किकबॉक्सिंग

सुपरलैक की किक्स ने ONE: A NEW BREED II में खालेद के खिलाफ दिलाई जीत

कुछ हफ्ते पहले “द किकिंग मशीन” सुपरलैक कियातमू9 मॉय थाई से किकबॉक्सिंग में आने के फैसले के बाद घबराए हुए नजर आ रहे थे। लेकिन अनुभवी मॉय थाई स्ट्राइकर ने साबित कर दिया है कि वो किसी भी खेल में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

सुपरलैक ने 11 सितंबर को बैंकॉक में हुए ONE: A NEW BREED II के को-मेन इवेंट मैच में फाहदी “द ग्लैडिएटर” खालेद के खिलाफ सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल की है।

Superlek Kiatmoo9

“द किकिंग मशीन” ने शुरू से ही आक्रामक रुख अपनाते हुए जोरदार लेफ्ट हुक लगाया, जिससे खालेद लड़खड़ाते हुए नजर आए और उसके बाद ट्यूनीशियाई स्टार ने हाथों को अपने सिर के पास रखने की रणनीति अपनाई। “द ग्लैडिएटर” ने आगे आकर पंच लगाते हुए बदला लेने की कोशिश की लेकिन सुपरलैक ने उनमें से अधिकतर स्ट्राइक्स को ब्लॉक कर दिया था।

मैच ने नया मोड तब लिया, जब खालेद ने लेफ्ट हुक लगाया और सुपरलैक जानते थे कि आगे भी उन्हें इसी तरह का अटैक झेलना पड़ सकता है। यहीं से Venum Training Camp के एथलीट ने “द किकिंग मशीन” पर स्ट्रेट राइट और किक्स लगाकर दबाव बनाना शुरू किया ।

Superlek Kiatmoo9

दूसरे राउंड की शुरुआत में खालेद ने सुपरलैक के मिडसेक्शन पर पुश किक लगाने की कोशिश की लेकिन थाई स्टार ने उससे बचते हुए अपने प्रतिद्वंदी के पेट के हिस्से पर जोरदार नी लगाई। इसका जवाब खालेद ने लेफ्ट हुक्स से दिया लेकिन सुपरलैक उनके हर लेफ्ट हुक से बचने में सफल रहे और काउंटर करते हुए खालेद के बाएं हाथ पर राइट किक्स भी लगाईं।

उस अटैक का प्रभाव दिखने लगा था, जिसका असर “द ग्लैडिएटर” के प्रदर्शन पर भी पड़ा। मैच थाई सुपरस्टार की पकड़ में आ चुका था और उन्होंने खालेद की बॉडी के बाएं हिस्से को किक्स लगाकर खूब क्षति पहुंचाई । हालांकि, ट्यूनीशियाई एथलीट द्वारा वापसी की एक आखिरी कोशिश ने दर्शाया कि उन्होंने अभी हार नहीं मानी है लेकिन वो मुकाबले के परिणाम को उनके पक्ष में लाने में विफल रहा।

आखिरी राउंड में खालेद जानते थे कि उन्हें मैच में वापसी करने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंकनी होगी। उन्होंने ऐसा किया भी लेकिन उनका एक भी शॉट थाई एथलीट की बॉडी पर सही तरीके से लैंड नहीं हो पाया। ट्यूनीशियाई एथलीट ने अपने पंचों को लैंड कराने की कई कोशिशें कीं लेकिन कियातमू9 हर बार उनसे बचने में सफल हो रहे थे। अंत में उन्होंने प्रभावशाली राइट किक्स लगाकर मैच को समाप्त किया।

Superlek Kiatmoo9

तीनों जजों ने कियातमू9 के पक्ष में फैसला सुनाया और ये किकबॉक्सिंग में उनकी पहली जीत भी रही। साथ ही उन्होंने ONE में #2 रैंक के फ्लाइवेट किकबॉक्सिंग और मॉय थाई कंटेंडर के रूप में अपनी स्थिति और भी मजबूत कर लिया है।

ये भी पढ़ें: ONE: A NEW BREED II – रिजल्ट्स और हाइलाइट्स, पोंगसिरी vs क्लेंसी