किकबॉक्सिंग

ONE 163 के 5 सबसे यादगार पल

नवंबर 22, 2022
Roman Kryklia Iraj Azizpour ONE163 1920X1280 97 1200x798

एक बार फिर सिंगापुर इंडोर स्टेडियम ने शनिवार, 19 नवंबर को ONE 163: Akimoto vs. Petchtanong में ONE Championship स्टार्स की मेजबानी की।

लीड कार्ड से ही जबरदस्त एक्शन की शुरुआत हो गई थी, जो अंत तक बरकरार रहा क्योंकि 6 मेन कार्ड के मुकाबलों में से 5 तकनीकी नॉकआउट के जरिए खत्म हुए थे।

फैंस को “द लॉयन सिटी” में पूरी शाम फाइटर्स का जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। इसका बड़ा परिणाम पेटटानोंग पेटफर्गस द्वारा हिरोकी अकिमोटो को पराजित करते हुए ONE बेंटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड टाइटल जीतकर सामने आया।

आइए एक बार फिर ONE 163 के जोरदार मुकाबलों पर नजर फेर लेते हैं, जहां ग्लोबल स्टेज पर फैंस को रोलर-कोस्टर राइड जैसी रोमांचक बाउट्स देखने को मिलीं। इनमें से 5 सबसे बड़ी हाइलाइट्स के बारे में जान लेते हैं।

क्रीकलिआ ने शानदार वापसी के साथ ग्रां प्री जीती

ऐसा लग रहा था कि जैसे ONE हेवीवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप का फाइनल सीधे किसी हॉलिवुड फिल्म की स्क्रिप्ट से उठाया गया था।

इस मैच में ऊंचे स्तर के स्ट्राइकर्स के बीच एक ट्रायलॉजी बाउट देखने को मिली, जो एक-दूसरे को पराजित करने वाले आखिरी एथलीट थे। आखिरकार ONE 163 में वर्तमान ONE लाइट हेवीवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन रोमन क्रीकलिआ ने सीरीज पर कब्जा जमाते हुए सिल्वर बेल्ट अपने नाम कर ली।

इस बहुप्रतीक्षित मुकाबले में जीत बिना नाटकीय अंदाज के संभव नहीं हो सकी। 6 फुट 7 इंच लंबे किकबॉक्सिंग बीस्ट के चौंका देने वाले हमलों के बाद ईरानी फाइटर इराज अज़ीज़पोर ने पहले राउंड के अंत में करीब-करीब क्रीकलिआ को फिनिश कर ही दिया था।

हालांकि, क्रीकलिआ को इससे कोई फर्क नहीं पड़ा और वो दूसरे राउंड में और अधिक आक्रामक हो गए। उनके जोरदार हमलों ने उनके प्रतिद्वंदी के हौसलों को तोड़ दिया। ऐसे में जब उनके विरोधी कमजोर पड़ने लगे तो यूक्रेनियाई फाइटर ने जीत को अपने पाले में लाने के लिए और जोर लगाना शुरू कर दिया।

जैसे ही इराज अज़ीज़पोर ने सर्कल की दीवार पर अपनी पीठ की, वैसे ही क्रीकलिआ क्लिंच का इस्तेमाल कर आगे बढ़े और चेहरे पर नी से हमला कर उनको झकझोर दिया। इसके बाद तुरंत ही लेफ्ट हुक-राइट हुक कॉम्बिनेशन लगाते हुए विरोधी को कैनवास पर गिरने के लिए मजबूर कर दिया।

हालांकि, ईरानी फाइटर ने इतनी जल्दी हार नहीं मानी और 8 तक की गिनती पर किसी तरह उठ खड़े हुए लेकिन क्रीकलिआ ने जल्दी से उन पर और भी जोरदार हमले किए। इसके बाद उन्होंने दूसरे राउंड के 1:28 सेकेंड पर बाउट को तकनीकी नॉकआउट के माध्यम से फिनिश करके अपनी जीत पर मुहर लगा दी।

बदले की आग से भरे इस मुकाबले का परिणाम क्रीकलिआ के लिए बहुत सुखद अनुभव लेकर आया। क्रीकलिआ ने इस तरह अपने पुराने प्रतिद्वंदी को पराजित किया और 50,000 यूएस डॉलर्स का परफॉर्मेंस बोनस भी हासिल कर सिल्वर बेल्ट को अपने हेवीवेट किकबॉक्सिंग खिताब के साथ जोड़ लिया।

एओकी को शिकस्त देकर इज़ागखमेव ने वर्ल्ड टाइटल रेस में अपना नाम आगे बढ़ाया

सायिद इज़ागखमेव ONE Championship में आने के बाद से ही क्रिश्चियन ली की लाइटवेट MMA बेल्ट को चुनौती देने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध नजर आ रहे हैं। शनिवार को पूर्व डिविजनल किंग शिन्या एओकी को पहले राउंड में धमाकेदार अंदाज में फिनिश करने के साथ सायिद वर्ल्ड टाइटल शॉट के लिए कतार में आ गए हैं।

हालांकि, जापानी MMA दिग्गज ने इज़ागखमेव पर शुरुआती घंटी बजने के साथ ही किक्स बरसानी शुरू कर दी थीं, लेकिन रूसी एथलीट बिना डरे आगे बढ़ते रहे और उनके चेहरे को निशाना बनाते रहे। एओकी को लगातार पीछे हटने के लिए मजबूर करते हुए वो उन्हें सर्कल की दीवार की ओर ले गए, जहां से बच निकलने के लिए विरोधी के पास कोई जगह नहीं बची।

जैसे ही एओकी अपने प्रतिद्वंदी के सामने आए इज़ागखमेव ने ओवरहैंड राइड के रूप में सीधे एक मिसाइल छोड़ते हुए उन्हें रौंद दिया। इसके साथ हेवी ग्राउंड-एंड-पाउंड अटैक तब तक चलाते रहे, जब तक मुकाबले को रोक नहीं दिया गया।

खबीब नर्मागोमेदोव के शिष्य ने 86 सेकंड में तकनीकी नॉकआउट के साथ अपने प्रोफेशनल रिकॉर्ड को 22-2 कर लिया है। साथ ही उन्होंने 50,000 यूएस डॉलर्स का परफॉर्मेंस बोनस भी प्राप्त किया। हालांकि, इन सबसे इतर इज़ागखमेव का सबसे बड़ा पुरस्कार टाइटल शॉट के रूप में हो सकता है, जो आने वाला वक्त ही तय करेगा।

आंग ला न संग फिर से लौटे अपने पुराने अंदाज में

आंग ला न संग के सर्कल में आने के बाद से ही उनके चाहने वालों की भीड़ जबरदस्त तरीके से उमड़ने लगी थी। पूर्व 2-डिविजन ONE वर्ल्ड चैंपियन ने भी अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया। उन्होंने युशिन ओकामी के खिलाफ पहले राउंड में जोरदार ढंग से तकनीकी नॉकआउट से जीत हासिल कर अपने प्रशंसकों के चेहरे पर मुस्कान बिखेर दी।

“द बर्मीज़ पाइथन” ने शुरुआती टेकडाउन का सफलतापूर्वक बचाव किया और टॉप से अपना नियंत्रण हासिल करके बेहतरीन ग्रैपलिंग का प्रदर्शन किया। इसके बाद तुरंत ही वो अपने पैरों पर खड़े हो गए और उन्होंने वो करके दिखाया, जो सबसे बेहतर कर लेते हैं, यानी कि ताबड़तोड़ स्ट्राइकिंग।

जैसे ही युशिन ओकामी को महसूस होने लगा कि आंग ला न संग के हाथों से जोरदार पंच निकल रहे हैं तो उन्होंने एक और टेकडाउन की कोशिश कर डाली। हालांकि, इस बार उनका सामना म्यांमार के सुपरस्टार की राइट नी से हो गया था।

ये पता चलते ही कि जापानी दिग्गज को चोट लग गई है, आंग ला न संग ने अपना ग्राउंड-एंड-पाउंड तब तक जारी रखा, जब तक रेफरी हर्ब डीन ने बीच में आकर बाउट को रोक नहीं दिया।

इस महत्वपूर्ण जीत ने लंबे समय तक ONE Championship के सुपरस्टार रहे एथलीट को फिर से अपने स्टाइल में वापस लौटा दिया। साथ ही शुरुआती दिनों में आंग ला की MMA प्रेरणा रहे फाइटर्स में से एक को हराकर कभी ना भूलने वाला पल भी दे दिया।

फ्लाइवेट रैंकिंग्स में जगह बनाने के लिए वू ने वाकामत्सु को चौंका दिया

अगर किसी को लगता था कि #3 रैंक के फ्लाइवेट MMA कंटेंडर युया वाकामत्सु आसानी से वू सुंग हूं से मुकाबला करके उन्हें पराजित कर देंगे तो शायद वो उन्हें दक्षिण कोरियाई फाइटर के टैलेंट के बारे में बताना भूल गए होंगे।

शुरुआत से ही वाकामत्सु भारी हमले करके संतुष्ट नजर आ रहे थे, लेकिन जल्द ही उन्हें पता चल गया कि अपने विरोधी “डायनामिक” के साथ खड़े रहकर मुकाबला करना उनके लिए आग से खेलने जैसा होगा। जैसे ही “लिटल पिरान्हा” ने स्ट्राइकिंग के लिए आगे कदम बढ़ाया तो इस पर वू ने दमदार स्ट्रेट राइट चला दिया, जिससे उन्हें और अधिक हमले करने का प्रोत्साहन मिल गया।

उस पल के बाद से दक्षिण कोरियाई फाइटर बिना रुके आगे बढ़ते गए और एक के बाद एक पंचों से हमला करते गए। आखिर में अपने फंदे में फंसाते हुए लेफ्ट हैंड से वाकामत्सु पर प्रहार किया और उन्हें डगमगा दिया। इससे वो कैनवास पर गिर गए। इसके बाद “डायनामिक” ने एक के बाद एक करके हमले करने शुरू कर दिए, जिसने जापानी एथलीट के खिलाफ उन्हें टेकडाउन का पूरा मौका दे दिया।

हालांकि, वू ने केवल जवाब में आने वाले हमलों को डिफेंड ही नहीं किया बल्कि विरोधी की पीठ पर भी कब्जा कर लिया। इसके बाद जैसे ही पूर्व ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड टाइटल चैलेंजर ने उन्हें गिराने की कोशिश की, “डायनामिक” द्वारा टॉप पोजिशन से किए गए कंट्रोल ने उन्हें माउंट करने का मौका दे दिया।

टॉप रैंक के कंटेंडर के खिलाफ दबाव वाली स्थिति को बनाए रखने की क्षमता वास्तव में वू के फिनिश को पूरा करने के लिए जरूरी थी। कुछ हेवी ग्राउंड-एंड-पाउंड अटैक के बाद रेफरी ओलिवियर कोस्ट ने बाउट को रोक दिया और दक्षिण कोरियाई एथलीट को बेहतरीन फाइटर्स से भरे डिविजन में शानदार जीत के लिए उनके हाथ ऊपर कर दिए।

बियांका बैसिलियो ने ONE डेब्यू में दबदबे वाली जीत दर्ज की

BJJ दिग्गज बियांका बैसिलियो ने अपने स्ट्रॉवेट सबमिशन ग्रैपलिंग मुकाबले में मिलेना साकुमोटो को 42 सेकंड में रीयर-नेकेड चोक के जरिए टैप आउट करके ONE डेब्यू में धूम मचा दी। इस तरह के तेज सबमिशन ने ADCC वर्ल्ड चैंपियन को ONE के ग्लोबल फैंस के सामने दमदार अंदाज में पेश किया।

साकुमोटो ने पहले राउंड की शुरुआत में अपने प्रतिद्वंदी के पैरों को लपक लिया और ये उनके लिए एक बड़ी गलती साबित हुई। इस पर ब्राजीलियाई एथलीट ने कुशलता से बचाव का प्रयास किया और पहली स्ट्राइकिंग के दौरान तुरंत ही अपनी प्रतिद्वंदी की पीठ पर कब्जा जमा लिया।

एक बार बैसिलियो के पोजिशन जमा लेने के बाद जल्द ही सबमिशन भी आ गया। अपनी इस महत्वपूर्ण जीत के साथ 26 साल की फाइटर ने 50,000 यूएस डॉलर्स का परफॉर्मेंस बोनस हासिल किया और तत्काल खुद को विमेंस स्ट्रॉवेट सबमिशन ग्रैपलिंग डिविजन में एक अहम खतरे के रूप में घोषित कर दिया।

इसके अतिरिक्त, Almeida Jiu-Jitsu की प्रतिनिधि का करियर एक कीर्तिमान बनाने के करीब खड़ा हुआ है। दरअसल, बैसिलियो ने अब तक 96 प्रोफेशनल जीत दर्ज की हैं। वो ONE Championship के सर्कल में कुछ प्रभावशाली जीतों के साथ अपने इस आंकड़े को सेंचुरी तक पहुंचा सकती हैं।

Stay in the know

Take ONE Championship wherever you go! Sign up now to gain access to latest news, unlock special offers and get first access to the best seats to our live events.
By submitting this form, you are agreeing to our collection, use and disclosure of your information under our Privacy Policy. You may unsubscribe from these communications at any time.