Muay Thai

जकार्ता में बड़ी जीत के बाद टाईकी नाइटो का अगला निशाना वर्ल्ड चैंपियन रोडटंग हैं

ONE: WARRIOR’S CODE में शानदार प्रदर्शन करने के बाद टाईकी “साइलेंट स्निपर” नाइटो का मानना है कि उन्हें जल्द ही वर्ल्ड टाइटल शॉट मिलने की संभावनाएं बढ़ रही हैं।

7 फरवरी को जापानी स्ट्राइकिंग स्टार ने “द बेबी फेस किलर” सवास माइकल पेटयिंडी एकेडमी को हराते हुए अपनी तीसरी और ONE Super Series की सबसे शानदार जीत दर्ज की है।

माइकल को मॉय थाई के उभरते हुए सितारों में से एक माना जाता है लेकिन अच्छी शुरुआत के बावजूद साइप्रस से आने वाले एथलीट को नाइटो के खिलाफ 2 बार नॉकडाउन होना पड़ा था।

अपने परफेक्ट रिकॉर्ड को कायम रखने के बाद जापानी स्टार अपने डिविजन के वर्ल्ड चैंपियन यानी ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन रोडटंग “द आयरन मैन” जित्मुआंगनोन पर नजरें गड़ाए हुए हैं।

ONE में सबसे बड़ी जीत दर्ज करने के बाद नाइटो ने बताया कि कैसे उन्हें अपने डिविजन के टॉप-क्लास एथलीट्स के साथ रिंग साझा करने का मौका मिल सकता है। इसके साथ ही उन्होंने इस्तोरा सेनयन में जबरदस्त मुकाबले के बारे में भी बात की।

ONE Championship: जकार्ता में मैच से पहले कैसा महसूस हो रहा था?

टाईकी नाइटो: उससे काफी सारी भावनाएं जुड़ी हुई थीं जैसा कि किसी मैच से पहले हर बार होता है लेकिन मैं बार-बार गेम प्लान को दोहरा रहा था।



ONE: पहले राउंड में जो आपने किया उसके बारे में कैसा लगा?

नाइटो: वो ज्यादा दबाव बना रहे थे और मुझे लगा कि किसी तरह उन्हें मुकाबले में बढ़त मिल रही है। मैंने बैकफुट पर जाना शुरू किया जिससे मुझे ये पता चल सके कि वो आखिर क्या करने की कोशिश कर रहे हैं। सच्चाई यही रही कि पहले राउंड के विजेता वो रहे थे।

मैं जानता था कि माइकल एक ताकतवर और खतरनाक फाइटर हैं। ऐसी कोई चीज नहीं रही जिसने मुझे सरप्राइज़ किया हो, लेकिन जब हमने गेम प्लान तैयार किया था तो हमें पता चला कि उनकी पंचिंग स्किल्स शानदार हैं। मेरे दिमाग में पहली बात यही आई कि अगर उनका एक भी पंच सटीक निशाने पर लगा तो मेरे लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

ONE: क्या बाकी मैच उसी दिशा में आगे बढ़ा जैसा आपने सोचा था?

नाइटो: हाँ, जिस पंच से मैंने उन्हें नॉकडाउन किया था वो हमारे गेम प्लान का हिस्सा रहा। हालांकि, मैंने ये नहीं सोचा था कि वो इतना प्रभावशाली साबित होगा, इसलिए उस लम्हें से एक बार के लिए मैं चौंक उठा था।

ONE: क्या आपने ट्रेनिंग के दौरान राइट पंच लगाने का अभ्यास किया था?

नाइटो: हाँ, ट्रेनिंग में किया था लेकिन मैच में मैंने उसका ज्यादा इस्तेमाल नहीं किया क्योंकि मेरे कॉर्नर से मुझे यही सलाह मिली थी। उन्हें नॉकडाउन करने के लिए मैंने जिस तकनीक का इस्तेमाल किया, वो मेरे अपनी टीम पर भरोसे के कारण आया था।

मैंने टाइमिंग पर ध्यान दिया लेकिन मैं उनके प्रभाव से काफी हद तक चौंक उठा था। मुझे एहसास हुआ कि वो राइट पंच लगाना चाह रहे थे इसलिए मैंने टाइमिंग पर ध्यान दिया।

Japanese Muay Thai ace Taiki Naito battles Cyprus' Savvas Michael Petchyindee Academy in Jakarta, Indonesia

ONE: दूसरे राउंड में आए पहले नॉकडाउन के बाद क्या आपको लगा कि आप मैच को फिनिश कर सकते थे?

नाइटो: नहीं, दूसरे राउंड में वो बहुत जल्दी उठ खड़े हुए थे इसलिए मैंने धैर्य ना खोने या बेकार की ताकत इस्तेमाल करने से दूरी बनाई हुई थी।

मैं जानबूझ कर बैकफुट पर रह रहा था। तीसरे राउंड में मुझे उम्मीद थी कि मैं फिनिश का प्रयास कर सकता हूँ लेकिन वो एक बार फिर बहुत जल्दी खड़े हो गए। आमतौर पर मैं ऐसे मौकों पर लापरवाही से और पूरी ताकत से फिनिश का प्रयास करता हूँ लेकिन मैं आपको बता सकता हूँ कि उनमें अभी भी बहुत एनर्जी बाकी थी। वो अभी भी मैच में बने हुए थे इसलिए मैंने सब्र नहीं खोया।

यदि मैं फिनिश के लिए जाता तो इसके लिए मुझे उम्मीद से कहीं अधिक ताकत लगानी पडती।

ONE: अभी कैसा महसूस कर रहे हैं?

नाइटो: अच्छी जीत के बाद मुझे राहत की सांस मिली है और इसके साथ ही मैंने ये भी दिखा दिया है कि अब मैं अन्य ताकतवर एथलीट्स का सामना करने के लिए तैयार हूँ।

मैं अपने करियर में लगातार आगे बढ़ता रहा हूँ और अब ONE में इन खुले ग्लव्स के साथ सभी चीजें अच्छी हो रही हैं।

Taiki Naito and Savvas Michael show their respect at ONE WARRIOR'S CODE

ONE: क्या आपको लगता है कि आप रोडटंग के खिलाफ टाइटल मैच के करीब पहुंच गए हैं?

नाइटो: हाँ, मुझे लगता है कि मैं थोड़ा तो करीब पहुंच ही गया हूँ। माइकल एक स्ट्रॉन्ग फाइटर हैं इसलिए मुझे अब ज्यादा पहचान मिलने लगी है।

ONE: अगले मैच में किसका सामना करना चाहेंगे?

नाइटो: अगर संभव हुआ तो मैं टाइटल मैच की कामना करूंगा। मैं इंतज़ार करूंगा और हमेशा पूरी तरह तैयार रहूंगा। मुझे खुद पर पूरा भरोसा है इसलिए मुझे अभी कोई अंदाजा नहीं है कि अगला मैच कब होने वाला है।

वहीं अगर टाइटल मैच संभव नहीं है तो कोई थाई एथलीट या फिर ऐसा कोई जो पहले चैंपियन रह चुका हो। ऐसा कोई विशेष नाम नहीं है लेकिन मुझे स्ट्रॉन्ग फाइटर का सामना करना है।

ONE: आपका स्टाइल क्लासिक मॉय थाई एथलीट्स की तरह है, इस बारे में क्या कहेंगे?

नाइटो: मेरा स्टाइल पूरी तरह मॉय थाई पर आधारित नहीं है। अगर मैं थाई फाइटर्स के खिलाफ मॉय थाई स्टाइल का प्रयोग करता हूँ, उनके पास अच्छी तकनीक होती है लेकिन मेरे पास कराटे स्किल्स हैं और यही मेरा सबसे बड़ा हथियार है।

मैं स्ट्रॉन्ग एथलीट्स के खिलाफ जीत दर्ज करना चाहता हूँ और दुनिया को ये दिखाना चाहता हूँ कि जापानी फाइटर भी लगातार जीत सकते हैं।

ये भी पढ़ें: इत्सुकी हिराटा ने बताया, सबसे बड़े चैलेंज को कैसे पास किया

सिंगापुर | 28 फरवरी | ONE: KING OF THE JUNGLE  | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं