3 साल पहले हुई मुलाकात के बाद अब कॉम्पटन, होल्ज़कन का सामना करने के लिए हैं तैयार

Elliot Compton IMGL9870

इलियट “द ड्रैगन” कॉम्पटन का मानना रहा है कि एक बार उनके द्वारा एक होटल में कहे गए वचन किसी ना किसी दिन जरूर सच साबित होंगे।

साल 2017 में ऑस्ट्रेलियाई स्टार का चीन में एक मैच होना था। वो और उनके पिता, जो उनके ट्रेनर हैं, ने कमरे में जाने के लिए लिफ्ट ली और अभी लिफ्ट का दरवाजा बंद भी नहीं हुआ था कि तभी एक नए मेहमान ने उन्हें जॉइन किया।

कॉम्पटन ने उन्हें तुरंत पहचान लिया और वो व्यक्ति कोई और नहीं बल्कि किकबॉक्सिंग लैजेंड नीकी “द नेचुरल” होल्ज़कन थे।

दोनों ने एक-दूसरे को देखा, इस बीच कॉम्प्टन ने भांप लिया था कि होल्ज़कन को कोई अंदाजा नहीं था कि उनके बराबर में कौन खड़ा है। सभी लिफ्ट से उतरे और कॉम्पटन, होल्ज़कन को तब तक देखते रहे जब तक वो वहां से चले नहीं गए।

कॉम्पटन को उस समय ज्यादा पहचान नहीं मिली थी, उस दौरान उन्होंने अपने पिता के सामने एक बात कही।

उन्होंने बताया, “मैंने अपने पिता से कहा, ‘एक दिन मैं इस एथलीट का सामना जरूर करूंगा।'”

Australian Muay Thai fighter Elliot Compton

3 साल बाद अब वो समय आखिरकार आ ही गया।

शुक्रवार को ONE: BIG BANG II के को-मेन इवेंट में #5 रैंक के लाइटवेट कंटेंडर कॉम्पटन का सामना #1 रैंक के कंटेंडर होल्ज़कन से होगा।

कॉम्पटन ने आगे कहा, “मैं जानता था कि ये समय जरूर आएगा, मुझे पहले दिन से खुद पर भरोसा था। मैंने इस खेल को बेस्ट एथलीट्स के खिलाफ मैचों से दूर रहने के लिए नहीं चुना था।”

डच स्टार केवल #1 रैंक के लाइटवेट किकबॉक्सिंग कंटेंडर ही नहीं बल्कि कई बार के किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन भी रहे हैं और अपने करियर में कई टॉप लेवल के एथलीट्स का सामना कर चुके हैं।

“द नेचुरल” पिछले कई सालों से निरंतर अच्छा प्रदर्शन करते आए हैं, उनका स्टैमिना अच्छा है और काफी आक्रामक भी हैं। यही बातें उन्हें “द ड्रैगन” के सबसे कठिन प्रतिद्वंदियों में से एक बनाती हैं।

कॉम्पटन ने कहा, “इसी कारण मैं इस मैच के लिए उत्साहित हूं, एक ऐसा मैच जो कभी मेरा सपना हुआ करता था। मैं होल्ज़कन के खतरनाक मूव्स का सामना करने के लिए बेताब हूं।”

“हम सर्कल के बीच में रहकर एक-दूसरे पर अटैक करेंगे और निरंतर 3 राउंड्स तक तगड़ा मार्शल आर्ट्स एक्शन देखने को मिलेगा।”

कॉम्पटन दुनिया के महान किकबॉक्सर्स में से एक के खिलाफ एक पुरानी रणनीति के साथ उतरेंगे, एक छोटी गलती भी उनपर बहुत भारी पड़ सकती है। ऑस्ट्रेलियाई स्टार ने खुद को अच्छे से तैयार किया है। वो जानते हैं कि महान एथलीट्स की भी कुछ कमजोरियां होती हैं और उन्हें होल्ज़कन के खिलाफ इसी वजह से बढ़त बनाने की उम्मीद होगी।

31 वर्षीय स्टार ने कहा, “मुझे लगता है कि उन्हें भी कभी-कभी खुद की स्किल्स पर संदेह होता होगा।”

“उन्हें दबाव में आना पसंद नहीं है। रेगिअन इरसल के खिलाफ मैच में जब भी वो दबाव में आते तो बैकफुट पर रहने की रणनीति अपना रहे थे। अगर मैं भी उन्हें बैकफुट पर धकेलने में सफल रहा तो मेरी भी जीत की संभावनाएं बढ़ जाएंगी।

“मुझे उनके गेम प्लान से मतलब नहीं है, मुझे केवल अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए जीत दर्ज करनी है।”



कॉम्पटन को खुद की स्किल्स पर पूरा भरोसा है और उनका मानना है कि उन्हें अपने अनोखे स्टाइल की मदद से ही बढ़त मिल सकती है।

ऑस्ट्रेलियाई स्टार ने कहा, “मेरे प्रतिद्वंदियों को हमेशा अप्रत्याशित चीजों के होने की उम्मीद रखनी चाहिए। यही बात मुझे नीकी के सबसे खतरनाक प्रतिद्वंदियों में से एक बनाती है।”

“वो लगातार हार झेलकर रिंग में उतरने वाले हैं इसलिए मेरे लिए बढ़त प्राप्त करना आसान हो सकता है। वो अच्छी लय में वापस आने के लिए जीत दर्ज करने की कोशिश करेंगे। यहां उसे ही जीत मिलेगी जो मानसिक तौर पर ज्यादा मजबूत होगा।

“मैं डिविजन के सभी एथलीट्स को सावधान करना चाहता हूं। मैं जानता हूं कि वो आसानी से हार मानने वालों में से नहीं हैं, लेकिन मैं भी पीछे हटने को तैयार नहीं हूं। यही बातें इस मुकाबले को बाउट ऑफ द ईयर बना सकती हैं।”

“द ड्रैगन” एक धमाकेदार मुकाबले की उम्मीद कर रहे हैं और उन्हें फिलहाल परिणाम की भी चिंता नहीं है। उनका पूरा फोकस जीत दर्ज करने पर होगा।

उन्होंने कहा, “परिणाम स्टॉपेज से आए या जजों के फैसले से। मैं तब तक आक्रामकता के साथ अटैक करूंगा, जब तक मुझे जीत नहीं मिल जाती। मैं उन्हें अपने मूव्स में फंसाकर जीत प्राप्त करने का प्रयास करूंगा।”

पिछले एक साल में ऑस्ट्रेलियाई स्ट्राइकर को कई बदलावों से गुजरना पड़ा है। COVID-19 के कारण जिम बंद हो चुके थे इसलिए उन्हें अपने ट्रेनिंग के तरीके में बदलाव करना पड़ा। दूसरी ओर कुछ समय पहले ही वो एक बेटी के पिता भी बने हैं।

ये समय उनके लिए आसान नहीं रहा है लेकिन अगर कॉम्पटन, होल्ज़कन को हरा पाते हैं तो उनके द्वारा किए गए त्याग व्यर्थ नहीं जाएंगे।

कॉम्पटन ने कहा, “नीकी के खिलाफ जीत के बाद मैं #1 रैंक का कंटेंडर भी बन सकता हूं। जीत किसी को भी मिले, उसे फायदा ही होना है।”

“शुरुआत से ही मेय लक्ष्य एक रहा है कि मैं ONE वर्ल्ड चैंपियन बनना चाहता हूं। मैं मॉय थाई के साथ किकबॉक्सिंग बेल्ट को भी जीतना चाहता हूं।

“इसके अलावा मेरी गिनती टॉप लेवल के एथलीट्स में भी की जाने लगेगी। नीकी होल्ज़कन सबसे महान एथलीट्स में से एक हैं और उनके खिलाफ केवल एक जीत मुझे एक नए मुकाम कर पहुंचा सकती है।”

Australian Muay Thai fighter Elliot Compton celebrates his victory by climbing the cage

इससे संभव है कि वो डिविजन के #1 रैंक के कंटेंडर भी बन सकते हैं। लेकिन ज्यादा महत्वपूर्ण बात ये है कि होल्ज़कन के खिलाफ एक जीत के बाद कॉम्पटन का नाम किकबॉक्सिंग वर्ल्ड में और भी सम्मान से लिया जाने लगेगा।

अगर सिंगापुर की भिड़ंत के बाद भविष्य में इनका दूसरा मैच भी होता है तो परिस्थितियां 3 साल पहले हुई लिफ्ट में मुलाकात से बहुत अलग होंगी।

कॉम्पटन ने कहा, “हम हाथ मिलाएंगे, शायद साथ बैठकर ड्रिंक भी कर सकते हैं या अच्छे दोस्त भी बन सकते हैं।”

ये भी पढ़ें: Music Monday: गाने जो इलियट कॉम्पटन के दिल के सबसे करीब हैं

किकबॉक्सिंग में और

Ok Rae Yoon Alibeg Rasulov ONE Fight Night 23 36
Tye Ruotolo Jozef Chen ONE Fight Night 23 32
Kulabdam Sor Jor Piek Uthai Nabil Anane ONE Friday Fights 69 34
OkRaeYoon AlibegRasulov 1920X1280
Kulabdam NabilAnane CeremonialFaceoff 1920X1280
Oumar Kane Marcus Almeida ONE Fight Night 13 95
BoucherKetchup 1200X800
Kulabdam Sor Jor Piek Uthai Wins 1200X800
Oumar Kane Marcus Almeida ONE Fight Night 13 61
Prajanchai PK Saenchai Jonathan Di Bella ONE Friday Fights 68 77
Prajanchai PK Saenchai Jonathan Di Bella ONE Friday Fights 68 48
Suablack Tor Pran49 Kiamran Nabati ONE Friday Fights 68 13 1