ओपिनियन

ONE Championship के 5 ड्रीम मुकाबले जिन्हें माइकल शिवेलो जरूर देखना चाहते हैं

ONE Championship कॉमेंटेटर माइकल “द वॉइस” शिवेलो पिछले कुछ सालों में कई बेस्ट मॉय थाई, किकबॉक्सिंग और मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स बाउट्स के लिए कमेंट्री कर चुके हैं।

अब साल 2020 में ONE ने एक बार फिर इवेंट्स का आयोजन शुरू कर दिया है, इसलिए उन्होंने कुछ ऐसे ड्रीम मुकाबलों पर अपनी राय रखी है जिन्हें वो होते हुए जरूर देखना चाहते हैं।

उन्हीं के शब्दों में यहां आप देख सकते हैं उन 5 धमाकेदार मुकाबलों को जिन्हें “द वॉइस” देखना चाहते हैं।

जियोर्जियो पेट्रोसियन Vs. सिटीचाई सिटसोंगपीनोंग

12-time kickboxing and Muay Thai World Champion Sittichai Sitsongpeenong

“कई सालों से ये चर्चा का विषय रहा है कि दुनिया का सबसे बेस्ट किकबॉक्सर कौन है। बिना कोई संदेह इन 2 एथलीट्स का नाम ही सबसे पहले जुबान पर आता है। अब सिटीचाई सिटसोंगपीनोंग ने भी ONE Super Series के साथ डील साइन कर ली है, इसलिए इस मैच के होने की संभावनाएं बढ़ गई हैं।

“सिटीचाई को साइन करने के बाद दर्शकों से ये जरूर कह सकते हैं कि हमारे पास दुनिया के कई बेस्ट स्ट्राइकर्स मौजूद हैं। हमारे पास कई बेहतरीन एथलीट्स हैं, खासतौर पर हल्के भार वर्गों में।

“जब भी लोगों से पिछले 15 साल के बारे में बात होती है कि कौन दुनिया का सबसे बेस्ट किकबॉक्सर है, 3 ही नाम सबसे पहले दिमाग में आते हैं और ये 3 नाम जियोर्जियो पेट्रोसियन, सिटीचाई सिटसोंगपीनोंग और बुआको बंचामेक हैं।

“अब जब हमने सिटीचाई को साइन कर लिया है तो मैं उनका और पेट्रोसियन का मैच जरूर देखना चाहूंगा। मैं इन्हें ONE Super Series किकबॉक्सिंग नियमों के अंतर्गत मैच का हिस्सा बनते देखना चाहता हूं कि दुनिया का बेस्ट किकबॉक्सर कौन है। मैं इसे 3 राउंड का मैच नहीं बल्कि 5 राउंड तक चलने वाला मैच चाहता हूं।

“ये जरूरी नहीं है कि इनके बीच टाइटल मैच ही हो, इनके बीच रेगुलर मैच भी किसी ड्रीम मैच से कम नहीं होगा और ये पता चल सकेगा कि कौन दुनिया का सबसे बेहतर किकबॉक्सिंग एथलीट है।”

जियोर्जियो पेट्रोसियन Vs. बुआको बंचामेक

ONE Featherweight Kickboxing World Grand Prix Champion Giorgio Petrosyan At ONE CENTURY PART II

“पिछले 15 साल में किकबॉक्सिंग के सबसे सफल एथलीट्स में पेट्रोसियन और बुआको का नाम गिना जाता है। हालांकि, इनके बीच भिड़ंत पहले भी हो चुकी है लेकिन वो मैच विवादास्पद तरीके से समाप्त हुआ था इसलिए इनके बीच दोबारा मैच होना जरूरी है। पेट्रोसियन अभी भी दुनिया के बेहतरीन एथलीट्स के खिलाफ लगातार जीत दर्ज कर रहे हैं। वहीं पिछली 20 फाइट्स में बुआको का रिकॉर्ड 18-2 का रहा है लेकिन उनका सामना अभी तक पेट्रोसियन के लेवल के सुपरस्टार से नहीं हुआ है।

“दोनों ही K-1 World Max चैंपियंस रह चुके हैं, इसलिए अब समय आ गया है कि 7 साल बाद फैंस को इनके बीच रीमैच देखने को मिले।

“लेकिन मैं ये जरूर कहना चाहूंगा कि ये बड़े ही आश्चर्य की बात है कि बुआको ने आज तक पेट्रोसियन को रीमैच का मौका क्यों नहीं दिया? पैसा इसका कारण नहीं हो सकता क्योंकि मैं जानता हूं कि पेट्रोसियन के साथ एक और मैच के लिए उन्हें काफी बड़े-बड़े ऑफर मिलते आए हैं। अगर ये पैसे की बात नहीं है तो इसके पीछे 2 ही कारण हो सकते हैं, पहला रूल्स या फिर वो ऐसा करना ही नहीं चाहते।

“नियमों के बारे में मैं यही कहूंगा कि बुआको खुद को कई बार साबित कर चुके हैं। जैसा कि मैंने पहले भी कहा कि वो 2 बार के K-1 World Max चैंपियन रहे हैं, इसलिए नियम इसकी वजह नहीं हो सकती। इसलिए वो संभव ही इस मैच से बचने की कोशिश कर रहे हैं, क्योंकि शायद पेट्रोसियन के खिलाफ हार से उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंच सकती है।

“लेकिन मैं ये भी कहना चाहूंगा कि फ्लॉयड मेवेदर के खिलाफ हार से मैनी पैकियाओ की प्रतिष्ठा को ठेस नहीं पहुंची थी जो इतिहास के महान बॉक्सर्स रहे हैं। कम से कम पैकियाओ ने हमें इस महान मैच को देखने का अवसर तो प्रदान किया। उस समय पैकियाओ अपने करियर के चरम पर नहीं थे फिर भी उन्होंने मैच के लिए हामी भरी। लेकिन बुआको और पेट्रोसियन की भिड़ंत उससे अलग होगी क्योंकि ये दोनों ही अपने-अपने करियर के करीब एक समान पड़ाव से गुजर रहे हैं। दोनों ही अभी भी एक-दूसरे को कड़ी टक्कर दे सकते हैं इसलिए इनके बीच मैच जरूर होना चाहिए।

“मुझे लगता है कि अगर बुआको खुद को दुनिया का बेस्ट किकबॉक्सर साबित करना चाहते हैं तो उन्हें ONE में आना चाहिए। मेरे नजरिए से उन्हें उस एथलीट का सामना करना चाहिए जिसे बेस्ट होने की संज्ञा दी जाती है।”



आंग ला न संग Vs. ब्रेंडन वेरा II – हेवीवेट डिविजन में

Aung La N Sang and Brandon Vera touch gloves before their battle in Tokyo, Japan

“मैं जानता हूं कि आंग ला न संग कह चुके हैं कि वो मिडलवेट और लाइट हेवीवेट डिविजन में ही बने रहना चाहते हैं लेकिन मैं इस मैच को हेवीवेट डिविजन में होते देखना चाहता हूं। मुझे लगता है कि इस मैच से हमें पहला 3-डिविजन वर्ल्ड चैंपियन भी देखने को मिल सकता है।

“इस वेट कैटेगरी में ब्रेंडन वेरा अपना बेस्ट प्रदर्शन कर पाएंगे और आंग ला के लिए भी खुद से हेवी और तेज मूवमेंट वाले एथलीट के खिलाफ जीत हासिल करना आसान नहीं होगा।

“इस मैच के बारे में कई सवाल पूछे जाते रहे हैं और मैं जरूर उन सवालों के जवाब पाना चाहता हूं।

हम जानते हैं कि आंग ला न संग को लाइट हेवीवेट डिविजन में वेरा पर बढ़त हासिल हुई थी लेकिन क्या हेवीवेट डिविजन में वो ऐसा कर पाएंगे? मैं इस सवाल का जवाब पाना चाहता हूं।

“आंग ला कह चुके हैं कि वो भारी वेट कैटेगरी में नहीं जाना चाहते, इसके बावजूद मैं इनकी भिड़ंत को देखने का इच्छुक हूं। इनके बीच 2019 में मुकाबला हुआ जो संभव ही ONE Championship के इतिहास के सबसे यादगार मुकाबलों में से एक रहा।

“हेवीवेट डिविजन में इनके मैच से हमें पहला 3-डिविजन वर्ल्ड चैंपियन भी देखने को मिल सकता है जो अपने आप में एक ऐतिहासिक लम्हा होगा। अगर कोई एथलीट ऐसा कर सकता है तो वो आंग ला न संग ही हो सकते हैं।”

एंजेला ली Vs. जिओंग जिंग नान III – कैचवेट डिविजन

The final staredown between Angela Lee and Xiong Jing Nan before their match

एंजेला ली पिछले कुछ दिनों में खुले तौर पर ये कहती आ रही हैं कि, ‘कौन-कौन स्ट्रॉवेट टाइटल के लिए मेरा और जिओंग जिंग नान का मैच देखना चाहता है?’ मैं इस भिड़ंत को किसी भी कैटेगरी में देखना पसंद करूंगा लेकिन मेरी दिली इच्छा है कि ये कैचवेट में हो। टाइटल मैच होने की जरूरत नहीं है, केवल ये देखने के लिए कि एटमवेट और स्ट्रॉवेट के बीच की कैटेगरी में कौन बेहतर प्रदर्शन कर पाता है।

“अगर लोग वर्ल्ड टाइटल मैच ही देखना चाहते हैं तो दोनों टाइटल्स को दांव पर लगा दिया जाए लेकिन मैच कैचवेट में हो तो बेहतर होगा। ये ONE Championship के इतिहास की इस महान प्रतिद्वंदिता का तीसरा और आखिरी मैच होगा।

“अभी तक इनके दोनों मैच शानदार साबित हुए हैं और उनकी भविष्यवाणी कर पाना बहुत मुश्किल रहा। मैचों में कई उतार-चढ़ाव देखने को मिले और चौंकाने वाले तरीकों से समाप्त भी हुए। ली और जिओंग जिंग नान के बीच एक्शन से भरपूर मुकाबले शानदार रहे हैं।

“ली अभी भी खुद को निरंतर ‘अनस्टॉपेबल’ साबित कर रही हैं। वहीं जिओंग को स्ट्रॉवेट डिविजन में हरा पाना बहुत ही मुश्किल है। इसलिए कैचवेट डिविजन में जब दोनों टाइटल्स दांव पर लगे होंगे तो ये देखना दिलचस्प होगा कि कौन बेहतर साबित होता है। ये संभव ही एक जबरदस्त मुकाबला साबित होगा।”

डिमिट्रियस जॉनसन Vs. हेनरी सेहुडो III

“हेनरी सेहुडो को डिमिट्रियस जॉनसन के खिलाफ पहले मैच में TKO से हार मिली, वहीं दूसरे मैच में उन्हें विभाजित निर्णय से जीत मिली थी।

“अब सेहुडो कह चुके हैं कि उन्होंने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स से रिटायरमेंट ले ली है, लेकिन क्या वाकई में वो रिटायर हो गए हैं? क्या उन्हें वापसी के लिए मनाया जा सकता है और ONE Championship में लाया जा सकता है। इससे फैंस को उनके सबसे बड़े प्रतिद्वंदी डिमिट्रियस जॉनसन के खिलाफ तीसरा मुकाबला देखने को मिल सकेगा।

“ONE Championship में आने के बाद जॉनसन के करियर को एक नई शुरुआत मिली है और अभी तक उन्हें कई कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। वो पहले से भी बेहतर स्थिति में नजर आ रहे हैं और उनके मूव्स में पहले से भी अधिक तेजी देखी गई है। ये सभी चीजें उन्हें पहले से भी खतरनाक एथलीट साबित कर रही हैं।

“उनकी स्ट्राइकिंग में अविश्वसनीय सुधार देखने को मिला और वो पहले से भी सरल स्वभाव के व्यक्ति नजर आते हैं। मैं उनकी सुधरी हुई स्किल्स को ध्यान में रख उन्हें सेहुडो के खिलाफ तीसरे मैच के लिए सर्कल में उतरते देखना चाहूंगा।

“साथ ही सेहुडो ने भी नॉर्थ अमेरिका के बाहर कभी फाइट नहीं की है, तो क्यों ना वो एक नए चैलेंज को स्वीकार करें? एशिया में, खासतौर पर जापान में जहां उनके टैलंट की खूब सराहना की जाएगी और एक ऐसी कंपनी में जहां उनके टैलंट को साथी एथलीट्स द्वारा सराहा जाएगा और अंत में जॉनसन के खिलाफ मैच धमाकेदार साबित होगा।

“जैसा कि मैंने कहा है कि अभी वो 1-1 मैच जीत चुके हैं, तो क्यों ना इनके बीच निर्णायक मैच हो। सेहुडो को ONE Championship में लाकर हम ऐसा जरूर कर सकते हैं।”

ये भी पढ़ें: डिमिट्रियस जॉनसन का वर्कआउट रूटीन और डाइट प्लान की जानकारी