मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

ONE के स्टार्स ने माता-पिता से लेकर अच्छे अजनबियों को दिया हीरो वाला सम्मान

ONE Championship के एथलीट्स को अक्सर उनके फैंस और युवा मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट हीरो के रूप में देखते हैं लेकिन ये सुपरस्टार्स भी खुद के जीवन में अपने आदर्शों को सम्मान की नजर से देखते हैं।

फिर चाहे वो माता-पिता, सच्चाई के लिए लड़ने वाला शख्स, कोच या फिर कोई अजनबी ही क्यों ने हो क्योंकि असली हीरो तो किसी भी रूप में आ सकता है।

इन शानदार हस्तियों के बारे में आइए जानते हैं कई ONE Championship एथलीट्स से कि उनकी व्यक्तिगत जीवन यात्रा में इन हीरोज ने उन्हें किस तरह से प्रभावित किया।

युशिन “थंडर” ओकामी

Japanese mixed martial arts icon Yushin Okami wears the winner's medal

“मेरे पिता ही मेरे हीरो हैं। उनकी यादें मेरे दिमाग में स्पष्ट रूप से रहती हैं। जब भी मुझे परेशानी होती है तो मैं उन्हें याद कर लेता हूं।”

“छह साल पहले वो कैंसर के चलते गुजर गए थे। ये बीमारी बहुत तेजी से बढ़ी और टर्मिनल कैंसर का पता चलने के बाद केवल तीन महीने का ही समय हमें मिल पाया था।

“दिन के 24 घंटे उन्हें दर्द रहता था। इसने उन्हें मानसिक व शारीरिक तौर पर काफी नुकसान पहुंचाया था। मेरे पिता का सबसे मजबूत पहलू उनकी मजबूत काठी थी। हालांकि, दर्द बर्दाश्त के बाहर होने के चलते वो खुद चल भी नहीं पाते थे। डॉक्टर को दिखाने जाने के लिए उन्हें वीलचेयर का इस्तेमाल करना पड़ता था।

“इस हालात में होने के बावजूद उन्होंने डॉक्टर के सामने साफ तौर कह दिया था कि मैं सर्जरी करवाऊंगा। वो अपनी जिंदगी को और बढ़ना चाहते थे, भले ही वो काफी कम ही क्यों न हो। दर्द के बावजूद उन्होंने जीवन में हार नहीं मानी। न ही अपने लिए और न ही परिवार के लिए।

“जो बहादुरी उन्होंने दिखाई, वो मैं कभी नहीं भूल सकता हूं।

“वो सर्जरी के लिए नहीं जा पाए क्योंकि डॉक्टर ने तय किया कि उनकी बॉडी इसे झेल नहीं पाएगी। इसके बावजूद वो अंत तक मुस्कुराते रहे और दूसरों के प्रति सचेत बने रहे। वो दूसरों के लिए हमेशा अच्छा स्वभाव रखते थे। यहां तक कि जब उनकी हालत काफी खराब हुई तब भी।

“उन्होंने मुझे सिखाया है कि मैं उनके अनुभवों के जरिए कैसे अपना जीवन जी सकता हूं। इस वजह से अभी तक मैं अपने पिता से ज्यादा बहादुर व्यक्ति से नहीं मिला हूं।

जेहे “ग्रैविटी” युस्ताकियो

Filipino MMA fighter Geje Eustaquio training with Team Lakay head coach Mark Sangiao

“मेरे हीरो कोच मार्क सांगियाओ हैं।

“मैंने देखा है कि कैसे उन्होंने सामान्य को असामान्य में बदल दिया। ये एक स्पार्क से शुरू हुआ, जिसे हम पैशन कहते हैं। पैशन की वजह से उन्होंने चैंपियनों का एक दल तैयार कर दिया। ऐसे एथलीट्स जो मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में वर्ल्ड चैंपियंस हैं और कम्युनिटी में भी वर्ल्ड चैंपियंस हैं।

“वो मेरे लिए “संभावना” के एक उदाहरण हैं। उनके मुताबिक अगर पैशन और हार्ड वर्क है तो असंभव कुछ भी नहीं है। मैं सच में उनके पैशन और काम करने के तरीके से प्रभावित हूं। सही एटिट्यूड के साथ वो कुछ नहीं को काफी कुछ में बदल देते हैं। अगर आप सच में Team Lakay की शुरुआत को जानना चाहते हैं तो हमने कुछ नहीं से ही शुरू किया था।

“हमने सच में जीरो से ही शुरू किया था। हमारे पास कुछ मैट और एक छोटा सा जिम था। हमने सुधार शुरू किया और अब हमें पूरी दुनिया जानती है। हमने कई अलग-अलग संस्थाओं में सात वर्ल्ड चैंपियंस बनाए हैं।

“इस व्यक्ति के पहले के जीवन को देखना काफी प्रेरणा और प्रोत्साहन देता है। उन्होंने सच में उन पर शक करने वाले हर एक व्यक्ति को ये साबित करके दिखाया कि हार्ड वर्क और पैशन से आप असंभव को संभव कर सकते हैं। इस वजह से असंभव कुछ भी नहीं है।”



हिरोयुकी “लास्ट समुराई” टेटसुका

Japanese mixed martial artist Hiroyuki Tetsuka

“जब मैं 20 साल का था, तब मैंने टोक्यो स्टेशन पर दो लोगों को लड़ते हुए देखा था, जिसमें से एक के पास चाकू था। उस आदमी ने चाकू वाले को ढेर कर दिया और पुलिस को बुला लिया। हालांकि, उसे भी कई जगह चोटें लग गई थीं।

“मैं इस घटना को करीब पांच मीटर की दूरी से देख रहा था। मैं बहुत शर्मिंदा हुआ क्योंकि मैं बस खड़ा देख रहा था और कुछ कर भी नहीं पा रहा था।

“अगर ऐसा फिर हुआ तो मैं अपनी जिंदगी जोखिम में डालकर दूसरों की मदद करना चाहूंगा। हालांकि, ऐसा करने में मुझे डर लगेगा।”

शोको साटो

Shooto Bantamweight World Champion Shoko Sato enters the Mall Of Asia Arena

“मेरे हीरो वो हैं, जिन्होंने अपनी पोजिशन को देखे बिना संस्था में हो रही चीजें, जो उन्हें गलत लगीं, उसके खिलाफ अपनी आवाज उठाई।

“या फिर किसी बुजुर्ग व्यक्ति को सामान लेकर चढ़ने में मदद की, जबकि वहां दूसरे लोग भी मौजूद होंगे, जो ऐसा करने में हिचकिचा रहे होंगे।

“ऐसे लोगों को देखने के बाद मेरी कोशिश उनके जैसा बनने की होती है।”

क्रिश्चियन “द वॉरियर” ली

The first sibling World Champions in mixed martial arts history, Angela and Christian Lee

“अगर आप मेरी बात करें तो मैं कहूंगा कि फाइट गेम में सबसे बहादुरी का काम मेरी बहन ने किया है।

“अपने दूसरे टाइटल डिफेंस में जाने पर वो इस्टेला नुनेज के खिलाफ बचाव करने के लिए 115 पाउंड (52.2 किलोग्राम) की भी नहीं रह गई थीं।

“मैच वाले सप्ताह में वो काफी बीमार पड़ गईं और अस्पताल में भर्ती हो गईं। डॉक्टर ने बताया कि उन्हें निमोनिया हुआ है। उन्हें एंटीबायोटिक्स लेनी पड़ रही थीं। इससे चीजें काफी मुश्किल हो गई थीं क्योंकि वो पानी का ही ज्यादा सेवन कर रही थीं।

“वो अपना वेट मैनेज कर पाईं और बाउट के लिए गईं। दूसरे राउंड में उन्होंने एनाकोंडा चोक से अपने विरोधी को हरा दिया था। किसी फाइट गेम में ये बहादुरी का सबसे बड़ा प्रदर्शन था और इसके लिए मैं उन्हें शाबाशी देता हूं।

“ONE Championship के चेयरमैन और सीईओ चांट्री सिटयोटोंग ने उनसे कहा था कि उन्हें बाउट के लिए जाने की जरूरत नहीं है लेकिन वो बाउट चाहती थीं, फिर चाहे कुछ भी हो। इसके लिए मैं उन्हें काफी सारा क्रेडिट दूंगा।”

“अनस्टॉपेबल” एंजेला ली

Angela Lee with her mother, her father, her brother Christian, and her husband Bruno Pucci

“काफी सारे लोगों के सेलेब्रिटी हीरोज और बढ़ते जा रहे थे लेकिन मेरे लिए वो हमेशा माता-पिता ही थे।

“उन्हें हमारे लिए कड़ी मेहनत करते देखना, हमारा खयाल रखना और हमारे लिए सबसे अच्छा चाहने की वजह से ही हमें इतनी बेहतर जिंदगी मिल पाई है। जो जिंदगी आज हम जी रहे हैं, वो उनके कड़े परिश्रम व त्याग की ही बदौलत है। इस वजह से वो ही मेरे असली हीरोज हैं।”

ये भी पढ़ें: रॉबिन कैटलन के भाई रेने क्यों हैं उनके हीरो