मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

एड्रियानो मोरेस Vs. डिमिट्रियस जॉनसन: जीत के 4 तरीके

अप्रैल 7, 2021

मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स इतिहास के सबसे बड़े फ्लाइवेट कॉन्टेस्ट में एड्रियानो “मिकीन्यो” मोरेस और डिमिट्रियस “माइटी माउस” जॉनसन एक-दूसरे से भिड़ने को तैयार हैं।

गुरुवार, 8 अप्रैल को यूएस प्राइम-टाइम पर लाइव प्रसारित होने वाले “ONE on TNT I” में मोरेस का ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड टाइटल जॉनसन के खिलाफ दांव पर लगा होगा।

जॉनसन द्वारा ONE को जॉइन करने के बाद से ही फैंस इस धमाकेदार मुकाबले की उम्मीद लगाए बैठे थे। अब मुकाबले के लिए जगह और तारीख सब तय हो चुकी है।

इससे पहले दोनों सर्कल में उतरें, जहां जानिए ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच में जीत के 4 तरीकों के बारे में।

डिमिट्रियस जॉनसन का जबरदस्त स्टैमिना

Demetrious Johnson tussles with Danny Kingad at ONE CENTURY

हर बार की तरह जॉनसन इस बार भी मैच की गति को अपने कंट्रोल में रखते हुए मौजूदा चैंपियन पर बढ़त बनाने की कोशिश करेंगे।

ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन को जबरदस्त स्टैमिना और निरंतर अटैक करने की क्षमता के लिए जाना जाता है। उनके वर्ल्ड टाइटल मैचों में से 10 पांचवें राउंड तक गए हैं और बीच में ब्रेक लेना भी उन्हें पसंद नहीं है। वो अपने 3 प्रतिद्वंदियों को पांचवें राउंड में फिनिश कर चुके हैं।

ये स्किल्स बड़े से बड़े एथलीट के लिए भी खतरा साबित हो सकती हैं। 25 मिनट के दौरान “माइटी माउस” अपने विरोधी को शारीरिक और मानसिक रूप से भी कमजोर महसूस कराते हैं।

जॉनसन ने हाल ही में कहा था, “मैं मैच को ऐसा बनाने की कोशिश करता हूं, जिससे मेरे प्रतिद्वंदी कई सालों तक हमारे मुकाबले को याद रखें।” साथ ही उनका ये भी कहना है कि मोरेस को काफी थकान होने लगती है, जिसका उन्हें फायदा मिलेगा।

मोरेस को लंबी रीच का फायदा मिलेगा

मोरेस के पास ऐसे मूव्स हैं जो जॉनसन को फ्रंटफुट पर रहकर अटैक करने से रोक सकते हैं और यही मूव्स उन्हें अपने विरोधी पर दमदार अटैक करने के मौके भी दे सकते हैं।

American Top Team के स्टार “माइटी माउस” से 12 सेंटीमीटर लंबे हैं और वो अपनी लंबी रीच का भरपूर फायदा उठाने की कोशिश करेंगे।

“मिकीन्यो” ने फ्लोरिडा में अपने स्ट्राइकिंग कोच कटेल क्यूबिस के साथ मिलकर कड़ी मेहनत की है इसलिए वो जोरदार स्ट्रेट पंच और लो किक्स लगाकर बढ़त हासिल कर सकते हैं।

करीब आकर अटैक करने के लिए जॉनसन को मोरेस के खतरनाक मूव्स से पार पाना होगा, लेकिन इससे वो कभी डरे नहीं हैं।

लेकिन अगर ब्राजीलियाई एथलीट दूर रहकर अटैक करते हुए अपने चैलेंजर को उकसाने में सफल रहे, तो मोरेस को दमदार शॉट्स को लैंड करवाने के ज्यादा मौके प्राप्त हो सकते हैं, इससे करीब आकर अटैक करने में भी जॉनसन गलती कर सकते हैं।

इसलिए डिमिट्रियस जॉनसन का करीब आना भी मोरेस के लिए फायदेमंद साबित होगा, लेकिन इसके लिए उन्हें अपनी रणनीति को सही तरीके से अमल में लाना होगा।



जॉनसन की स्किल्स का मिश्रण मोरेस के लिए बड़ी मुसीबत

अपने अलग-अलग तरह के मूव्स से जॉनसन, “मिकीन्यो” को लंबी रीच का फायदा उठाने से रोकने की कोशिश करेंगे और यही बात इस वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच में सबसे बड़ा अंतर पैदा कर सकती है।

अमेरिकी स्टार अलग-अलग तरह के स्टाइल्स से फाइट करना जानते हैं। चूंकि जॉनसन लगातार मूवमेंट करते रहते हैं इसलिए उनके प्रतिद्वंदियों के लिए दमदार स्ट्राइक्स और टेकडाउन के प्रयासों से बचना बहुत मुश्किल हो जाता है।

वो अपने हर मुकाबले में अलग तरह से मूव करते हैं इसलिए मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स लैजेंड को पंच, किक्स, क्लिंच करने और बॉडी शॉट्स लगाने में भी ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी।

एक बार ग्राउंड गेम में आते ही जॉनसन अलग-अलग तरह की पोजिशन में बने रहकर अपने प्रतिद्वंदी की मुश्किलों को दोगुना कर देते हैं और क्षण भर में सबमिशन मूव लगाने में भी सक्षम हैं।

जॉनसन का मानना है कि “मिकीन्यो” को किसी विशिष्ट पोजिशन में रहकर तेजी से मूव करने की आदत नहीं है। इसलिए अमेरिकी स्टार इसी बात का फायदा उठाना चाहेंगे, फिर चाहे वो स्ट्राइकिंग हो, रेसलिंग या ग्राउंड गेम।

अगर वो मोरेस के मन में घबराहट पैदा कर पाए, तो “माइटी माउस” इस स्थिति का फायदा उठाकर मुकाबले को फिनिश भी कर सकते हैं।

बैक कंट्रोल प्राप्त कर बहुत खतरनाक बन जाते हैं मोरेस

ब्राजीलियाई एथलीट अभी तक ग्लोबल स्टेज पर घबराए हुए नजर नहीं आए हैं। यहां तक कि उनकी हार भी करीबी अंतर से आई हैं।

मोरेस के पास मैच को ग्राउंड गेम में अपने कंट्रोल में रखने की काबिलियत है। जॉनसन भी एक अच्छे रेसलर हैं, लेकिन तत्सुमित्सु “द स्वीपर” वाडा ने साबित किया कि जॉनसन के गेम में भी कुछ खामियां हैं, “मिकीन्यो” भी उन्हीं के जरिए फायदा उठाने का प्रयास करेंगे।

अगर मोरेस क्लिंच करते हुए बैक कंट्रोल प्राप्त कर पाए या फिर किसी भी तरह बैक कंट्रोल प्राप्त करने में सफल रहे तो उनके चैलेंजर की मुश्किलें बढ़ जाएंगी।

वाडा की तरह मोरेस के हाथ पैर भी लंबे हैं और उन्हें बॉडी ट्रायंगल लगाना भी पसंद है। बैक कंट्रोल में रहते BJJ ब्लैक बेल्ट होल्डर बहुत खटनाक एथलीट बन जाते हैं।

“माइटी माउस” धैर्य बनाए रखते हुए काउंटर अटैक भी करते हैं, लेकिन मोरेस ने भी इस रणनीति पर नजर बनाई हुई है। वो क्षण भर में सबमिशन मूव लगा सकते हैं और मानना है कि तेजी से मूवमेंट करने में वो जॉनसन से बेहतर हैं।

ये भी पढ़ें: मोरेस vs जॉनसन मुकाबले पर ONE Championship सुपरस्टार्स की राय

और लोड करें

Stay in the know

Take ONE Championship wherever you go! Sign up now to gain access to latest news, unlock special offers and get first access to the best seats to our live events.