ओपिनियन

ऋतु फोगाट के लिए करियर की सबसे बड़ी चुनौती साबित हो सकती हैं जोमारी टोरेस

Dec 2, 2020

इस शुक्रवार, 4 दिसंबर को भारतीय सुपरस्टार ऋतु “द इंडियन टाइग्रेस” फोगाट अपनी जीत के सिलसिले को जारी रखने की भरपूर कोशिश करेंगी।

उनका सामना सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में होने वाले दिसंबर महीने के लिए पहले लाइव इवेंट ONE: BIG BANG में फिलीपींस की अनुभवी स्टार जोमारी “द ज़ाम्बोआंगिनियन फाइटर” टोरेस से होगा।

फोगाट डेब्यू के बाद से ही ONE Championship में लगातार जीत दर्ज कर रही हैं, लेकिन इस बार उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती होगी। उन्हें साल का अंत जीत के साथ करने के लिए स्टैंड-अप और ग्राउंड गेम में टॉप लेवल का प्रदर्शन करना पड़ेगा क्योंकि टोरेस उनकी कड़ी परीक्षा लेने वाली हैं।

24 वर्षीय फिलीपीना एथलीट की बात करें तो मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मैचों में उनका अनुभव फोगाट से तीन गुना ज्यादा है। भारतीय स्टार ने 2019 में ONE में डेब्यू किया था तो वहीं उनकी प्रतिद्वंदी ने 2017 में।

अन्य खेलों की तरह ही मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में भी अनुभव काफी कारगर साबित होता है। उदाहरण के तौर पर, अगर कोई प्रतिद्वंदी काफी तेज है या फिर धीमे शुरुआत कर रहा है तो विरोधी उसकी मूवमेंट, रणनीति को भांपकर अपने खेल को उसी हिसाब से आगे बढ़ा सकता है। किसी एथलीट को सर्कल के अंदर जितना ज्यादा अनुभव प्राप्त होता है वो उतना ही घातक साबित हो सकता है क्योंकि उसे मुश्किल हालातों से निकलने की तरकीबों का अंदाजा होता है। टोरेस का रिकॉर्ड और प्रदर्शन इस बात का जीता-जागता उदाहरण है।



टोरेस का वुशु पर आधारित स्ट्राइकिंग गेम काफी अच्छा है, लेकिन ग्राउंड गेम भी बेहतरीन है। कुल मिलाकर कहा जाए तो वो एक बढ़िया ऑलराउंडर एथलीट हैं, जो अपनी किसी भी प्रतिद्वंदी के लिए खतरा साबित हो सकती हैं।

फिलीपींस की राजधानी मनीला के Catalan Fighting System जिम में पूर्व ONE वर्ल्ड टाइटल चैलेंजर रेने कैटलन की निगरानी में ट्रेनिंग करने वाली टोरेस ने ONE में डेब्यू करते हुए रिका “टाइनी डॉल” इशिगे जैसी शानदार एथलीट को रीयर-नेकेड चोक सबमिशन लगाकर दूसरे राउंड में हराकर धमाकेदार अंदाज में जीत हासिल की।

उन्होंने 2018 में Team Lakay की अप्रैल ओसेनियो को मात्र 40 सेकंड में नॉकआउट किया था। ये ONE एटमवेट डिविजन के सबसे धमाकेदार नॉकआउट्स में से एक है। ये जीत साबित करती है कि टोरेस ना केवल स्ट्राइकिंग में अच्छी हैं बल्कि जरूरत पड़ने पर वो ग्राउंड गेम से भी जीत हासिल कर सकती हैं। इसके अलावा उनका टेकडाउन डिफेंस भी अच्छा है, जो वो अगले मैच में फोगाट की रेसलिंग स्किल्स को रोकने के लिए इस्तेमाल करेंगी।

टोरेस ने अपनी भारतीय प्रतिद्वंदी के मुकाबले ज्यादा मैचों में शिरकत की है और उनका सामना ONE एटमवेट डिविजन की टॉप सुपरस्टार्स से हुआ है। इसका मतलब है कि उन्हें बड़े मैचों का अनुभव है, जो फोगाट के साथ मैच में उनके लिए कारगर साबित हो सकता है।

उन्होंने साल 2018 में ओसेनियो को हराने और लगातार चार मुकाबले अपने नाम करने के बाद प्रिसिला हरटाटी लुम्बन गॉल और पूर्व वर्ल्ड टाइटल चैलेंजर मेई “V.V” यामागुची का सामना किया। दोनों ही कड़े मैचों में उन्हें भले ही हार का सामना करना पड़ा, लेकिन वो बाउट्स को आखिर तक खींचने में कामयाब रहीं।

“द ज़ाम्बोआंगिनियन फाइटर” के पिछले कुछ मैचों का प्रदर्शन भले ही इतना खास ना रहा हो, लेकिन वो अपने ऑलराउंड गेम और अनुभव के दम पर जीत की पटरी पर लौट सकती हैं। अब देखना होगा कि 4 दिसंबर को इस मैच का नतीजा किसके पक्ष में जाता है।

ये भी पढ़ें: ONE: BIG BANG के स्टार्स द्वारा किए गए सबसे शानदार सबमिशन​