लाइफ स्टाइल

डिमिट्रियस जॉनसन का वर्कआउट रुटीन और डाइट प्लान की जानकारी

अपने हार्ड और स्मार्ट वर्क की वजह से डिमिट्रियस “माइटी माउस” जॉनसन मार्शल आर्ट्स के शिखर तक पहुंच चुके हैं।

ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन जमकर मेहनत करने वालों में से हैं। यही वो चीज है, जिसने उन्हें अपने समय का सबसे बेहतरीन कॉम्बैट स्पोर्ट्स एथलीट बना दिया है। हालांकि, उन्हें ये भी पता है कि सही संतुलन बनाए रखकर वो लंबे समय तक ऐसा कर सकते हैं।

इस अमेरिकी मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स लैजेंड के लिए अपनी आने वाली बाउट्स की ट्रेनिंग करना, साल भर सेहत का ध्यान रखना और एक अच्छा पिता व पति बनना सबसे अहम है।

अब जॉनसन दिन को कई हिस्सों में बांट कर ट्रेनिंग करते हैं और अन्य एथलीट्स को ये सलाह भी दे रहे हैं कि कैसे शिखर तक पहुंचा जा सकता है।

परिवार सबसे पहले

जब जॉनसन अपना ट्रेनिंग कैंप शुरू करते हैं तो वो सबसे पहले रनिंग करते हैं।

वॉशिंगटन के इस एथलीट ने बताया, “किसी बाउट से करीब छह हफ्तों की दूरी में मंगलवार सबसे कठिन दिनों में शामिल रहता है।”

“मैं सुबह 8 बजे के आसपास उठ जाता हूं और सबसे पहले अपने पूरे परिवार पत्नी और बच्चों के लिए नाश्ता बनाता हूं।

“अपने लिए आमतौर पर दो अंडों और कुछ एक्स्ट्रा ऐग वाइट, कुछ प्रोटीन जैसे टर्की सॉसेज और कार्बोहाइड्रेट्स मुझे ग्लूटन फ्री रोल्ड ओट्स थोड़ी सी ब्राउन शुगर और दालचीनी के साथ लेना पसंद है। इससे मुझे कई तरह के पोषक तत्व मिल जाते हैं।”

जब सब लोग खा-पी लेते हैं और दिन की शुरुआत के लिए तैयार हो जाते हैं तो ये फ्लाइवेट एथलीट अपने दूसरे काम पर लग जाते हैं।

उन्होंने बताया, “बच्चों को सुबह 9 बजे तक स्कूल जाना होता है तो मैं उन्हें स्कूल लेकर जाता हूं। फिर मैं अपने दिन के पहले सेशन के लिए चला जाता हूं।”

सुबह का कार्डियो

33 साल के स्टार एथलीट के लिए सुबह का पहला सेशन 9:30 बजे के आसपास अपने लोकल स्विमिंग पूल में शुरू होता है।

जॉनसन के लिए ये हल्का और अच्छा तरीका है अपने कार्डियो को शुरू करने और फुल बॉडी वर्कआउट करने का।

उन्होंने कहा, “मैं अपने सुबह के कार्डियो के लिए स्विमिंग करता हूं। इस तरह से मेरे शरीर और मसल्स में खून और ऑक्सीजन पहुंचने लगती है।”

“मैं पांच मिनट के पांच राउंड करता था लेकिन अब आमतौर पर तीन ही राउंड करता हूं क्योंकि इससे कंधे पर ज्यादा दबाव पड़ता है।

“पहला और तीसरा राउंड केवल फ्री स्टाइल ब्रस्टस्ट्रोक होता है। दूसरे राउंड में एक्सप्लोसिव इंटरवल्स लेता हूं। इसके बाद मैं अंत में अंडर वॉटर जाकर अपने VO2 मैक्स की मदद से कुछ एक्सरसाइज करता हूं।”

‘माइटी’ मशीन को फिर से चार्ज करना

तैराकी के बाद जॉनसन अपनी खुराक लेने और बाकी की जिम्मेदारी पूरी करने के लिए घर निकल जाते हैं।

उन्होंने बताया, “सेशन के बाद मेरे दूसरे मील में कुछ सेब और पीनट बटर शामिल रहते हैं।”

“अपनी तीसरी “माइटी डाइट” में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स और कुछ सब्जियां शामिल रहती हैं। इसमें खासतौर पर मुझे सैलमन के साथ पकी हुई पालक और ब्राउन राइस लेना पसंद है।”

फिर मैं पिता होने की जिम्मेदारी में जुट जाता हूं।

उन्होंने बताया, “मैं अपने एक बच्चे को स्कूल से लेने जाता हूं। फिर उसके साथ थोड़ा बहुत खेलता हूं। इसके बाद फिर से मैं अपने रास्ते पर आ जाता हूं अगले सेशन के लिए।”



स्पारिंग और तकनीकों पर काम

दूसरे सेशन के लिए जॉनसन एक घंटा लंबा सफर तय करके AMC Pankration के दो घंटे लंबे सेशन में शामिल होने के लिए जाते हैं।

उन्होंने बताया, “मैं उत्तर दिशा में स्थित जिम जाता हूं और वहां 4:30 बजे तक पहुंच जाता हूं, ताकि मैं सबसे “हाय-हैलो” कर सकूं। इसी बीच मुझे वॉर्म अप करने और अपना गियर पहनने का समय मिल जाता है। इसके बाद सेशन शुरू होने से पहले मैं एक ग्रेनोला बार स्नैक के तौर पर खाता हूं।”

“शाम 5:00 बजे हम ट्रेनिंग शुरू कर देते हैं और 7:00 बजे तक नहीं रुकते हैं। इस तरह से ये दो घंटे का सेशन रहता है।

“मंगलवार को मॉय थाई स्पारिंग होती है। इसके बाद हम थोड़ी मौज-मस्ती करके सात राउंड प्रैक्टिस करते हैं। इसमें पांच राउंड पांच मिनट के और दो राउंड तीन मिनट के होते हैं।

“इसके बाद मैं सीधा रस्सी कूदने चला जाता हूं और फिर एक घंटे तक तकनीकी ट्रेनिंग लेता हूं। इसमें हम नई तकनीक को देखते हैं, उसका अभ्यास करते हैं और फिर ये सीखते हैं कि उन्हें सही तरह से कैसे इस्तेमाल किया जाए।”

दिन के खत्म होने पर

दो घंटे की थका देने वाली ट्रेनिंग के बाद वो फिर से एक घंटा लंबा सफर करके घर लौटते हैं, तब जाकर वो अपनी पत्नी डेस्टिनी के साथ कुछ समय बिता पाते हैं।

जॉनसन बताते हैं, “इन सब चीजों के बाद मैं शॉवर लेता हूं और दिन की आखिरी खुराक का मेरा समय हो जाता है। इसमें मुझे सैलमन, स्वीट पटैटो और हरी सब्जियां अच्छी लगती हैं। इसके बाद सोफे पर अपनी पत्नी के साथ कुछ समय बिताता हूं।”

“मैं 10:30 से 11 बजे के बीच बिस्तर पर सोने के लिए चला जाता हूं, ताकि कल फिर से इतनी ही मेहनत करने को तैयार रहूं।”

कोच और ट्रेनर की बात सुनना

Demetrious Johnson tussles with Danny Kingad at ONE CENTURY

अपने प्रोफेशनल करियर में वो मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट के तौर पर 13 साल और 34 बाउट्स पूरी कर चुके हैं। ऐसे में उनकी सबसे अच्छी सलाह यही है कि अपने शरीर और कोच की बात सुनें व अपने हिसाब से सही वर्कलोड को चुनें।

कई सारे एथलीट जब दिनभर चीजें रटने में जुटे रहते हैं। ऐसे में जॉनसन की अप्रोच अखंड रहती है और उन्होंने कई साल से अपनी बॉडी को अच्छी शेप में बनाए रखा है।

उन्होंने बताया, “जब आप सबसे ऊंचे लेवल पर ट्रेनिंग या बाउट करते हैं तो आपको ये पता नहीं चल पाता है कि कितनी ट्रेनिंग आपके लिए सही है। ऐसे में मैं उतनी ट्रेनिंग करता हूं, जितनी मुझे सही लगती है। फिर मेरे कोच तय करते हैं कि उसमें क्या बदलाव करने हैं।”

“जो ट्रेनिंग मैंने आज की है अगर वो मुझे सही नहीं लगती तो अगले ही दिन हम उसे बदल कर कुछ अलग कर सकते हैं।

“मेरे लिए हर दिन लगातार प्रदर्शन करते रहना जरूरी है। आजकल कुछ एथलीट अपनी बॉडी को झोंकने लगते हैं, इस वजह से वो लंबे समय तक अपनी चीजें जारी नहीं रख पाते हैं और न ही उनका करियर सफल रह पाता है।”

खुश और स्वस्थ रहना

कड़ी ट्रेनिंग और व्यस्त घरेलू जीवन के साथ ही माइटी गेमिंग जैसे प्रोजेक्ट काफी थकाऊ हो सकते हैं। हालांकि, इसमें जॉनसन के पास कुछ सुझाव हैं, जो बाकी लोगों को अपने शरीर और स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करेंगे।

उन्होंने बताया, “मैं Onnit के सप्लीमेंट इस्तेमाल करता हूं। मैं उनके ग्लुटामिन, प्लांट बेस्ड प्रोटीन, विटामिन डी और एमसीटी ऑयल लेता हूं।”

“ग्लुटामिन को सुबह और रात में लेने से मसल्स सपोर्ट्स और गट हेल्थ के साथ अगले सेशन के लिए फुर्ती मिलती है।

“विटामिन-डी लेने से आंतों को पूरा पोषण सोखने में मदद मिलती है। साथ ही एमसीटी ऑयल से काफी ऊर्जा मिलती है। इसे मैं सुबह लेता हूं क्योंकि मैं कॉफी का बहुत बड़ा फैन नहीं हूं।

“इसके अलावा एक और चीज है जिसे “न्यू मूड” बुलाया जाता है। इसे मैं अपने नर्वस सिस्टम को आराम देने के लिए इस्तेमाल करता हूं क्योंकि मेरा पूरा दिन दौड़ते-भागते दिन निकल जाता है।”

ये भी पढ़ें: डिमिट्रियस जॉनसन की पत्नी ने बताया कि उनके पति दुनिया के बेस्ट मार्शल आर्टिस्ट कैसे बने