मॉय थाई

साल 2019 में ONE Super Series के टॉप-10 मुकाबले

ONE Super Series ने इस साल काफी संख्या में धमाकेदार मैचों से दुनिया भर के फैंस का ध्यान आकर्षित किया है।

ONE के इस डिविजन ने खुद को इंडस्ट्री का लीडर साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है और इसका श्रेय मैचमेकिंग (मैच-कार्ड तैयार करना) और एलीट स्तर के एथलीट्स के प्रदर्शन को जाता है।

वैसे तो इस साल दर्जनों धमाकेदार मुकाबले देखे गए लेकिन कुछ ऐसे भी रहे जिनमें ड्रामा और जबरदस्त एक्शन भी शामिल रहा।

यहाँ आप देख सकते हैं साल 2019 में ONE Super Series में मॉय थाई और किकबॉक्सिंग के टॉप-10 मुकाबले।

#1 जोनाथन हैगर्टी vs. रोडटंग जित्मुआंगनोन

अगस्त में आयोजित हुए ONE: DAWN OF HEROES में जोनाथन हैगर्टी “द जनरल” को रोडटंग जित्मुआंगनोन “द आयरन मैन” के खिलाफ ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल डिफेंड करना था और दोनों के बीच जबरदस्त मुकाबला और कड़ी टक्कर देखने को मिली।

मैच के शुरुआती चरण में इंग्लिश स्ट्राइकर ने अच्छी रणनीति के तहत अपने प्रतिद्वंदी पर पकड़ बनाई हुई थी। उन्होंने रोडटंग को जैब से लेकर पुश किक्स से दबाव में ला दिया था, ये किसी मास्टरक्लास से कम नहीं था क्योंकि हैगर्टी अपनी रीच का लगातार फायदा उठा रहे थे।

खैर, रोडटंग ने भी अब आगे बढ़ना शुरू किया। आखिरकार तीसरे राउंड में जाकर थाईलैंड के स्टार एथलीट ने जोरदार पंच और लो-किक्स से जबरदस्त वापसी करने की कोशिश की लेकिन हैगर्टी ने भी आक्रामक रुख अपनाते हुए जबरदस्त तरीके से रोडटंग के अटैक का जवाब दिया।

चौथे राउंड में “द आयरन मैन” ने डिफेंडिंग वर्ल्ड चैंपियन को जोरदार राइट हैंड लगाया और ऐसा लगने लगा था कि उन्हें अपने प्रतिद्वंदी पर अब बढ़त मिल चुकी है। लेकिन आखिरी राउंड में “द जनरल” ने जीतने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी।

15 मिनट के जबरदस्त एक्शन के बाद जजों ने रोडटंग को सर्वसम्मत निर्णय से विजेता घोषित किया था और इसी के साथ ONE Super Series के मैच ऑफ द ईयर में उन्होंने वर्ल्ड चैंपियनशिप भी अपने नाम की।

अब 10 जनवरी को थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में आयोजित होने वाले ONE: A NEW TOMORROW में दोनों के बीच वर्ल्ड टाइटल के लिए रीमैच होने वाला है।

#2 नोंग-ओ ग्यांगडाओ vs सैमापेच फेयरटेक्स

ONE Bantamweight Muay Thai World Champion Nong-O Gaiyanghadao hits a clean cross on Saemapetch Fairtex

ONE बेंटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन नोंग-ओ ग्यांगडाओ ने नवंबर में आयोजित हुए ONE: EDGE OF GREATNESS में सैमापेच फेयरटेक्स के खिलाफ जबरदस्त मुकाबले में अपना टाइटल डिफेंड किया था।

पहले राउंड में चैलेंजर ने अपने प्रतिद्वंदी के सामने कड़ी चुनौती पेश की, कुछ जोरदार पंच और किक्स भी लगाईं। पहली नजर में ऐसा प्रतीत होने लगा था कि ये वर्ल्ड टाइटल के लिए बेहद करीबी और कड़ा मुकाबला होने वाला है।

दूसरे राउंड में नोंग-ओ ने आक्रामक रुख अपनाया और अपनी बेहतरीन बॉक्सिंग स्किल्स से सैमापेच को 2 बार नीचे गिराने में सफलता पाई थी।

इस तरह के अटैक के बाद अधिकतर एथलीट दूसरे राउंड में ही हार मान लेते लेकिन Fairtex Team के मेंबर ने हौंसला नहीं खोया और जताया कि वो आसानी से हार मानने वालों में से नहीं हैं।

मुकाबला चौथे राउंड तक चला, राउंड में 90 सेकेंड से भी कम समय शेष था लेकिन नोंग-ओ ने अपने प्रतिद्वंदी को बेहतरीन स्ट्रेट राइट लगाया और अगले ही पल सैमापेच नीचे गिर पड़े और उन्हें नॉकआउट के जरिए शानदार जीत मिली।

#3 जोनाथन हैगर्टी vs सैम-ए गैयानघादाओ

मई में आयोजित हुए ONE: FOR HONOR में सैम-ए गैयानघादाओ रिंग में ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन के रूप में उतरे थे लेकिन हैगर्टी ने अपने प्रदर्शन से साफ़ दर्शा दिया था कि कुछ भी हो जाए सैम-ए बेल्ट के साथ रिंग से बाहर नहीं जाने चाहिए।

हालांकि, इस मैच में सैम-ए के पास अपने प्रतिद्वंदी के मुकाबले कहीं ज्यादा अनुभव था लेकिन इंग्लैंड के एथलीट ने शुरुआती राउंड में धैर्य नहीं खोया और ज्यादा दबाव महसूस नहीं किया।

हैगर्टी ने पंच लगाए, किक्स लगाईं और तब तक एल्बो भी लगाना जारी रखा, जब तक डिफेंडिंग वर्ल्ड चैंपियन ने अपने डिफेंस में उनकी ट्रेडमार्क कही जाने वाली लेफ्ट किक नहीं लगाई और दूसरे राउंड के अंतिम सेकेंडों में दोनों एक-दूसरे के काफी करीब रहकर अटैक कर रहे थे।

“द जनरल” तीसरे राउंड में करीबी अंतर से Evolve Star से आगे रहे और इस बीच उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को नीचे गिराने में भी सफलता मिली थी लेकिन चौथे राउंड में सैम-ए ने जबरदस्त वापसी की और इस मैच में उनका सबसे अच्छा प्रदर्शन चौथे राउंड में ही आया। इससे पांचवें और आखिरी राउंड पर सबकी नजरें टिकी हुई थीं।

हैगर्टी थक चुके थे लेकिन किसी तरह उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को जोरदार राइट हैंड लगाते हुए नीचे गिराने में सफलता पाई और इसी राइट हैंड से मैच का परिणाम लगभग तय हो चुका था। सैम-ए ने भी काफी कोशिश की कि वो मैच में किसी तरह वापसी कर सकें लेकिन वो ऐसा नहीं कर पाए और आखिर में जोनाथन को सर्वसम्मत निर्णय से अपने करियर की सबसे बड़ी जीत के साथ-साथ वर्ल्ड टाइटल भी हासिल हुआ था।

#4 इलियास एनाहाचि vs पेचडम पेटयिंडी एकेडमी

पेचडम पेटयिंडी एकेडमी “द बेबी शार्क” ONE फ़्लाइवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड टाइटल जीतने के सफर में किसी के रोके नहीं रुक रहे थे।

मगर जब पहली बार उन्हें अपने टाइटल का बचाव करना था, तो अगस्त में हुए ONE: DREAMS OF GOLD में डच-मोरक्कन इलियास एनाहाचि “ट्वीटी” ने उनकी इस जबरदस्त फॉर्म को थाम दिया था।

दोनों को जबरदस्त हिटिंग स्किल्स के लिए जाना जाता है और जब सर्कल में दोनों का आमना-सामना हुआ तो एनाहाचि ने थाई एथलीट पर लगातार दबाव बनाया हुआ था लेकिन “द बेबी शार्क” ने भी कुछ बेहतरीन बॉडी शॉट्स से वापसी की थी।

दोनों में से कोई भी बैकफुट पर जाने के लिए तैयार नहीं था और इसी बीच एनाहाचि ने जोरदार पंच लगाए और इसी चीज ने दोनों के बीच बड़ा अंतर पैदा कर दिया था। उन्होंने Petchyindee Academy मेंबर को लेफ्ट हुक लगाया और उसके बाद जोरदार पंचों की बरसात कर दी जिससे पेचडम नीचे गिर पड़े।

पेचडम ने एक बार नीचे गिरने के बाद काफी कोशिश की कि वो लड़ना जारी रख सकें लेकिन एनाहाची ने जबरदस्त अंदाज में जीत दर्ज की और वर्ल्ड टाइटल भी जीता। इसी के साथ ये मैच साल में किसी एथलीट द्वारा किए गए सबसे शानदार डेब्यू मुकाबलों में से भी एक बना।

#5 स्टैम्प फेयरटेक्स vs जेनेट टॉड

Two-sport ONE World Champion Stamp Fairtex punches American star Janet Todd

फरवरी में हुए ONE: CALL TO GREATNESS में स्टैम्प फेयरटेक्स ने 5 राउंड तक चले जबरदस्त मुकाबले में जेनेट टॉड को हराते हुए पहला ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया था।

शुरुआत से ही टॉड थाई एथलीट पर दबाव बनाने का प्रयास कर रही थीं, लेकिन स्टैम्प ने काउंटर पंचों से टॉड को पीछे धकेलने की कोशिश की।

इसके बावजूद अमेरिकी एथलीट टॉड ने लगातार अपनी प्रतिद्वंदी पर दबाव बनाए रखा और जोरदार स्ट्राइक्स लगाईं। स्टैम्प अपनी प्रतिद्वंदी के अटैक का डटकर सामना करती रहीं और जवाब में राइट हैंड और जोरदार नी से भी टॉड को क्षति पहुंचाती रहीं।

टॉड हार मानने वालों में से नहीं थीं, चौथे और पांचवे राउंड में उन्होंने जबरदस्त प्रदर्शन करना जारी रखा लेकिन स्टैम्प से उन्हें कड़ी टक्कर मिल रही थी। आखिरकार टॉड के इतने प्रयास भी उन्हें जीत दिलाने में नाकाफी साबित हुए।

स्टैम्प को सर्वसम्मत निर्णय से जीत मिली और इसके साथ ही वो ना केवल पहली ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन बनीं बल्कि ONE के इतिहास में 2 स्पोर्ट्स की पहली वर्ल्ड चैंपियन भी बनीं।

बाकी बेस्ट मुकाबले