लाइफ स्टाइल

मार्शल आर्ट्स में पंचों की सटीकता बढ़ाने के 4 तरीके

भले ही आप किसी भी मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग कर रहे हों आपके पास ताकतवर बॉक्सिंग स्किल्स होनी चाहिए।

ये बॉक्सिंग स्किल्स आक्रामक और रक्षात्मक तरीके से अपकी मदद करेगी। इन सबके ऊपर “द स्वीट साइंस” में अच्छी पकड़ बनाने से आप एक बेहतर स्ट्राइकर बन जाएंगे।

4 तरीकों पर एक नजर जिनसे स्पारिंग सेशंस में पंचिंग के दौरान आपकी एक्यूरेसी बढ़ेगी।

अपने हाथों को फ्लो स्टेट में जाने दें

जब आपकी स्पारिंग शुरू होती है तो अपने हाथों अच्छे फ्लो में आने दे, इसका मतलब है कि खुद को ट्रेनिंग सेशन में पूरी तरह झोंक दें।

एक अच्छी मानसिक स्थिति में आने के बाद आप अपने कॉम्बिनेशंस को आसानी से ढूंढ पाएंगे और आपका शरीर बिना किसी मेहनत के अपने आप काम करना शुरू कर देगा। यही चीज़ स्ट्राइक्स से बचाव के लिए भी आती है। जब आप बचकर विरोधी के गलती करने का इंतजार करते हैं तो आपका दिमाग बिना शरीर को धकेले जवाब दे देता है।

ONE बेंटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन नोंग-ओ गैयानघादाओ फ्लो स्टेट में बड़ी आसानी से आ जाते हैं।

नवंबर 2019 में आयोजित हुए ONE: EDGE OF GREATNESS में सैमापेच फेयरटेक्स के खिलाफ नोंग-ओ ने इतने सही समय पर स्ट्राइक्स लगाईं कि चौथे राउंड में उनका एक वार विरोधी को ढेर करने में सफल रहा।

अपने पैरों पर ज्यादा जोर न डालें

जब सही तरह से पंचिंग करने की बात आती है तो आपके हाथों की तरह पैर भी काफी आवश्यक हैं, इस वजह से पैरों पर कम वजन डालें।

जब आपका स्पारिंग पार्टनर स्ट्राइक लगाता है तो चाहेंगे कि सही तरह से रोकने में अपको चोट न लगे। आप ये भी चाहते हैं कि जब आप स्ट्राइक लगाएं तो आपका विरोधी फिर हमला न करें। आपका फुटवर्क ही इसे संभव करने का तरीका है।

यही चीज़ दिसंबर 2019 में आयोजित हुए ONE: MARK OF GREATNESS में अलावेर्दी “बेबीफ़ेस किलर” रामज़ानोव ने झांग “मॉय थाई बॉय” चेंगलोंग को हराकर ONE बेंटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड टाइटल जीतने के लिए की थी।

जैसे ही रूस के हेवी-हिटर कॉम्बिनेशन को खत्म कर रहे थे तो वो झांग की रेंज से बाहर निकल रहे थे इसलिए चीन के स्टार इसे सही तरह से रोक नहीं पाए।



ताकत की बजाय तेज़ी लाने का प्रयास करें

महान बॉक्सर्स आपको बताएंगे कि सप्ताह के हर दिन तेज़ी, ताकत को हरा सकती है। अगर आपका शॉट पहले लगा तो आप जरूर जल्द ही पॉइंट्स स्कोर कर पाएंगे और आप प्रतिद्वंदी को आक्रमण की तैयारी करने से रोक सकेंगे।

तेज़ी जरूर सही तरह से शॉट्स लगाने में मदद करती है। ताकत से आए पंच के मुकाबले तेज़ी से आए किसी भी पंच को रोकना मुश्किल है।

इसी वजह से ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन जोशुआ “द पैशन” पैचीओ इतने सफल हैं। Team Lakay के फिलीपीनो स्टार जब पंच लगाते हैं तो वो ज्यादातर सटीक रहते हैं क्योंकि वो ताकत पर नहीं बल्कि टाइमिंग पर भरोसा करते हैं।

नवंबर 2017 में आयोजित हुए ONE: LEGENDS OF THE WORLD में पैचीओ ने शानदार नॉकआउट से रॉय “द डॉमिनेटर” डोलीगेज़ को हराया था।

फेइंट्स का अभ्यास करें

बॉक्सिंग में फेइंट्स (कुछ का कुछ और करना, उदाहरण के लिए अपने प्रतिद्वंदी को दिखाना की आप पंच लगाने जा रहा हैं लेकिन इसकी बजाय कुछ और करें) एक अच्छा दांव साबित हो सकता है। अगर आप इसे सही तरह से उपयोग करें तो ये प्रतिद्वंदी की कमियों को ढूंढने में मदद कर सकता है, जिसका अर्थ है कि आपके पास सही तरह से पंच लगाने का ज्यादा चांस होगा।

ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन जियोर्जियो “द डॉक्टर” पेट्रोसियन, किकबॉक्सिंग के सर्वश्रेष्ठ बॉक्सर्स में से एक हैं और वो प्रतिद्वंदी की गलती देखने के लिए फेइंट्स तकनीक का उपयोग करते हैं।

सैमी “AK47” सना के साथ ONE: CENTURY PART II में ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप फाइनल के दौरान “द डॉक्टर” ने फेइंट्स के साथ साउथपॉ जैब की मदद से अटैक्स को सेटअप किया जिसमें शानदार पंचेस से लेकर किक्स और नीज़ भी शामिल थी और इसी वजह से वो इस बड़ी प्रतियोगिता को जीत पाए।

ये भी पढ़ें: ताकतवर मॉय थाई डिफेंस पाने के लिए 5 जरूरी बातें