ओपिनियन

कैसे COVID-19 महामारी के समय माता-पिता अपने बच्चों के साथ अच्छा समय बिता सकते हैं

जब तक COVID-19 महामारी खत्म नहीं होती तब तक घर पर ही रहना कोई बुरी बात नहीं है। बल्कि इसे अपने परिवार और बच्चों के साथ ज्यादा समय बिताने के मौके के रूप में देखें।

अपने बच्चों के साथ समय बिताने के महत्व की अनदेखी करना बहुत आसान है लेकिन हम ही उनके जीवन पर एक बड़ा प्रभाव डालते हैं, खासतौर पर जब वो बहुत छोटे होते हैं।

हमें इस कड़वी सच्चाई से वाकिफ रहना चाहिए कि हमें लगातार सफर करते रहना होता है, साथ ही ये भी जानना चाहिए कि परिवार सभी के लिए सबसे महत्वपूर्ण होना चाहिए।

मैं जानती हूँ कि कभी-कभी ऐसा कर पाना मुश्किल होता है लेकिन मौजूदा परिस्थितियां हमारे पक्ष में हैं। इसलिए हमें इस मौके का भरपूर फायदा उठाना चाहिए।

यहाँ मैं कुछ सुझाव आपको दे रही हूँ कि आप कैसे अपने बच्चों के साथ समय को एंजॉय कर सकते हैं।

पहले तो आप अपने बच्चों को टीवी, मोबाइल जैसी चीजों से जितना हो सके उतना दूर रखने की कोशिश करें। मैंने पढ़ा है कि इससे छोटे बच्चों के दिमाग पर काफी असर पड़ता है और अगर ऐसा होता रहा तो हमें आने वाले खतरे से वाकिफ रहना होगा।

स्क्रीन के सामने ज्यादा समय बिताने से उनके दिमाग पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। मुझे लगता है कि उन्हें सुरक्षित रखने के लिए हमें ना चाहते हुए भी ऐसा करना ही होगा।

यहाँ आप इस आर्टिकल को पढ़ सकते हैं कि आखिर मुझे इस समस्या को लेकर इतनी चिंता क्यों हो रही है।

जॉनी और मैं दिन में अमाया को केवल 45 मिनट ही ऐसा करने देते हैं, जिसमें टीवी देखना और हैंडफोन भी शामिल होता है। अमाया को अब पता चलने लगा है कि टीवी देखना और मेरे फोन पर कुछ वीडियो देखना मजेदार होता है।

मैं उन्हें कभी-कभी ही अपना फोन देती हूँ (और जब भी देती हूँ तो गैलरी में अपनी और अपने परिवार की वीडियो ही देखने देती हूँ), वो अभी से जानती हैं कि यूट्यूब कैसे चलाना है और CoComelon कार्टून कैसे देखने हैं और मैंने उन्हें कभी ऐसा कुछ सिखाया ही नहीं है। ये चौंकाने वाली बात है कि किस तरह वो अपने हाथ में आई चीज से वो अपने फायदे की चीज ढूंढ निकालने के लिए उत्साहित होते हैं।



मैं समझती हूँ कि माता-पिता अपने बच्चों को iPad का इस्तेमाल क्यों करने देना चाहते हैं लेकिन हमें खुद से ये सवाल पूछना चाहिए कि, ‘आपको इससे क्या हासिल होगा जब आप अपने बच्चों को कई घंटों तक स्क्रीन के सामने छोड़ देंगे?’ उनके साथ समय बिताने से ज्यादा खास और फायदेमंद कुछ और चीज नहीं हो सकती।

अमाया इस बात से हमेशा वाकिफ रहती है कि उनके घर में क्या-क्या हो रहा है और ऐसा इसलिए हो पाता है क्योंकि हम उन्हें स्क्रीन के सामने ज्यादा समय नहीं बिताने देते। इसलिए उन्हें मजबूरन उन कामों पर ज्यादा ध्यान देना होता है जो उनके आसपास हो रही होती हैं।

ऐसे भी कई दिन होते हैं जब हम उन्हें स्क्रीन के सामने 1 भी मिनट नहीं बिताने देते।

ऐसा आप कैसे कर सकते हैं, इसके लिए मैं उदाहरण देती हूँ। अगर आप घर पर बैठकर टीवी देख रहे हैं या फिर फोन पर गेम खेल रहे हैं, इसे देख आपके बच्चे भी आपकी तरह करने लगेंगे। माता-पिता होने के नाते आपको ऐसे त्याग करने पड़ते हैं।

फिलहाल हम सभी के पास ऐसा करने के लिए उपयुक्त समय है क्योंकि आप कहीं काम करने के लिए नहीं जा रहे हैं और स्क्रीन टाइम को कम करना बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। आपके बच्चे ही आपकी जिंदगी का सबसे अहम हिस्सा हैं और मैं जितना हो सकता है अमाया के साथ समय बिताना चाहती हूँ।

Miesha Tate and her daughter take a selfie

ये सबसे सही समय है जब आप अपने बच्चों को नई चीजें सीखने में मदद कर सकते हैं। कम से कम मेरे नजरिए से तो ये बहुत महत्वपूर्ण है। एक बच्चे द्वारा सीखने की क्षमता को हम कभी-कभी कम आंक लेते हैं लेकिन मैं अमाया की क्षमता से चौंक उठी हूँ।

अभी वो केवल 18 महीने की हैं और 1 से 10 तक गिनती करना जानती हैं।

मैं उन्हें ये सीखने में मदद करती हूँ और क्रिसमस के समय वो सीढ़ियों से उतरते समय 1 से 10 तक बिना रुके गिनती कर रही थीं। इसे देख मैं चौंक उठी थी। मुझे उनपर गर्व है क्योंकि वो बहुत अच्छे तरीके से बोल भी लेती हैं और अभी तो वो 2 साल की भी नहीं हुई हैं।

एक अन्य मजेदार चीज ये भी हो सकती है कि आप अपने बच्चों के साथ पढ़ें। अमाया के पैदा होने से पहले हम काफी किताबें पढ़ते रहे हैं। गोद भराई के समय मैंने लोगों से गिफ्ट कार्ड्स के बजाय किताबें लाने का आग्रह किया था, जिस पर अमाया के लिए एक पर्सनल नोट लिखा हो। बड़ी होने पर उन्हें पता चलेगा कि किन लोगों ने उन्हें किताबें गिफ्ट में दी थीं।

जबसे हम सिंगापुर आए हैं, जॉनी हर हफ्ते उनके साथ बाहर घूमने जाते हैं, जहाँ वो बुक स्टोर में जाकर अपनी पसंद की किताबें खरीदेंगी।

हालांकि, अभी ये प्लान बाद की बात है लेकिन अपने बच्चों के साथ किताबें पढ़ने से वो हमारे साथ ज्यादा लगाव महसूस करने लगते हैं। चाहे अभी वो छोटी हैं लेकिन इससे किताबों से उन्हें उदाहरण के तौर पर पक्षियों के बारे में या किसी अन्य चीज के बारे में सीख मिलती है। अमाया को अपनी किताबों से काफी लगाव है और वो उन्हें पढ़ना काफी एंजॉय करती हैं।

Miesha Tate and her daughter, Amaia, make moon sand

आर्ट्स और क्राफ्ट करना भी मजेदार साबित होता है।

हाल ही में हमने पेंटिंग की थी। मैंने एक अपने पौधों के लिए गमला खरीदा था, हमने उसपर सफेद पेंट किया और मैंने गमले पर उनके हाथों के निशान भी छोड़े थे। जब उनके छोटे भाई का जन्म होगा तो उनके भी हाथों के निशान गमले पर होंगे।

इसके अलावा हमने मैकरोनी नेकलेस और रिस्टलेट भी बनाए। ये असल में बिना पके हुए मैकरोनी की एक माला होती है। आप उनका नेकलेस बनाने से पहले उन्हें पेंट भी कर सकते हैं।

इनके अलावा हमने मून सैंड भी बनाया है। इससे गंदगी फैल सकती है लेकिन अपने बच्चों के साथ समय बिताने के लिए ये एक मजेदार एक्टिविटी है। अगर आपके बच्चे अमाया की तरह हैं तो उन्हें नहलाने में संकोच ना करें।

ये कोई ऐसी एक्टिविटी नहीं है जिससे माता-पिता को ज्यादा परेशान होना पड़े। अमाया ऐसी चीजों के साथ खेलना पसंद करती हैं और कभी-कभी वो खुद भी छोटे-छोटे रेत के महल भी बनाती हैं।

हमारे पास चॉकबोर्ड भी है और कलर वाली बुक्स भी हैं और उन्हें चित्र बनाना और उनमें रंग भरना काफी पसंद है। आर्ट एक ऐसी चीज है जिससे आप अपने बच्चों को छोटी सी उम्र से क्रिएटिव बना सकते हैं।

Miesha Tate and her daughter, Amaia, bake some cupcakes

हम खुद को व्यस्त रखने के लिए खाना भी पका रहे हैं।

मैंने उनके लिए लो-शुगर वाला डाइट प्लान तैयार किया हुआ है, उदाहरण के तौर पर जब भी हम कपकेक बनाते हैं तो मैं बिना ठंडा किए बिना ही उन्हें खाने के लिए दे देती हूँ। जब भी मैं उन्हें ज्यादा मीठे वाली चीज देती हूँ, मैं नोटिस करती हूँ कि उनका बर्ताव बदला-बदला सा नजर आने लगता है, ये चीज बिल्कुल भी अच्छी नहीं है।

अगर आपके घर में जगह है तो गार्डनिंग भी मजेदार एक्टिविटी हो सकती है। आप ऑनलाइन कुछ बीज ऑर्डर कर सकते हैं, गमला खरीदें और लॉकडाउन के समय उस पौधे की देखभाल करें।

मैं लोगों को प्रोत्साहित करना चाहती हूँ कि अपने घर में ऐसी चीजें को ढूंढें जिनसे आप मजे कर सकते हैं। मैं दावे के साथ कह सकती हूँ कि ऐसी कई चीजें होंगी जिन्हें आप लॉकडाउन के समय पूरा कर सकते हैं।

अगर पहले कभी आप ऐसा नहीं कर पाए हैं तो अभी उन कामों को पूरा करने का सबसे सही समय है। चाहे वो उनमें से कोई चीज हो जिनका जिक्र मैंने इस आर्टिकल में ऊपर किया है और सोने से पहले अपने बच्चों को लोरी जरूर सुनाएं या फिर उनके साथ अच्छा भोजन करें।

इसके अलावा आप लॉकडाउन खत्म होने तक उन चीजों के बारे में सोच सकते हैं जिनसे आप ज्यादा से ज्यादा व्यस्त रह सकें। इससे ना केवल आपका टाइमपास होगा बल्कि आपके बच्चे भी इन यादों के बारे में सोचकर अच्छा महसूस करेंगे।

ये सबसे सही समय है जब हम दिखा सकते हैं कि हम कितने अच्छे माता-पिता साबित हो सकते हैं।

Miesha Tate has a family dinner in Singapore

एक अभिभवाक होना किसी व्यक्ति के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण काम में से एक है। अगर आपके बच्चे हैं तो इन परिस्थितियों को आशीर्वाद के रूप में लें और ज्यादा से ज्यादा मजेदार चीजें करने की कोशिश करें। कभी-कभी खुद से ज्यादा परिवार को अहमियत देनी होती है। आपके बच्चे हमेशा याद रखेंगे कि कैसे हमने उनके बचपन में उन्हें अच्छा महसूस करवाया था।

मैं नहीं चाहती कि आगे चलकर मेरे बच्चे मुझसे कहें, “आप मेरे साथ कभी थी ही नहीं,” या, “आप अपने कामों में इतनी व्यस्त थीं कि मेरे लिए आपके पास समय ही नहीं था।”

मैं ऐसी यादें अपने पीछे नहीं छोड़ना चाहती और मैं ये भी जानती हूँ कि कोई व्यक्ति परफेक्ट नहीं होता लेकिन हमें जितना हो सके अपने बच्चों के लिए उतनी अच्छी चीजें करनी हैं।

याद रखें कि हमारे लिए सबसे जरूरी हमारा परिवार ही होना चाहिए।

ये भी पढ़ें: मीशा टेट की कलम से: असफलता में छिपी है सफलता की कुंजी