मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

डिमिट्रियस जॉनसन की पत्नी ने बताया कि उनके पति दुनिया के बेस्ट मार्शल आर्टिस्ट कैसे बने

डिमिट्रियस “माइटी माउस” जॉनसन अपनी कड़ी मेहनत और किए गए त्याग के बिना शायद दुनिया के सबसे बेस्ट मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट्स में से एक नहीं बन सकते थे और इस बारे में शायद उनकी पत्नी, डेस्टिनी से बेहतर शायद कोई नहीं जानता।

जॉनसन की पत्नी अपने पति की कड़ी मेहनत और प्रतिबद्धता को तबसे देखती आ रही हैं जब वो करीब 10 साल पहले रेड लॉब्स्टर रेस्टोरेंट में पहली बार मिले थे, वो जॉनसन के मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर के शुरुआती दिन हुआ करते थे।

उनका ये प्यार भरा सफर अभी भी जारी है और इसी दौरान वो रिकॉर्ड ब्रेकिंग वर्ल्ड चैंपियन बने और अपने परिवार के साथ सुखद जीवन व्यतीत करते आए हैं। आज भी कुछ नहीं बदला है और अब “माइटी माउस” ONE फ़्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए एड्रियानो मोरेस को चुनौती देने के लिए तैयार हैं।

डेस्टिनी ने कहा, “मैं पूरे भरोसे के साथ कह सकती हूं कि वो जितनी मेहनत करते हैं उसकी बराबरी नहीं की जा सकती। मैं ऐसे किसी व्यक्ति को नहीं जानती जो उनके जितनी कड़ी मेहनत करता हो और उतनी ही चपलता के साथ करता हो।”

ये उनकी प्रतिबद्धता ही थी जो जॉनसन को नॉर्थ अमेरिका में वर्ल्ड टाइटल और रिकॉर्ड लगातार 11 डिफेंस तक खींच ले गई थी।

यहाँ तक कि जब वो फुल-टाइम जॉब किया करते थे तो भी जॉनसन, मार्शल आर्ट्स के सपने की ओर दृढ़ता से आगे बढ़ते रहे। जितनी ज्यादा उन्होंने मेहनत की उतना ही ये सपना सच में तब्दील होने लगा था।

डेस्टिनी ने आगे बताया, “उनका एक लक्ष्य है और जब भी वो इस लक्ष्य की ओर एक कदम आगे बढ़ाते हैं तो उसे पाकर ही दम लेते हैं। वो एक-एक कदम आगे बढ़ाने में विश्वास रखते हैं और उस लक्ष्य को पाने के लिए उन्हें किन भी परिस्थितियों से गुजरना पड़े वो करते हैं।”

“प्रतिबद्धता और मजबूत मानसिकता का मतलब है कि जब भी वो एक टारगेट सेट करते हैं तो वो जानते हैं कि उस टारगेट तक पहुँचने के लिए उन्हें क्या करना है। वो उन्हें प्राप्त करने में पूरी तरह सक्षम हैं।”



डेस्टिनी का मानना है कि काम के प्रति दृढ़ता के साथ-साथ विनम्रता ही उन्हें टॉप पर पहुँचने में मदद करती आई है।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि अहंकार को दूर रखने से उन्हें सफल होने में बहुत मदद मिली है।”

“ये एक ऐसी चीज है जिसे दूर रखने में अधिकतर लोग संघर्ष करते दिखाई देते हैं, दूसरों से तुलना करना और अपनी जिंदगी पर जिंदगी पर ध्यान ना देना। मुझे लगता है कि इसी चीज से दूर रहकर वो अपनी अगली चुनौतियों पर ज्यादा ध्यान दे पाते हैं।

“जॉनसन के लिए ये कोई ऐसी चीज है जैसे कि, ‘मैं वो सब करने को तैयार हूँ जो मुझे मेरे लक्ष्य तक पहुंचा सकती है। मेरे सामने कौन होने वाला है मुझे उसकी चिंता नहीं है।'”

Following a tough battle, American star Demetrious Johnson poses with the ONE Flyweight World Grand Prix Championship belt

इस कपल के 3 बच्चे हैं और बच्चों के होने से डिमिट्रियस की जिम्मेदारियां भी बढ़ी हैं लेकिन इसकी वजह से वो अपने लक्ष्य की राह पर चलने से भटके नहीं हैं।

AMC Pankration के प्रतिनिधि अपने करियर में जितना हो सकता है उतना सब हासिल करना चाहते हैं जिससे वो अपने परिवार को सुखद जीवन व्यतीत करने में मदद कर सकें। लेकिन ऐसा करने के लिए उन्हें खुद को काफी सारे त्याग करने पड़े हैं।

हालांकि, जब भी “माइटी माउस” अपने परिवार के साथ समय बिताने के अवसर को मिस कर देते हैं तो उन्हें बहुत बुरा महसूस होता है। डेस्टिनी का साथ इस नजरिए से जॉनसन की सफलता में अहम भूमिका निभाता आया है, जिनमें पिछले साल लगातार मुकाबलों में जीत दर्ज कर ONE फ़्लाइवेट ग्रां प्री चैंपियनशिप भी शामिल रही।

डेस्टिनी ने कहा, “बर्थडे, शादियाँ, फील्ड ट्रिप्स या कोई अन्य पार्टी, उन्हें अधिकतर मौकों पर इन सबको मिस करना पड़ता है क्योंकि उन्हें ट्रेनिंग करनी होती है।”

“मुझे लगता है कि ये चीजें सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती हैं लेकिन हमने बुरा महसूस करने के बजाय अच्छे नजरिए से सोचना शुरू कर दिया है और इस बात को समझते हैं कि वो हमारे लिए ही तो ये सब कर रहे हैं। जाहिर तौर पर इन सभी त्याग के कारण ही वो जीतने में सफल हो पाते हैं।”

उनकी सफलता ही उन्हें काफी फैंस की नजरों में दुनिया का बेस्ट मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट बनाती है और इस बात से डेस्टिनी भी सहमत हैं लेकिन उन्होंने बताया कि वो जॉनसन के अपने परिवार के प्रति प्यार से बहुत खुश हैं।

एक तरफ उन्हें अपने मार्शल आर्ट्स करियर पर ध्यान देना होता है वहीं दूसरी तरफ वो एक पिता और पति होने की जिम्मेदारियों को भी अच्छे ढंग से निभाते आए हैं।

डेस्टिनी ने बताया, “मुझे लगता है कि उन्हें इतिहास के महान एथलीट्स में से एक कहना बिल्कुल सही है। वो अच्छे एथलीट हैं लेकिन हर व्यक्ति का अपना सोचने का अलग नजरिया हो सकता है।”

“हम अपने जीवन को इन सभी विचारों को दूर ही रखते हैं लेकिन ये मानने वाली बात है कि वो एक शानदार एथलीट हैं। महान एथलीट का दर्जा उन्हें काफी लोग देते आए हैं लेकिन जिंदगी में अच्छा संतुलन बनाए रखने के लिए हमें कई अलग सिद्धांतों पर चलना पड़ता है।

“वो अपनी जिंदगी में सभी चीजों में संतुलन बनाए रखना चाहते हैं और उनकी नजरों में इसी को अच्छे ढंग से जीवन व्यतीत करना कहते हैं।”

 ये भी पढ़ें: कैसे एड्रियानो मोरेस के जज़्बे ने उन्हें सफलता की ओर पहुंचाया

हमारे सर्वे में हिस्सा लेकर VVIP अनुभव जीतें!