मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

रॉबिन कैटलन के भाई रेने क्यों हैं उनके हीरो

रॉबिन “द इलोंगो” कैटलन के जीवन में कई रोल मॉडल रहे हैं लेकिन उनमें से किसी का भी प्रभाव उनपर बड़े भाई रेने “द चैलेंजर” कैटलन जितना नहीं पड़ा।

फिलीपींस के मनीला से आने वाले 29 साल के एथलीट अपने भाई को बचपन से ही देखते आ रहे हैं और मार्शल आर्ट्स में भाई की सराहना ही उनकी सफल शुरुआत का कारण बनी।

हालांकि, उनके इस खेल में आने के लिए सिर्फ रेने पूरी तरह से जिम्मेदार नहीं हैं। इलोइलो के सांता बारबरा में गुजरे बचपन में उनके दिवंगत पिता, पूर्व बॉक्सर जो फिलीपीनो शैली के मार्शल आर्ट्स डोस पारेस का अभ्यास किया करते थे, ने अपने 12 बच्चों में से 8 को मार्शल आर्ट्स में करियर बनाने के लिए प्रेरित किया था।

“द इलोंगो” को उनके एक अन्य भाई ने शुरुआती ट्रेनिंग दी थी लेकिन उन्होंने रेने के नक्शे-कदम पर चलने का फैसला किया और अपने देश का प्रतिनिधित्व किया

उन्होंने बताया, “रेने तब से मेरे रोल मॉडल हैं, जब वो केवल बॉक्सिंग ही किया करते थे।”

“उसके बाद रेने ने वुशु की ट्रेनिंग शुरू की और मैं भी उन्हीं के रास्ते पर चल दिया। फिर वो वर्ल्ड चैंपियन बन गए और मैं उनकी और ज्यादा तारीफ करने लगा। मैंने अपने पहले राष्ट्रीय वुशु प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता और नेशनल टीम में जगह पा ली, जहां मैंने रुएल और रेबिन के साथ जॉइन किया।”

रॉबिन ने इसके बाद नए खेल पर भी ध्यान दिया और 2011 में वो राष्ट्रीय और IFMA मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन बन गए। उन्होंने अपना ध्यान फिर कहीं और लगाया और अपने भाई के साथ मनीला आ गए, जहां 2012 में “द चैलेंजर” ने कैटलन फाइटिंग सिस्टम (सीएफएस) की स्थापना की।



रॉबिन ने बताया, “वो मेरे लिए पिता की तरह हैं।”

“वो मुझे बेहतर फैसले लेने में मेरी मदद करते हैं। उन्होंने मुझे बताया था कि अगर मैं ध्यान दूंगा तो मार्शल आर्ट्स में करियर की ऊंचाई पर पहुंच सकता हूं। अगर मैं अपने प्रांत में ही रहता तो शायद फसल बो रहा होता या कंस्ट्रक्शन का काम कर रहा होता या पता नहीं क्या कर रहा होता।”

जब वो नई जगह आए तो पूरा ध्यान मार्शल आर्ट्स पर लगाने लगे। अगस्त 2012 में नए खेल में अपने करियर की शुरुआत की।

हालांकि, “द चैलेंजर” ONE Championship में कैटलन फाइटिंग सिस्टम से डेब्यू करने वाले पहले प्रतिनिधि थे, जब वो अप्रैल 2013 में ONE: KINGS AND CHAMPIONS में दिखाई दिए थे।

प्रोफेशनल के तौर पर पांच जीत हासिल करने के बाद रॉबिन को अपने मेंटर के साथ 2016 में ग्लोबल स्टेज जॉइन करने का मौका मिला। इसमें उनका डेब्यू काफी निराशाजनक रहा, जब उन्हें एलेक्स “लिटल रॉक” सिल्वा से पहले ही राउंड में मात खानी पड़ी थी।

निराशाजनक परिणाम के बावजूद वो ज्यादा हतोत्साहित नहीं हुए थे। रेने को भी इसी तरह का परिणाम, इसी विरोधी से अपनी पहली बाउट में झेलने पड़ा था। “द चैलेंजर” अपने अगले दो मुकाबलों में भी जीत नहीं दर्ज कर पाए लेकिन उन्होंने जीत की तलाश जारी रखी।

इसके बाद उन्होंने हैरतअंगेज रूप से वापसी करते हुए छह बाउट लगातार जीतीं। इसने उन्हें फिलीपीनो मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के इतिहास की सबसे बड़ी बाउट दिला दी। पिछले साल नवंबर में हुए ONE: MASTERS OF FATE के मेन इवेंट में उनका मुकाबला हमवतन जोशुआ “द पैशन” पैचीओ से ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड टाइटल के लिए हुआ।

लचीलापन, वापसी करने की क्षमता और फिर से जीत की दौड़ में शामिल होना रॉबिन के लिए काफी प्रेरणादाई साबित हुआ। वो फिर से वापस आए और उन्होंने जेरेमी “द जैगुआर” मिआडो के खिलाफ जीत हासिल करके दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन में पांच में से पहली जीत पाई।

रॉबिन ने बताया, “वो हमेशा मेरे लिए प्रेरणा रहे हैं।”

“लोगों ने मेरे भाई को पुराने और थके हुए फाइटर के तौर पर देखा था और फिर वो जीत की राह पर चल पड़े। मैंने उनमें जीत की ललक देखी है। उनके पास अब भी काबिलियत है, जिसे वो अपने तजुर्बे के साथ इस्तेमाल करते हैं।”

जिम के बाहर दोनों भाई काफी करीब हैं और एक-दूसरे की मदद के लिए तैयार रहते हैं, पर वो अब भी छोटी-छोटी चीजों पर लड़ा करते हैं। हालांकि, जब ट्रेनिंग की बारी आती है तो उनका रिश्ता पूरी तरह प्रोफेशनल हो जाता है।

सीएफएस की दीवारों के पीछे अगर आप हेड कोच से संबंध रखते हैं तो ट्रेनिंग पर ध्यान देने के अलावा किसी चीज के लिए समय नहीं बचता है। रॉबिन को इसका बुरा नहीं लगता क्योंकि वो बाकी एथलीट्स से ज्यादा मेहनत करते हैं।

Robin Catalan celebrates his win against Gustavo Balart

वो ये साफ तौर पर नहीं कह सकते कि रॉबिन को रेने बेहद थका देने वाला काम कराते हैं। ये उनका अपने छोटे भाई के प्रति प्यार और विश्वास दिखाने का तरीका है।

रॉबिन कहते हैं, “वो चाहते हैं कि हम अपने जीवन में ऊंचा उठें इसलिए ज्यादा मेहतन करते हैं।”

“रेने मुझे तैयार करने के लिए ज्यादा जोर देते हैं क्योंकि मैं उनका छोटा भाई हूं। वो अपने छात्रों को मेरा उदाहरण देते हैं। ये बात वो मुझसे सीधे तौर पर नहीं कहते लेकिन मुझे उनके स्टूडेंट्स से पता चला कि वो मुझ पर ज्यादा जोर क्यों देते हैं। वो मुझे सफल होते हुए देखना चाहते हैं।”

ये भी पढ़ें: 13 बातें जो आप ONE हेवीवेट वर्ल्ड चैंपियन ब्रेंडन वेरा के बारे में नहीं जानते होंगे