मॉय थाई

करियर की सबसे अहम बाउट से पहले योडसंकलाई ने अपनी सबसे बड़ी फैन के बारे में बात की

अगले शुक्रवार, 31 जुलाई को “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” योडसंकलाई IWE फेयरटेक्स थाईलैंड के बैंकॉक में आयोजित होने वाले ONE: NO SURRENDER में ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी को हराने का प्रयास करेंगे।

साथ ही जब योडसंकलाई सर्कल में एंट्री करेंगे तो उनके पास एक ऐसी महिला का सपोर्ट होगा, जो उनके साथ शुरुआत से हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे याद है, जब मैं 5 या 6 साल का था तो मेरी मां मुझे खेतों में ले जाती थीं और उस समय वो गन्ने काटती थीं। वहां कुछ कुत्ते थे, जो मुझे परेशान करते थे और मेरी मां उन्हें भगाती थीं।”

योडसंकलाई ने अपनी मां से कठोरता सीखी है लेकिन उन्हें एक बहुमूल्य शिक्षा भी दी कि आपको हमेशा उन लोगों के लिए खड़े रहना चाहिए, जिन्हें आपकी जरूरत है।

35 वर्षीय ने कहा, “मेरे माता ने मुझे सिखाया कि परिवार सब कुछ है और आप हमेशा अपने परिवार पर निर्भर हो सकते हैं।”

“द बॉक्सिंग कंप्यूटर” ने हाल ही में शादी की है और वो अपना परिवार बनाने से पहले अपनी मां की सलाह जरूर लेंगे। इसके बावजूद प्रसिद्ध करियर की वजह से उन्हें अब कठिन समय नहीं देखना पड़ेंगे, जो उन्होंने और उनकी मां ने पहले देखा है।

योडसंकलाई को नोंग बुआ लंपहु प्रांत में बड़ा करने वाली उनकी मां ने हमेशा ही अपने बड़े परिवार के सदस्यों से खेत पर काम करने के लिए जाने के दौरान अपने बच्चे का ध्यान रखने के लिए कहा है और सुपरस्टार एथलीट को पता है कि इसने जरूर उनका दिल दुखाया होगा।

उन्होंने कहा, “कमाने के लिए, जब मैं छोटा था तो मेरी मां को मुझे अपनी आंटी के पास छोड़ना पड़ता था। मुझे पता है कि उनके लिए ये काफी मुश्किल था।”

View this post on Instagram

Happy time in China???? #familytime

A post shared by Yodsanklai (@yodsanklai1) on

दूर रहने के बाद भी परिवार को चलाने के लिए गन्ना काटने वाली इस महिला ने योडसंकलाई को हमेशा याद दिलाया है कि उनका “द आर्ट ऑफ 8 लिंब्स” में टैलेंट एक दिन उनके परिवार की आर्थिक स्थिति को सुधार देगा।

उन्होंने कहा, “जब मैं जवान था तो वो हमेशा मुझे बुलाती थीं और मुझे अपनी ट्रेनिंग पर ध्यान लगाने के लिए कहती थीं। वो मुझे अपने परिवार के लिए मेहनत करने के लिए कहतीं, क्योंकि हम गरीब थे।”

“मेरी मां वो हैं, जिन्होंने मुझे आगे धकेला है इसलिए मैं मॉय थाई के लिए काफी फोकस और दृढ़-संकल्पित था।”

ये प्रेरणा काम आई। “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” Lumpinee Stadium फ्लाइवेट और वेल्टरवेट वर्ल्ड चैंपियन बन गए और इसके अलावा उन्होंने अपने शानदार करियर में दर्जन से ज्यादा टाइटल्स पर कब्जा किया है।



इसके बावजूद योडसंकलाई के लिए सबसे अच्छा पल अप्रैल 2018 में आया, जब उन्होंने The Contender Asia Finale में जॉन वेन पार को हराया। प्रसिद्ध टेलीविजन शो पर 16 व्यक्तियों की मॉय थाई प्रतियोगिता जीतने के बाद उन्हें चैंपियन बनने पर 150,000 डॉलर्स का इनाम मिला।

जैसे ही इनाम मिला तो थाई हीरो ने घोषणा की कि वो अपने होमटाउन में अपनी मां के लिए घर बनाएंगे।

उन्होंने कहा, “मुझे काफी गर्व था कि मैं अपनी मां के लिए घर बनाने में सफल रहा। मैंने लंबे समय से ये लक्ष्य बनाया था और The Contender Asia में जाने तक मेरा यही प्लान था।”

“मैं हर महीने मां को पैसे देता हूं। मैंने उन्हें कार लाकर दी है, उन्हें छुट्टियों पर लेकर गया हूं और उनके साथ काफी समय बिताया है।”

Yodsanklai's prize winnings all went to his biggest fan ⤵️

Yodsanklai's prize winnings all went to his biggest fan ⤵️Kuala Lumpur | 7 December | 6:30PM | LIVE and FREE on the ONE Super App: http://bit.ly/ONESuperApp | TV: Check local listings for global broadcast | Tickets: http://bit.ly/onedestiny18

Posted by ONE Championship on Tuesday, November 27, 2018

साथ ही जब भी थाई दिग्गज की फाइट रहती है तो भले ही वो उनकी धरती पर हो या विदेश में, उनकी माँ हमेशा ही उनके साथ हौसला बढ़ाने के लिए रहती है।

योडसंकलाई ने कहा, “जब भी मैं मुकाबला करता हूँ तो व्यक्ति जो सबसे ज्यादा उत्साहित रहती है, वो मेरी माँ है। जब भी मैं जीतता हूँ तो वो खुश हो जाती है। वो हर एक फाइट देखती है और मेरे लिए चीयर करती है।”

“जब भी मैं बाउट के लिए जाता था जैसे Lumpinee में, तो वो हमेशा मेरे साथ रहती थी। असल में वो लगभग हर मुकाबले में मेरे साथ रही है। वो मेरे साथ विदेश में हुई कुछ फाइट के दौरान भी साथ रही है।”

यहां तक कि उनकी माँ हमेशा उनके साथ रही है और इसी वजह से मॉय थाई के प्रशंसकों ने हमेशा उनकी तस्वीरें साथ में ली है।

उन्होंने कहा,” जब तक प्रशंसक उन्हें पहचानते नहीं थे, वो वहीं रहती थी और कहती थी कि अगर वो नहीं रहती तो वो पहचान ही नहीं पाते थे कि मैं असल में योडसंकलाई हूँ या नहीं।”

“द बॉक्सिंग कंप्यूटर” को असल में पता है कि वो कौन हैं और ये सिर्फ उस महिला के प्यार, सपोर्ट और सलाह की वजह से संभव हुआ है, जिसने धरती पर मौजूद सबसे महान फाइटर्स में से एक को जन्म दिया।

उन्होंने कहा, “जब मुझे कोई चीज़ परेशान करती है या मुझे कोई दिक्कत आती है तो वो हमेशा ही चीज़ों को सही करने में मेरी मदद करती हैं।”

“वो मेरी सलाहकार हैं, जो हमेशा मुझे सुनती हैं और उस मुश्किल को हल करने का रास्ता लाती हैं। वो मेरी सबसे अच्छी विश्वासपात्र हैं। वो मेरी सबसे बड़ी सलाहकार हैं। मैं अपनी मां की वजह से आज यहां पर हूं।”

योडसंकलाई उन्हें फिर गौरवांवित करने की कोशिश करेंगे, जब वो शुक्रवार को ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल के लिए चैलेंज करेंगे।

ये भी पढ़ें: योडसंकलाई ने मॉय थाई में अपने पुराने दिनों को याद किया