न्यूज़

महावीर सिंह फोगाट: ‘मेरी बेटी हिंदुस्तान का नाम रोशन करेगी’

Feb 27, 2020

ऋतु “द इंडियन टाइग्रेस” फोगाट भारत की पहली मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स चैंपियन बनने की दिशा में एक और कदम आगे बढ़ाने के लिए तैयार हैं।

शुक्रवार, 28 फरवरी को सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में हो रहे ONE: KING OF THE JUNGLE में कई बार की नेशनल चैंपियन ऋतु फोगाट का सामना चीनी ताइपे की वू चाओ चेन से होने वाला है।

25 वर्षीय एथलीट ने पिछले साल रेसलिंग छोड़कर मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में आने का फैसला किया। भारतीय खेल जगत के लिए ऋतु जैसी प्रतिभाशाली खिलाड़ी का ये कदम हैरानी भरा था। लेकिन उनके पिता महावीर सिंह फोगाट ने बताया कि लंबे समय से ऋतु की मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में दिलचस्प थी।

महावीर सिंह फोगाट ने कहा, “ऋतु रेसलिंग में बहुत बढ़िया थी, उन्होंने काफी सारे मेडल हासिल किए। विनेश और ऋतु की वेट कैटेगरी एक ही थी। ट्रायल में उन्हें विनेश से हार का सामना करना पड़ा और वो मायूस हो गईं।”

“वो पहले से मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स देखती थीं, तो उनका रुझान इसकी तरफ हो गया।

“ऋतु ने कई बार कहा कि वो इस गेम में वर्ल्ड चैंपियन बनकर देश का नाम रोशन करेंगी। गीता-बबीता, उसकी मां और हम सब ने सोचा कि चलो इसे मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में जाने देते हैं। ऋतु ने मुझसे कहा कि मैं वर्ल्ड चैंपियन बनकर आपका सपना पूरा करूंगी। हम उन्हें पूरी तरह सपोर्ट कर रहे हैं।”

कॉमनवेल्थ रेसलिंग चैंपियनशिप गोल्ड मेडलिस्ट हमेशा अपने पिता द्वारा दिए गए गुरुमंत्र (दूरदृष्टि, कड़ी मेहनत और पक्का इरादा) का पालन करती हैं। भले ही ऋतु रेसलिंग से मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में आ गई हों, लेकिन आज भी उन्हें अपने पिता से टिप्स मिलती रहती हैं।



द्रोणाचार्य अवॉर्ड से सम्मानित मशहूर कोच महावीर सिंह फोगाट ने बताया, “बिल्कुल, मैं हर हफ़्ते-दस दिन में बात कर उन्हें टिप्स देता हूं। यही कहता हूं कि जो मेहनत करेगा वही कामयाब होगा, मेहनत ज़्यादा से ज़्यादा करो।”

“हारते तो हैं, लेकिन हार का नाम तो बुरा है। मेडल तो एक ही है और वो है गोल्ड, एक नंबर तो एक नंबर ही होता है।”

पिछले साल नवंबर में बीजिंग में हुए ONE: AGE OF DRAGONS में डेब्यू करते हुए फोगाट ने 3 मिनट 37 सेकेंड के भीतर दक्षिण कोरिया की “कैप्टन मार्वल” नाम ही किम को तकनीकी नॉकआउट (TKO) से हराकर करियर का शानदार आगाज़ किया था।

इस धमाकेदार जीत के बाद ऋतु को अपने पिता से और भी कड़ी मेहनत करने की सलाह मिली

वर्ल्ड U23 चैंपियनशिप्स में सिल्वर मेडल जीतने वालीं फोगाट का सपना भारत की पहली मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स चैंपियन बनने का है।

इस हफ्ते, 28 फरवरी को पूरा देश उनकी जीत की दुआ कर रहा होगा। उनके पिता को पूरा भरोसा है कि वो शानदार जीत हासिल कर अपने सपने की ओर बड़ा कदम बढ़ाएंगी।

ऋतु के पिता ने कहा, “बस मैं यही कहूंगा कि हमने जो वादा किया था कि मेरी बेटी हिंदुस्तान का नाम रोशन करेगी, आज भी मुझे पूरा भरोसा है।”

ये भी पढ़ें: कैसे बहनों की कामयाबी से प्रेरित होकर ऋतु फोगाट ने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में सफलता की ओर बढ़ाए कदम