न्यूज़

सुपरलैक के साथ अपनी पुरानी प्रतिद्वंदिता को जारी रखने के लिए पूरी तरह तैयार हैं पानपयाक

“द एंजेल वॉरियर” पानपयाक जित्मुआंगनोन अपनी पुरानी प्रतिद्वंदिता को बैंकॉक स्टेडियम सर्किट से ग्लोबल स्टेज पर लाने के लिए बेहद उत्साहित हैं।

शुक्रवार, 31 जुलाई को होने वाले ONE: NO SURRENDER के मॉय थाई कॉन्टेस्ट में फ्लाइवेट स्टार अपने पुराने प्रतिद्वंदी सुपरलैक “द किकिंग मशीन” कियतमू9 का सामना करने वाले हैं।

ये इन दोनों के बीच कुल सातवीं भिड़ंत होगी और अभी तक इस प्रतिद्वंदिता में पानपयाक 4-1-1 के रिकॉर्ड के साथ आगे चल रहे हैं।

जब मॉय थाई स्टार्स सितंबर 2015 में Rajadamnern Stadium में पहली बार आमने-सामने आए थे तो इनका मुकाबला ड्रॉ के रूप में समाप्त हुआ था।

अगले 2 मैचों में क्रमशः पानपयाक और सुपरलैक ने जीत दर्ज की लेकिन उसके बाद “द एंजेल वॉरियर”, कियतमू9 को लगातार 3 मैचों में मात दे चुके हैं, जिनमें अगस्त 2018 में हुआ उनका आखिरी मुकाबला भी शामिल है।



ये रिकॉर्ड साफ दर्शाता है कि पानपयाक अपने हमवतन एथलीट के स्टाइल और प्रवृत्ति से अच्छी तरह वाकिफ हैं। लेकिन साथ ही पानपयाक ये भी मानते हैं कि फरवरी 2019 में ONE Championship को जॉइन करने के बाद बुरीराम निवासी एथलीट ने अपने प्रदर्शन और स्किल्स में काफी सुधार किया है।

पानपयाक ने कहा, “सुपरलैक एक ऐसे फाइटर हैं जो हमेशा सतर्क रहते हैं। उनका ग्रैपलिंग गेम अच्छा है और उनके पास कई तरह के मूव्स भी मौजूद हैं।”

“उनकी नी और किक्स सबसे खतरनाक हथियार हैं। ONE में उनके पिछले 2 मैचों को देखने के बाद मुझे अहसास हुआ है कि अब वो पहले से बेहतर तरीके से अपने मूव्स का इस्तेमाल करते हैं। पिछली बार हमारे बीच हुए मैच के मुकाबले अब वो ज्यादा आक्रामकता के साथ मूव्स का प्रयोग करते हैं।”

Muay Thai star Panpayak Jitmuangnon lands a right jab on his opponent

वो ज्यादा ताकत शायद ONE Super Series मॉय थाई के अनोखे नियमों के कारण है, क्योंकि यहां एथलीट्स 4-औंस मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स ग्लव्स पहनकर रिंग में उतरते हैं।

ग्लोबल स्टेज पर हुए पिछले 2 मुकाबलों में साफ देखा गया है कि सुपरलैक की ताकत किक्स और पंच रहे हैं। पहले उन्होंने फरवरी 2019 में कंबोडियाई स्टार लाओ छेत्र को सर्वसम्मत निर्णय से हराया और उसके बाद मई 2019 में रुई बोटेल्हो को सर्वसम्मत निर्णय से हराया था।

दूसरी ओर पानपयाक भी पिछले 2 मैचों में बड़ी जीत दर्ज कर चुके हैं। पहले दिसंबर 2018 में अपने ONE डेब्यू में उन्होंने बोटेल्हो पर सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल की और उसके बाद सितंबर 2019 में जापानी सुपरस्टार मसाहीडे “क्रेज़ी रैबिट” कूडो पर जीत दर्ज की थी।

अभी तक मिले अनुभव से “द एंजेल वॉरियर” 4-औंस ग्लव्स के साथ भी अच्छा प्रदर्शन कर पा रहे हैं और उनका आत्मविश्वास भी बढ़ा है।

24 वर्षीय स्टार ने कहा, “इससे पहले मुझे इस तरह के ग्लव्स के साथ फाइट करने का अनुभव नहीं था। लेकिन ONE में हुए 2 मैचों के बाद मुझे इन ग्लव्स के साथ अच्छा प्रदर्शन कर पाने में कोई परेशानी नहीं हो रही है।”

Muay Thai star Panpayak Jitmuangnon stands in the corner before his battle

इन दिनों पानपयाक अपनी बेस्ट शेप में बने रहने की कोशिश कर रहे हैं और स्किल्स में सुधार लाने का प्रयास कर रहे हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि उनका ONE में आखिरी मैच करीब एक साल पहले हुआ था और फ्लाइवेट स्टार ट्रेनिंग कैम्प में एक अलग तरह की रणनीति पर काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “इस मैच के लिए मेरे भाई पायाक्नोई मेरे ट्रेनर के तौर पर मेरे साथ जुड़े रहे हैं। चूंकि, पिछले 4 महीने से मेरा कोई मैच नहीं हुआ है, इसलिए हम अपने मूव्स को बेहतर तरीके से लगाने पर ध्यान दे रहे हैं। खासतौर पर, पंच और साथ ही इस तरह की रणनीति भी तैयार करना कि अपने प्रतिद्वंदी के धैर्य की कड़ी परीक्षा कैसे ली जाए। जब भी हम सुपरलैक जैसे एथलीट का सामना कर रहे होते हैं, जो बहुत सावधानी बरतते हैं, उनके खिलाफ हमें अलग तरह की रणनीति अपनानी होती है।”

पानपयाक के भाई उनके साथ हैं इसलिए वो अपनी स्किल्स में काफी सुधार करने में सफल रहे हैं। “द एंजेल वॉरियर” बैंकॉक में अपनी विनिंग स्ट्रीक को जारी रखने का पूरा प्रयास करेंगे और इस ऐतिहासिक प्रतिद्वंदिता में वो सुपरलैक को अपने करीब आने का मौका बिल्कुल नहीं देना चाहते।

पनपयाक ने कहा, “मुझे अपनी तकनीक, मूव्स और अपने धैर्य पर पूरा भरोसा है। मैच के दिन मुझे उम्मीद है कि हम दोनों अपना बेस्ट प्रदर्शन करने का प्रयास करेंगे और मुझे ये भी उम्मीद है कि सुपरलैक पहले से बेहतर प्रदर्शन करने के लिए तैयार होंगे।”

ये भी पढ़ें: मार्क फेयरटेक्स एबेलार्डो ने फैब्रिसियो एंड्राडे को कड़ी चेतावनी दी