किकबॉक्सिंग

स्टैम्प फेयरटेक्स Vs. जेनेट टॉड II – जीत के 4 तरीके

ONE: KING OF THE JUNGLE के मेन इवेंट में स्टैम्प फेयरटेक्स को अपनी पुरानी प्रतिद्वंदी जेनेट “JT” टॉड के खिलाफ ONE एटमवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड टाइटल डिफेंड करना है।

शुक्रवार, 28 फरवरी को सिंगापुर में होने वाले इस मुकाबले से पहले दोनों एथलीट्स एक-दूसरे की स्किल्स से भली-भांति वाकिफ हैं क्योंकि ये पहले भी 5 राउंड तक चले धमाकेदार ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल मुकाबले का हिस्सा रह चुकी हैं जिसमें स्टैम्प को जीत मिली थी।

हालांकि, थाई वर्ल्ड चैंपियन और उनकी जापानी-अमेरिकी प्रतिद्वंदी इस बार नए नियमों को ध्यान में रख रिंग में उतरने वाली हैं और उनके पास अपनी-अपनी स्किल्स में सुधार करने के लिए पूरा एक साल का समय था। इसलिए ये रीमैच पहले के मुकाबले काफी अलग साबित होने जा रहा है।

हम ऐसे 4 तरीके आपके सामने रख रहे हैं जिनसे सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में होने वाला ये मैच समाप्त हो सकता है।

#1 टॉड के प्रभावशाली स्ट्रेट शॉट्स

टॉड के खतरनाक जैब और क्रॉस ये तय करने वाले हैं कि उन्हें इस मैच में बढ़त मिलेगी या नहीं।

कैलिफ़ोर्निया से आने वालीं टॉड अपने स्ट्रेट शॉट्स को सही समय और सटीक निशाने पर लगाना अच्छे से जानती हैं। पिछले मैच में विशेष रूप से उन्होंने अपने लीड हैंड से स्टैम्प पर लगातार वार करते हुए क्षति पहुंचाई थी और इसी प्रभाव के कारण वो Fairtex टीम की स्टार के अटैक को रोक पाने में सफल हो रही थीं।

स्टैम्प के साथ अपने पिछले मुकाबले के बाद उन्होंने अपने राइट हैंड को और भी प्रभावशाली बनाया है। टॉड ने ONE: CENTURY में एकातेरिना “बार्बी” वंडरीएवा को हेड और बॉडी पर वार करते हुए झकझोर कर रख दिया था और कॉम्बिनेशन के प्रयोग के बाद राइट हाई किक से मैच को अंतिम रूप दिया था।

#2 स्टैम्प का खतरनाक राइट हैंड

चाहे स्टैम्प के पंचों में उतनी तेजी ना हो जितनी उनकी प्रतिद्वंदी के पास है लेकिन इनमें इतनी ताकत होती है जिससे उनके सामने वाले एथलीट को दिक्कत होने लगती है। फेयरटेक्स का मानना है कि उनका ताकतवर राइट हैंड सिंगापुर में उन्हें मैच में बढ़त दिलाने में काफी मदद करने वाला है।

निश्चित तौर पर पिछले मैच में जब भी बॉक्सिंग का प्रयोग हुआ उनमें स्टैम्प को अपनी ताकत के कारण बढ़त हासिल हुई थी। वो टॉड के शॉट्स का मजबूती से सामना करती रहीं और जवाब में ओवरहैंड और स्ट्रेट राइट भी देखने को मिले और इसी कारण Boxing Works की स्टार को कहीं ना कहीं घबराहट महसूस होने लगी थी।

2-स्पोर्ट ONE वर्ल्ड चैंपियन ने “JT” के जैब को काउंटर करने के लिए इसका इस्तेमाल किया था और अब अगर एक बार फिर वो ऐसा करने में सफल रहती हैं तो जाहिर तौर पर उन्हें मैच के शुरुआती चरण में अच्छी बढ़त मिलने वाली है। इसी बढ़त से वो मैच को आगे भी अपने कंट्रोल में रख पाएंगी।

#3 टॉड की लो किक्स

टॉड का मानना है कि किक्स के मामले में वो अपनी प्रतिद्वंदी से बेहतर हैं और अपने हालिया मुकाबलों में प्रभावशाली लो किक्स लगाते हुए उन्होंने लगातार ये दर्शाया भी है।

अपने पहले मैच में वो अपनी शिन से लगातार स्टैम्प की थाई (जांघ) को क्षति पहुंचा रही थीं और कुछ इसी तरह की रणनीति से उन्हें “किलर बी” चुआंग काई टिंग के खिलाफ करीबी मुकाबले में जीत मिली थी। पिछले साल मई में वांग चिन लोंग के खिलाफ उनकी किक्स का प्रभाव और भी बढ़ चला था और इसी वजह से उन्होंने चीनी एथलीट को 3 बार गिराने में सफलता प्राप्त की थी।

स्टैम्प उससे ज्यादा स्ट्राइक्स झेलने में सक्षम हैं लेकिन अगर टॉड अपने फुटवर्क से मौजूदा 2-स्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियन के राइट हैंड से बचने में सफल रहीं तो आखिरी राउंड्स में उनके पास अपनी प्रतिद्वंदी पड़ बढ़त बनाने के लिए ज्यादा ताकत बची होगी।

#4 स्टैम्प की दमदार काउंटर-स्ट्राइक्स

स्टैम्प इतनी आसानी से टॉड को दूरी बनाकर किक्स नहीं लगाने देना चाहेंगी और इसके लिए जरूर उन्होंने गेम प्लान तैयार किया होगा। 34 वर्षीय को पहले वर्ल्ड टाइटल मुकाबले में दमदार काउंटर स्ट्राइक्स के बाद जरूर ये एहसास हुआ होगा कि स्टैम्प कोई आसान प्रतिद्वंदी नहीं हैं।

करीब हर बॉडी किक का उन्होंने राइट हैंड से जवाब दिया था और इसी कारण उन्होंने टॉड को अगली बार किक लगाने से पहले 2 बार सोचने पर मजबूर किया। 22 वर्षीय थाई सुपरस्टार भी टॉड की लो किक्स का जवाब राइट हैंड और राइट किक से दे रही थीं।

डिफेंडिंग वर्ल्ड चैंपियन चाहे इस बार किक्स को पकड़ पाने में सक्षम ना हों लेकिन किकबॉक्सिंग नियमों के साथ उन्होंने अच्छा तालमेल बैठा लिया है। अब उन्हें जिस भी अटैक का सामना करना पड़ेगा वो उसका उसी अंदाज में जवाब देने के लिए तैयार हैं।

ये भी पढ़ें: जेनेट टॉड ने स्टैम्प फेयरटेक्स के खिलाफ अपनी जीत की कुंजी का खुलासा किया