मॉय थाई

मॉय थाई में प्रभावशाली शवेल हुक लगाने की तकनीक

जब भी मॉय थाई अटैक्स की बात होती है तो शवेल हुक से पहले कई मूव्स दिमाग में आते हैं।

ये एक खतरनाक मूव साबित हो साबित हो सकता है खासतौर पर जब एक एथलीट को एल्बो, नी और किक्स को काउंटर करना हो।

फिर भी घबराने की कोई बात नहीं है। यहां हम इस बात पर प्रकाश डालने वाले हैं कि आप किस तरह खुद को किसी काउंटर अटैक से बचाते हुए परफेक्ट तरीके से एक शवेल हुक को लगा सकते हैं।

लिवर शॉट के पीछे की साइंस

लिवर शॉट इतना प्रभावशाली क्यों होता है, इस बात को समझने के लिए पहले आपको लिवर के बारे में जानना होगा।

लिवर बॉडी के दाएं हिस्से में पसलियों के नीचे मौजूद होता है। जब भी पसलियों पर अटैक होता है तो उसका सीधा प्रभाव लिवर और उसकी तंत्रिकाओं पर पड़ता है। इससे खून का प्रवाह धीमा पड़ जाता है और दिमाग तक नहीं पहुंच पाता।

अब चूंकि दिमाग की नसों तक खून कम मात्रा में पहुंच रहा होता है तो दिमाग, बॉडी को संकेत देता है कि वो नीचे बैठ जाए जिससे खून का प्रवाह तेज हो जाए और बॉडी के ऊपरी हिस्से और दिमाग तक भी पहुंच सके।

दुर्भाग्यवश लीवर शॉट जिसको भी लगता है, बहुत अधिक दर्द पहुंचाता है। ये मायने नहीं रखता कि किसी एथलीट की बॉडी कितना दर्द झेल सकती है लेकिन इस अटैक के बाद उनके लिए अपने पैरों पर खड़े रह पाना लगभव असंभव हो जाता है।

अक्सर बचाव करने के लिए कोई एथलीट अपने हाथों से इसे रोकने की कोशिश करता है, उसके बाद अपने प्रतिद्वंदी से दूर भागने लगते हैं, नी स्ट्राइक लगती है और अगले ही पल नीचे गिरे हुए नजर आते हैं।



शवेल हुक कैसे लगाएं

Ilias Ennahachi lands a body shot on Petchdam

जब भी लोग लिवर शॉट के बारे में सोचते हैं तो शवेल हुक सबसे पहले दिमाग में आता है। ये अपरकट और हुक के बीच का एक पंच होता है। शवेल हुक को चेहरे पर लैंड करवाने के बजाय लिवर पर लैंड होना होता है।

शवेल हुक को लगाने के लिए दमदार डिफेंस के साथ शुरुआत करें और अपने पिछले हाथ की एल्बो से अपने लीवर को बचाए रखें।

जब भी आप शवेल हुक लगा रहे होते हैं, अपनी अगली एल्बो को नीचे और खुद से दूर 45 डिग्री के एंगल पर रखें। उसके बाद लेफ्ट हैंड लगाएं, अपने प्रतिद्वंदी के दाएं हाथ पर अटैक करें और अंत में पसलियों और लीवर के हिस्से पर अटैक करना चाहिए।

इसके प्रयोग के साथ की जाने वाली मूवमेंट्स एक आम हुक से काफी मेल खाती हैं।

शवेल हुक लगाने की तैयारी कैसे करें

Rodtang Jitmuangnon

शवेल हुक को लगाने से पहले जैब का प्रयोग करें। जब आप जैब लगा रहे होते हैं तो देखिए आपके प्रतिद्वंदी की उसके प्रति प्रतिक्रिया क्या रही है। क्या आपके प्रतिद्वंदी ने अपने बचाव में अपने हाथ ऊपर उठा लिए थे, क्या लिवर को अटैक झेलने के लिए खुला छोड़ दिया था? यदि हां, तो आप जैब से अपना फोकस शिफ्ट कर शवेल हुक लगा सकते हैं।

अगर आपके प्रतिद्वंदी इस रणनीति में नहीं फंसते हैं तो जैब के तुरंत बाद राइट क्रॉस लगाएं। राइट क्रॉस से हो सकता है कि वो खुद को डिफेंड करने के दौरान अपने लिवर को अटैक के लिए खुला छोड़ दें।

अगर आप एक साउथपॉ (बाएं हाथ के) एथलीट हैं तो लिवर शॉट लगाने के लिए आपको अलग रणनीति अपनानी होगी।

ऐसा इसलिए क्योंकि साउथपॉ एथलीट का स्टांस थोड़ा अलग होता है, इसलिए इसके लिए आपको थोड़ी और अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। इस बात को ध्यान में रखते हुए आप पंचों का इस्तेमाल कीजिए जिससे हो सकता है कि आपके प्रतिद्वंदी अपने बचाव में अपने हाथों को ऊपर उठा लें। इसके बाद शवेल हुक लगाने के बजाय अपने प्रतिद्वंदी की बॉडी के बाएं हिस्से पर स्ट्रेट लेफ्ट पंच लगाइए।

ये एक ऐसी रणनीति है जिसे अनुभवी एथलीट्स को ही अमल में लाना चाहिए, क्योंकि जब आप लेफ्ट हैंड लगा रहे होते हैं तो उसी समय आप एल्बो, नी या हाई किक के अटैक को अनुमति दे रहे होते हैं।

इसके बाद ये मायने नहीं रखता कि आप दाएं हाथ के एथलीट हैं या बाएं हाथ के, एक बार शवेल हुक सही जगह पर लैंड हुआ तो आपके प्रतिद्वंदी के लिए दोबारा अपने पैरों पर खड़े हो पाना बहुत मुश्किल हो जाएगा।

ये भी पढ़ें: मार्शल आर्ट्स में पंचों की सटीकता बढ़ाने के 4 तरीके