लाइफ स्टाइल

खुद में लगातार सुधार करने के लिए एडुअर्ड फोलायंग द्वारा दी गई जरूरी टिप्स

पूर्व ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन एडुअर्ड “लैंडस्लाइड” फोलायंग ने अपने जिंदगी में बहुत चुनौतियों को झेला है। बचपन में उन्हें गरीबी से लड़ाई लड़नी पड़ी है।

वो फिलीपींस के सबसे शानदार वर्ल्ड चैंपियंस में से एक हैं और जिसने कई सारे मोड़ देखे हैं और ONE Championship के केज के अंदर और बाहर दोनों जगह मुश्किलों को मात दी है।

अपने जीवन में इतनी मुश्किलें झेलने के बाद भी 36 वर्षीय स्टार हमेशा अनुभव से कुछ पाने की चाह रखता है जो उन्हें इस समय विश्व के सबसे अच्छे मार्शल आर्टिस्ट्स में से एक बनाती है।

खुद में लगातार सुधार करने के लिए फोलायंग ने कुछ बातें बताई हैं जो उन्होंने अपने मार्शल आर्ट्स के सफर में सीखी है। उन्होंने बेहतर बनाने के राज बताए हैं।

सुनने की चाह रखना

Eduard Folayang doing shadow boxing

फोलायंग ने कहा, “मार्शल आर्ट्स में हमें हमेशा विनम्र रहना चाहिए। विनम्रता सबसे ज्यादा जरूरी पाठ है, जो ट्रेनिंग की शुरुआत में सबसे पहले सीखते हैं। विनम्र रहने से हम आलोचनाओं को भी अच्छे से स्वीकार कर सकते हैं।”

“ट्रेनिंग के दौरान अपने कोच की सुनना सबसे ज्यादा जरूरी है, इससे आप अपनी कमजोरी और ताकत में सुधार कर सकते हैं। अपने साथियों से मिली सलाह भी अंदर से बुरी आदतें पता करने में मदद करती है।

इन गलतियों पर हमें ट्रेनिंग के दौरान काम करना चाहिए। खैर, उन्हें जानना जरूरी है और सुधार की ओर पहला कदम बढ़ाना भी आवश्यक है।

उन्होंने कहा, “अंत में आप इससे अच्छे एथलीट बन जाएंगे और आपके साथी ट्रेनिंग में आपका प्रदर्शन देखकर ये चीज़ महसूस करेंगे।”

अपने आसपास उन लोगों को लाएं जिनसे आप कुछ सीख सकें

Eduard Folayang with Team Lakay members

फोलायंग और दिग्गज फिलीपीनो वुशु कोच मार्क सांगियाओ बागियो सिटी की मार्शल आर्ट्स Team Lakay को चलाते हैं और ये देश के सुंदर पहाड़ी इलाके में स्थित है।

वो एक साथ टैलेंटेड ग्रुप का नेतृत्व करते हैं जो इस खेल में ऊँचे स्तर पर मुकाबले करते हैं जिसमें एमेच्योर, राष्ट्र स्तर और प्रोफेशनल्स शामिल है। Team Lakay का नेतृत्व करते हुए “लैंडस्लाइड” हमेशा कहते हैं कि उन्हें हमेशा सबसे अच्छा बनकर खुद का बचाव करना है।

फोलायंग ने कहा, ” टीम लेके में हम विविधता हासिल करने का प्रयास करते हैं। हम काफी ऊंचे स्तर का खेल खेलते हैं, इसलिए हमारे लिए ये प्रतियोगिता है। हमें हर स्टाइल में अच्छा होना पड़ेगा।”

“हम पूर्ण रूप से मार्शल आर्टिस्ट हैं। कुछ के पास रेसलिंग में ताकत है, कुछ के पास स्ट्राइकिंग की स्किल्स है और बाकी ग्राउंड पर बढ़िया काम करते हैं। सबसे जरूरी ये है कि हम कैसे इन स्किल्स को एक-दूसरे में भेजे और एक दूसरे से सीखें।”

Eduard Folayang during break

ये हर टीम के लिए असल सार है। एक साथ रहकर सीखना और सुधार करना ही साथ ट्रेनिंग करने का मकसद है और फोलायंग कभी भी अपनी स्किल्स को दर्शाने में झिझकते नहीं है।

वो कहते हैं, “मैंने अपनी टीम के साथियों से अपने करियर में काफी कुछ सीखा है, कुछ चीज़ों ने मेरी केज के बाहर भी मदद की है।”

होनोरियो बानारियो के द्वारा मैंने दृढ़ता सीखी है। अपने करियर में खराब दौर से गुजरने के बाद भी उन्होंने कभी भी हार नहीं मानी और सुधार पर ध्यान दिया। उन्होंने मुझे सिखाया कि हम कभी भी पूरी तरह बाहर नहीं होते और बताया कि हमेशा एक मौका जरूर रहता है।

जेहे युस्ताकियो ने मुझमें आत्मविश्वास डाला है जिससे हर स्थिति का सामना करने में मुझे आसानी होती है। ये जरूरी नहीं है कि कौन आपका प्रतिद्वंदी है, हमें शांत रहना है और अपनी योग्यता पर विश्वास रखना है क्योंकि हमेशा मुश्किलों को पछाड़ने का एक रास्ता जरूर होता है।

केविन बेलिंगोन की मदद से मैंने जबरदस्त अनुशासन और एक चीज़ पर ध्यान लगाना सीखा। मैं जानता हूँ कि केविन सबसे ज्यादा मेहनत करने वाले प्रतियोगी में से एक हैं, कुछ भी उनका ध्यान को भंग नहीं कर सकता है। ये उन्हें एक महान मार्शल आर्टिस्ट बनाता है।”

असफल होने से डरे नहीं

Martin Nguyen with Eduard Folayang

भले ही फोलायंग को कई बार करियर में हार का सामना करना पड़ो हो लेकिन ये उन्हें एक अच्छा मार्शल आर्टिस्ट बनने में मदद करता है। इसके बाद भी अगर वो अपनी निष्ठा छोड़ देते तो शायद अभी अपने करियर के इस मुकाम पर नहीं होते।

उन्होंने कहा, “अगर एक चीज़ जो मैंने इतने सालों में मार्शल आर्ट्स में सीखी है, वो ये है कि प्रतियोगिता में जीत सब कुछ नहीं है। जीतना भी अहम है क्योंकि इससे आपको अनुभव मिलता है और अपनी गलतियों को सुधारने का मौका मिलता है ”

“हार हमें हमेशा सुधार करना सिखाती है और उस समय चीज़ें हमारे अनुसार नहीं जाएगी भले ही हमने किसी भी तरह से तैयारी की हो। अनुभव हमारे करियर में काफी बड़ा किरदार निभाता है और शायद ये प्रतियोगी की सबसे अहम चीज़ है जो हासिल की जा सकती है।

“ये हमें समझने में मदद करती है कि हमें हार या जीत को लेकर बात नहीं करनी चाहिए क्योंकि हमें गलतियों से सुधार करना होता है जो हमें अच्छा मार्शल आर्टिस्ट बनाती है। अनुभव हमें कल के लिए आत्मविश्वास देता है। लेकिन जरूर जीतना अच्छा है क्योंकि ये बताता है कि हमने जो भी ट्रेनिंग में किया है, वो सही तरह से हुआ है।”