Muay Thai

दूसरा ONE वर्ल्ड टाइटल जीतने पर है रोडटंग की नजर

रोडटंग “द आयरन मैन” जित्मुआंगनोन और जोनाथन “द जनरल” हैगर्टी के बीच एक ऐसा मैच लड़ा गया जो बिना कोई संदेह बाउट ऑफ द ईयर की लिस्ट में टॉप में से एक रहेगा। लेकिन इसका श्रेय रोडटंग के शानदार प्रदर्शन और बेहतरीन TKO को जाता है।

10 जनवरी को ONE: A NEW TOMORROW में ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन ने अपने प्रतिद्वंदी पर तीसरे राउंड में दमदार तरीके से बॉडी पर प्रहार करते हुए जीत हासिल की थी।

थाई सुपरस्टार किसी के रोके नहीं रुक रहे थे और मैच के दौरान उन्होंने हैगर्टी को 4 बार नीचे गिराया था। इनकी पहली भिड़ंत से उलट रोडटंग ने आक्रामक रुख अपनाते हुए पहले ही मिनट के अंदर हैगर्टी को नॉकडाउन कर दिया था।

उन्होंने कहा, “मुझे इस मैच में एक ही चीज हासिल करनी थी, मुझे थाईलैंड के लिए जीतना था। मैं अपने घरेलू फैंस के सामने मॉय थाई टाइटल डिफेंड कर रहा था।”

“पिछले मैच में मुझे अलग सा एहसास हो रहा था। मैं बेहतर करना चाहता था इसलिए हमारी पिछली भिड़ंत मेरे लिए अच्छी नहीं रही। ये मेरा घर है इसलिए पहले ही राउंड से मैंने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी।”

बॉडी पर प्रहार से जोनाथन नीचे गिर पड़े थे, अधिकतर एथलीट्स इस तरह के अटैक से जल्द ही हार मान लेते लेकिन हैगर्टी मजबूती से डटे रहे और रेफरी के काउंट का जवाब देते रहे।

वो किसी तरह पहले राउंड के प्रहार को झेलने में सफल रहे लेकिन कुछ समय बाद ही रोडटंग ने एक बार फिर दबाव बनाना शुरू किया और बेहतरीन स्ट्राइक्स लगाईं।

थाई एथलीट ने बताया, “मुझे पता था कि स्कोरकार्ड में मुझे बढ़त मिल चुकी है लेकिन मैं खुद से आगे नहीं निकलना चाहता था। अभी 4 और राउंड बाकी थे इसलिए उसके बारे में मैंने ज्यादा नहीं सोचा।”

“दूसरे राउंड में जब मैंने ज्यादा अटैक करना शुरू किया तो मुझे अंदाजा हो चुका था कि वो पिछड़ रहे हैं। तीसरे राउंड में मैं उन्हें एक भी मौका नहीं देना चाहता था।

“मेरा लक्ष्य यही था कि मैं उन्हें तीसरे राउंड में ही नॉकआउट कर दूं, इसलिए मैंने आगे बढ़कर अटैक करना जारी रखा। तीसरे राउंड में जब मैंने उन्हें पहली बार नीचे गिराया था मुझे पता था कि अब यहाँ से मैं मैच को फिनिश कर सकता हूँ और मैंने वैसा ही किया।”



रोडटंग आक्रामक रुख अपनाए हुए थे और इस दौरान 2 और नॉकडाउन भी हुए, लगातार पंचों से उन्हें तकनीकी नॉकआउट से विजेता घोषित किया गया। इतने आक्रामक रुख के बाद भी उनके पंच लगभग सटीक निशाने पर लग रहे थे।

चौंकाने वाली बात ये रही कि 22 वर्षीय रोडटंग मैच से कुछ मिनट पहले अपने टाइटल को डिफेंड करने का दबाव झेल रहे थे लेकिन जब वो रिंग में उतरे तो उनका एक अलग ही अवतार देखने को मिला।

उन्होंने माना, “मैच से पहले मुझे घबराहट हो रही थी और बार-बार बाथरूम जा रहा था।”

“मैं एक जगह नहीं बैठ पा रहा था, मुझे केवल जीत हासिल करनी थी और यही मेरी नजरों के सामने घूम रहा था।”

“द आयरन मैन” के लिए ये मैच और भी खास इसलिए रहा क्योंकि उनके पिता लाइव इसे देखने एरीना में मौजूद थे।

उनके माता-पिता ने उन्हें पूरे करियर के दौरान काफी सपोर्ट किया है लेकिन उन्होंने बहुत ही कम अपने बेटे को ऐसे मुकाबला करते देखा है। इसलिए इम्पैक्ट एरीना में सबसे बड़े फैन का मौजूद होना रोडटंग के लिए खास बात रही।

उन्होंने आगे कहा, “मेरे पिता मुझे देखने आए थे और मेरे परिवार के कई अन्य सदस्य भी वहाँ मौजूद थे। मुझे चीयर करने के लिए वहाँ हजारों लोग मौजूद थे। यहाँ तक कि मुझे मलेशिया के फैंस भी चीयर करने आए।”

“मैच के बाद मेरे पिता ने मुझसे ज्यादा कुछ नहीं कहा, वो ज्यादा बोलना पसंद भी नहीं करते हैं लेकिन मैं इतना जरूर कह सकता हूँ कि उन्हें मुझपर गर्व महसूस हो रहा था। अपने पिता का सिर गर्व से ऊंचा करने पर मुझे काफी खुशी मिली।”

इसके अलावा ये पहली बार था जब उन्होंने अपनी गर्लफ्रेंड स्टैम्प फेयरटेक्स के साथ बाउट कार्ड साझा किया था इसलिए ये भी उनके लिए एक सुखद अनुभव रहा।

उन्होंने कहा, “स्टैम्प के साथ एक ही कार्ड का हिस्सा रहना भी मजेदार रहा।”

“लोगों को ये भी देखना चाहिए कि हम रिलेशनशिप में रहते हुए भी अपने करियर को ज्यादा तवज्जो देते हैं।”

Rodtang Jitmuangnon defeats Jonathan Haggerty at ONE A NEW TOMORROW

जैसे ही वो इम्पैक्ट एरीना से बाहर गए, रोडटंग ने कहा कि उनके पास इस मोमेंट को सेलेब्रेट करने के लिए बहुत कम समय था क्योंकि उन्हें नए चैलेंज के लिए ट्रेनिंग शुरू करनी थी। यदि वो अपनी इच्छा को पूरी करने में सफल रहे, जिनमें से एक नई डिविजन में मुकाबला करना भी है जिससे वो अपनी गर्लफ्रेंड की तरह 2-स्पोर्ट ONE वर्ल्ड चैंपियन बन सकें।

रोडटंग के पास किकबॉक्सिंग का अनुभव है और वो अपनी डिविजन के टॉप स्तर के एथलीट्स को हराकर ONE फ़्लाइवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन भी बन सकते हैं।

उन्होंने बताया, “मैं इलियास एनाहाचि को किकबॉक्सिंग टाइटल के लिए चैलेंज करना चाहता हूँ।”

“मुझे खुद पर विश्वास है और ये मेरा सपना है कि मैं किकबॉक्सिंग में भी वर्ल्ड चैंपियन बन सकूं।”

ये भी पढ़ें: स्टैम्प मानती हैं कि एंजेला ली का सामना करने के लिए उन्हें अपने खेल में सुधार की जरूरत है

मनीला | 31 जनवरी | ONE: FIRE & FURY | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं