न्यूज़

Flashback Friday: हिमांशु कौशिक ने अपनी पहली नॉकआउट जीत को किया याद

Jul 10, 2020

हर किसी के लिए पहली जीत के मायने बेहद खास होते हैं। ये जीत तब और भी महत्वपूर्ण बन जाती है जब शुरुआती सफर में कुछ मुश्किलों और नाकामी का सामना करना पड़े।

???????? हिमांशु कौशिक VS एगी रोज़टेन ???????? – पूरा मैच रीप्ले

भारत के टॉप मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट Himanshu Kaushik ने पिछले साल ONE Championship में अपना पहला मैच धमाकेदार अंदाज़ में जीता! हिमांशु ने पहले ही राउंड में अपने इंडोनेशियन प्रतिद्वंद्वी, एगी रोज़टेन को 'नॉकआउट' कर यह बेमिसाल जीत अपने नाम की! देखिए इस मैच का पूरा रीप्ले: ????????

Posted by ONE Championship India on Wednesday, July 8, 2020

ONE Championship के भारतीय मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट हिमांशु कौशिक ने प्रोमोशन में अपनी पहली जीत बेहद ही शानदार अंदाज में हासिल की। 25 जून 2019 में हुए ONE: HERO’S ASCENT में कौशिक का सामना इंडोनेशिया के एगी रोज़टेन से हुआ और उन्होंने पहले ही राउंड में अपने विरोधी को नॉकआउट कर धमाकेदार अंदाज में अपनी जीत का खाता खोला।

ये जीत स्ट्रॉवेट डिविजन के स्टार के लिए बहुत मायने रखती है। इस जीत से पहले वो अपने शुरुआती मैच स्टेफ़र रहार्डियन और पूर्व ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन डेडामरोंग सोर अम्नोयसिरीचोक से हार चुके थे।

कई बार के नेशनल वुशु और कराटे चैंपियन ने कहा, “ये ONE Championship में मेरा तीसरा मैच था। इससे पहले जो मेरे दो मैच हुए थे, उनमें सबमिशन के जरिए हार का सामना करना पड़ा था। ऐसे में मुझे किसी भी हाल में वापसी करनी थी।”

हर कोई एथलीट अपनी पहली जीत को यादगार बनाना चाहता है, ऐसे में अगर जीत नॉकआउट से आ जाए तो ये सोने पर सुहागा वाली बात हो जाती है। दरअसल, उनकी नॉकआउट जीत कोई तुक्का नहीं थी बल्कि ये सालों की मेहनत और उनके पुराने रिकॉर्ड का नतीजा रही।

नॉकआउट जीत के बारे में इस स्टार ने बताया, “मैंने अपने एमेच्योर वुशु करियर में लगभग 30 से ज्यादा नॉकआउट किए हैं और यही मैं ONE Championship में करना चाहता था। अपने देश के लिए नॉकआउट से जीत हासिल करना मेरी जिंदगी का सबसे अच्छा अनुभव रहा।”

दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन में अपनी शुरुआती दो बाउट हारने के बाद कौशिक ने तीसरे मैच के लिए खास रणनीति बनाई थी।



इस बारे में उन्होंने कहा, “मैंने रोज़टेन की पिंडली पर अटैक और उनके अटैक पर काउंटर करने की प्लानिंग की थी। मैंने मैच के लिए जो रणनीति बनाई थी, उसे अच्छी तरह से अंजाम दे पाया।”

पहला राउंड खत्म होने में 1 मिनट 26 सेकंड का समय बाकी था, जिस समय कौशिक को जीत हासिल हुई।

जीत अपने नाम करने के बाद 27 वर्षीय स्टार खुशी से फूले नहीं समाए और सर्कल में भागकर जम्प लगाई और फिर दोनों हाथ हवा में लहराए।

उन्होंने बताया, “मैंने मैच जीतने के बाद अपनी जिंदगी के सबसे अच्छे पल का लुत्फ उठाया। उस फाइट के लिए जो भी त्याग किए थे, वो सब मेरे दिमाग में आ रहा था। मैं बहुत ही ज्यादा खास था और जोश से भरा हुआ था।”

Himanshu Kaushik

हार और जीत काफी कुछ सिखा देती है और जब जीत इतने धमाकेदार अंदाज में आए तो कई सारे पाठ भी पढ़ा जाती है।

भारतीय स्टार ने कहा, “मैंने जीत से सीखा कि जब आप जीतते हैं तो सारी दुनिया आपके साथ हो जाती है, वहीं हारने पर एकदम इसका उलट हो जाता है। ऐसे में किसी से भी ज्यादा उम्मीद नहीं रखनी चाहिए और जब भी सर्कल में मुकाबले के लिए उतरें तो हमेशा जीत के लिए ही कोशिश करनी चाहिए।

ये भी पढ़ें: पूर्व ONE वर्ल्ड चैंपियन के साथ बाउट करना चाहते हैं हिमांशु कौशिक