जो कुछ भी हुआ, उसके बावजूद मुझे जीत मिली।

मुझे खुशी है कि मैंने लंबे समय तक संघर्ष किया और आखिर राउंड तक मुकाबले में गया। हालांकि, ये मेरा सबसे बेहतरीन तकनीकी प्रदर्शन नहीं था। मैं इससे ज्यादा दिखाने में सक्षम हूं।

ONE: इस जीत के साथ आपने ONE मिडलवेट वर्ल्ड टाइटल के लिए आंग ला न संग के खिलाफ मैच हासिल किया है। आपके हिसाब से मैच कब होना चाहिए?

रीनियर डी रिडर: मुझे रिकवर होने के लिए कुछ हफ्तों की जरूरत है। उसके बाद मैं फिर तैयार हो जाऊंगा। उन्होंने जगह और समय चुनने का अधिकार हासिल किया है लेकिन मैं बस खुद को ठीक करना चाहता हूं। मैं जल्द ही फिर से मैच में वापसी करूंगा।

ONE: इस डिविजन के खतरनाक एथलीट को मात देने के बाद अगले मैच को लेकर कॉन्फिडेंट हैं?

रीनियर डी रिडर: अभी मैंने एक ऐसे एथलीट को पराजित किया, जिसने विटाली बिगडैश को नॉकआउट किया था। आंग ला भी बिगडैश को नॉकआउट नहीं कर पाए थे। उनके दो करीबी मैच थे तो आगे देखते हैं कि मैं आंग ला के साथ क्या कर सकता हूं।

ये भी पढ़ें: ONE: WARRIOR’S CODE के विजेताओं का अब किन एथलीट्स से सामना हो सकता है?