मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

ONE Championship में सिंगापुर के एथलीट्स की सबसे शानदार जीत

सिंगापुर थोड़े ही समय में एशियाई मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स का गढ़ बन गया है।

पिछले कुछ सालों में “द लॉयन सिटी” के कई एथलीट्स उभर कर सामने आए हैं, कुछ यादगार मैच जीतने में सफल रहे तो कुछ ने वर्ल्ड टाइटल भी जीते हैं।

इन एथलीट्स ने नई पीढ़ी के मार्शल आर्टिस्ट्स को सफलता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया और खुद ONE Championship में निरंतर सफल हो रहे हैं।

यहां आप सिंगापुर के एथलीट्स द्वारा ग्लोबल स्टेज पर हासिल की गईं सबसे शानदार जीत पर नजर डाल सकते हैं।

ली ने साबित किया कि उन्हें “अनस्टॉपेबल” क्यों कहा जाता है

ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड चैंपियन “अनस्टॉपेबल” एंजेला ली ONE में काफी संख्या में यादगार जीत हासिल कर चुकी हैं। लेकिन उनकी सबसे बड़ी जीत मई 2017 में हुए ONE: DYNASTY OF HEROES में 2 बार की मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन इस्टेला नुनेज के खिलाफ आई।

सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में हुए मैच से ठीक पहले तो एटमवेट क्वीन बिल्कुल ठीक नजर आ रही थीं लेकिन करीब एक सप्ताह पहले उन्हें निमोनिया हो गया था। यहां तक कि मैच से कुछ मिनट पहले तक वो लॉकर रूम में लगातार उल्टी कर रही थीं।

स्वास्थ्य अच्छा ना होने के बाद भी “अनस्टॉपेबल” उस इवेंट में खुद को एक बेहतर चैंपियन साबित करना चाहती थीं और उन्हें नुनेज के खिलाफ ऐसा करने में सफलता भी मिली।

ली ने पहले राउंड में अपनी ब्राजीलियाई प्रतिद्वंदी के करीब रहकर उनके मॉय थाई अटैक से खुद का बचाव किया और उन्हें हेडलॉक टेकडाउन कर ग्राउंड पर ला दिया था। नुनेज ने इससे निकलने की कोशिश की लेकिन “अनस्टॉपेबल” ने उनकी बैक को निशाना बनाया और यहां तक कि ट्विस्टर लगाने का प्रयास भी किया।

दूसरे राउंड में नुनेज ने आक्रामक अंदाज में स्ट्राइक्स लगानी शुरू कर दी थीं लेकिन ली ने उनकी लेग किक को पकड़ उन्हें मैट पर ला दिया। ब्राजीलियाई एथलीट ने वापस अपने पैरों पर खड़े होने की कोशिश की मगर ली ने उन्हें हेडलॉक पोजिशन में जकड़ा, एनाकोंडा चोक लगाया और अपनी प्रतिद्वंदी के सिर पर नी स्ट्राइक्स लगाईं।

आखिर में ली ने आउटसाइड लेग ट्रिप लगाई जिससे नुनेज एक बार फिर मैट पर जा गिरीं और सिंगापुर की स्टार एथलीट ने यहां से अपनी पकड़ कमजोर नहीं होने दी और नुनेज ने टैप आउट कर दिया।

‘द वॉरियर’ ने लैजेंड को चौंकाते हुए वर्ल्ड टाइटल जीता

ऐसा लग रहा था कि परिस्थितियां क्रिश्चियन “द वॉरियर” ली के अनुकूल नहीं हैं।

मई 2019 में हुए ONE: ENTER THE DRAGON में सिंगापुर के स्टार ने फेदरवेट डिविजन से लाइटवेट डिविजन में जाकर उस समय के ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन शिन्या “टोबीकन जुडन” एओकी को चैलेंज किया था।

हालांकि, इससे पहले Evolve में ये दोनों एकसाथ ट्रेनिंग कर चुके थे, ली को जल्द ही ये आभास हो चुका था कि उनके दोस्त ने उन्हें वो सब कुछ नहीं सिखाया जो वो जानते थे।

मैच शुरू होने के कुछ ही सेकंड बाद एओकी ने टेकडाउन का प्रयास किया और होमटाउन हीरो को मैट पर ला दिया। एक तरफ ली एओकी की पकड़ से बचने का प्रयास कर रहे थे लेकिन “टोबीकन जुडन” ने अपने प्रतिद्वंदी के मोमेंटम का प्रयोग कर उन पर आर्मबार लगाया। जापानी लैजेंड अलग-अलग पोजिशन में रहकर “द वॉरियर” के हाथ को खूब क्षति पहुंचा रहे थे लेकिन ली किसी तरह उस राउंड में हार से बचने में सफल रहे।

दूसरे राउंड में ली उस दर्द को भुलाते हुए पहले से कहीं अधिक प्रतिबद्ध नजर आए। उन्होंने खुद को एओकी के टेकडाउन के प्रयासों से बचाया, उन्हें कॉर्नर की तरफ धकेला और चौंकाते हुए राइट क्रॉस और जबड़े पर स्ट्रेट लेफ्ट लगाया।

“द वॉरियर” ने मौके का फायदा उठाते हुए कमजोर पड़ रहे लैजेंड पर अटैक करना जारी रखा, जिससे रेफरी को अंत में मैच को रोकना पड़ा और ली को नया ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन घोषित किया।



खान ने पूर्व वर्ल्ड चैंपियन को सबमिशन से हराया

ONE Championship के इतिहास में सबसे अधिक नॉकआउट फिनिश के मामले में अमीर खान और क्रिश्चियन ली संयुक्त रूप से पहले स्थान पर मौजूद हैं। लेकिन सितंबर 2018 में हुए ONE: BEYOND THE HORIZON में खान का जबरदस्त सबमिशन गेम देखने को मिला था।

सिंगापुर के स्टार ने पूर्व ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन होनोरियो “द रॉक” बानारियो को कड़ी चुनौती दी, जो इससे पहले लगातार 5 मैचों में जीत दर्ज कर चुके थे।

पहले ऐसा प्रतीत हो रहा था कि फैंस को 2 नॉकआउट आर्टिस्ट्स के बीच जबरदस्त एक्शन से भरपूर मैच देखने को मिलने वाला है। पहले 2 मिनट में दोनों ओर से दमदार अटैक देखने को मिला लेकिन जैसे ही फिलीपीनो वुशु स्टाइलिस्ट ने आगे आकर कॉम्बिनेशन लगाने की कोशिश की, तभी खान ने नीचे झुककर शानदार अंदाज में डबल-लेग टेकडाउन किया।

हालांकि, बानारियो वापस अपने पैरों पर खड़े होने में सफल रहे और दोबारा कॉम्बो लगाने का प्रयास किया, वहीं खान Team Lakay के अपने प्रतिद्वंदी को मैट पर लाने के किसी भी मौके को व्यर्थ नहीं जाने देना चाहते थे। “द रॉक” ने सिंगल-लेग टेकडाउन से तो बचाव कर लिया लेकिन खान ने उनकी बैक को निशाना बनाते हुए आखिरकार उन्हें ग्राउंड गेम में लाने में सफलता पाई।

सिंगापुर के स्टार एथलीट ने रीयर-नेकेड चोक लगाने का प्रयास किया लेकिन बानारियो ने शानदार अंदाज में खुद को डिफेंड किया। खान ने चपलता के साथ फिलीपीनो स्टार के बाएं हाथ पर अपने बाएं पैर से पकड़ बनाई। जैसे ही “द रॉक” ने इससे निकलने की कोशिश की तभी Evolve टीम के प्रतिनिधि ने अपना दायां हाथ उनकी चिन के नीचे घुसा दिया।

खान ने चोक लगाया और जब तक उनके प्रतिद्वंदी ने टैप आउट नहीं कर दिया तब तक अपनी पकड़ कमजोर नहीं होने दी।

टियो ने मियूरा के ग्रैपलिंग अटैक का डटकर सामना किया

टिफनी “नो चिल” टियो ने इस साल फरवरी में हुए ONE: KING OF THE JUNGLE में थर्ड-डिग्री ब्लैक बेल्ट जूडो आर्टिस्ट अयाका मियूरा को हराकर ये साबित कर दिया था कि वो दुनिया की बेस्ट विमेंस स्ट्रॉवेट मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट्स में से एक हैं।

हालांकि, मियूरा ने अपनी प्रतिद्वंदी को ग्राउंड गेम में लाने में सफलता पाई और स्कार्फ-होल्ड पोजिशन में आने का प्रयास किया और उसके बाद अपना ट्रेडमार्क अमेरिकाना लगाना चाहा। लेकिन टियो ने अपने हाथों से जापानी स्टार की कमर को पकड़ा और उन्हें धकेलते हुए अपने पैरों पर खड़ी होने में सफल रहीं।

मियूरा का ग्रैपलिंग अटैक अभी भी जारी था और निरंतर स्कार्फ-होल्ड अमेरिकाना और आर्म-ट्रायंगल चोक लगाने के प्रयास करती नजर आ रही थीं। “नो चिल” ने शानदार अंदाज में इस ग्रैपलिंग अटैक के खिलाफ खुद को डिफेंड किया।

टियो का डिफेंस दूसरे राउंड में और भी बेहतर स्थिति में आ पहुंचा और जब मियूरा ने “नो चिल” के हाथ को जकड़ा और टेकडाउन का प्रयास किया तो इस दौरान वो अपनी बैक टियो की तरफ कर बैठीं। सिंगापुर की स्टार ने एक हाथ से पकड़ बनाई और दूसरे हाथ से चेहरे पर अटैक करना शुरू कर दिया। जापानी एथलीट थकने लगी थीं, इसलिए टियो की मैच में स्थिति और भी बेहतर होती जा रही थी। उन्होंने मियूरा पर हेड किक्स, लेग किक्स, जैब, लेफ्ट हुक्स और स्ट्रेट राइट लगाए।

तीसरे राउंड में “नो चिल” को एक बार फिर मियूरा के टेकडाउन प्रयासों को विफल करने में सफलता प्राप्त हो रही थी और साथ ही स्ट्राइक्स से उन्हें खूब क्षति पहुंचाई। मैच के आखिरी क्षणों में मियूरा द्वारा सिंगल-लेग टेकडाउन का प्रयास उन्हीं पर भारी पड़ा। टिफनी ने खुद को बचाया, सिर और बॉडी पर पंच और एल्बो लगानी शुरू कर दीं और आखिर में रेफरी को मैच को समाप्त करने की पुष्टि करनी पड़ी।

“माइटी” का यादगार डेब्यू

It's not over till it's over.

It's not over till it's over. Singapore | 24 November | TV: Check local listings for global broadcast | PPV: Official Livestream at oneppv.com | Tickets: http://bit.ly/onepursuit17

Posted by ONE Championship on Tuesday, November 14, 2017

“माइटी” मे ओई को ग्लोबल स्टेज पर अपने डेब्यू मैच में ही कड़ी चुनौती से पार पाना था।

अगस्त 2017 में हुए ONE: QUEST FOR GREATNESS में मे ओई ने एन ओस्मान के खिलाफ अपना प्रोमोशनल डेब्यू किया। 41 साल की उम्र में भी “माइटी” अपनी प्रतिद्वंदी पर भारी पड़ीं और एक ही राउंड में उन्हें फिनिश भी किया।

शुरुआत में ओस्मान को बढ़त हासिल हुई। मलेशियाई एथलीट ने दमदार ओवरहैंड राइट लगाकर उन्हें मैट पर गिराने में सफलता पाई और ग्राउंड एंड पाउंड अटैक करना शुरू कर दिया।

ओई ने अपना धैर्य नहीं खोया और एक बार फिर अपने पैरों पर खड़ी होने में सफल रहीं लेकिन ओस्मान ने उन्हें क्लिंचिंग गेम में घेरा हुआ था। उन्हें सर्कल वॉल की तरफ धकेला और मौका मिलते ही नी स्ट्राइक्स से क्षति पहुंचानी शुरू कर दी।

अभी मैच शुरू हुए 2 ही मिनट हुए थे तभी पासा पलटा हुआ नजर आया। सिंगापुर की स्टार एथलीट ने ओस्मान के ही मोमेंटम की मदद से उन्हें ग्राउंड पर गिराने में सफलता पाई। उसके बाद ओई को साइड कंट्रोल प्राप्त हुआ और सिर पर एल्बो लगानी शुरू कर दीं, लेकिन ओस्मान अपने पैरों पर वापस खड़ी होने में सफल रहीं और “माइटी” को सर्कल वॉल की तरफ धकेलना जारी रखा।

लेकिन ओई ने अपने हाथों की मदद से मलेशियाई एथलीट से सर्कल वॉल से दूर किया, नीचे गिराया और उनकी बैक को निशाना बनाया। यहां से उन्हें अपनी जिउ-जित्सु स्किल्स का लाभ मिला और रीयर-नेकेड चोक लगाते हुए जीत दर्ज की।

ये भी पढ़ें: ONE Championship में मलेशियाई एथलीट्स की सबसे शानदार जीत