किकबॉक्सिंग

सुपरबोन और सिटीचाई ने मरात ग्रिगोरियन के ONE डेब्यू मैच पर अपनी राय रखी

मरात ग्रिगोरियन दुनिया के सबसे महान पाउंड फोर पाउंड स्ट्राइकर्स में से एक के रूप में ONE Super Series में एंट्री ले रहे हैं।

इसलिए फैंस को 3 बार के किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन से उनके प्रोमोशनल डेब्यू में शानदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी। शुक्रवार, 4 दिसंबर को ONE: BIG BANG में उनका सामना इवान कोंद्रातेव से होगा।

फैंस के अलावा फेदरवेट किकबॉक्सिंग डिविजन के 2 बड़े स्टार्स सुपरबोन और सिटीचाई “किलर किड” सिटसोंगपीनोंग इस मैच को देखने के लिए बेताब हैं क्योंकि दोनों पहले भी अर्मेनियाई-बेल्जियन एथलीट का सामना कर चुके हैं।

सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में होने वाले इस मैच से पहले जानिए 2 थाई सुपरस्टार्स ने अपने पुराने प्रतिद्वंदी के बारे में क्या राय दी है।

सुपरबोन: ग्रिगोरियन को नॉकआउट से जीत मिलेगी

Thai kickboxer Superbon whips a kick at Sitthichai Sitsongpeenong's body

ONE के #2 रैंक के फेदरवेट किकबॉक्सर और #1 रैंक के फेदरवेट मॉय थाई एथलीट को 2018 में हुए मैच में Hemmers Gym के प्रतिनिधि की ताकत का अहसास हो गया था।

उनकी ग्रिगोरियन के साथ भिड़ंत 64-मैन Kunlun Fight वर्ल्ड ग्रां प्री के फाइनल में हुई, जहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

सुपरबोन ने कहा, “हमारा सामना फाइनल में हुआ और मुझे उन्होंने केवल 29 सेकंड में नॉकआउट कर दिया था। उसके बाद मैं हमेशा उनके साथ रीमैच की चाह के साथ आगे बढ़ता आया हूं।”

उसके बाद थाई स्टार लगातार 10 मैच जीत चुके हैं, जिनमें जुलाई में ONE डेब्यू मैच में सिटीचाई के खिलाफ जीत भी शामिल है और भविष्य में जरूर इनकी भिड़ंत संभव है।

अगर इस शुक्रवार ग्रिगोरियन, कोंद्रातेव की चुनौती को पार कर लेते हैं तो सुपरबोन के साथ उनका मैच होने की संभावनाएं और भी बढ़ जाएंगी।

थाई एथलीट ने कहा, “मरात का किकबॉक्सिंग स्टाइल बहुत बेहतरीन है। उनके पंचों में गज़ब की ताकत है और जबरदस्त कॉम्बिनेशन भी लगाते हैं।”

“मुझे उनके प्रतिद्वंदी इवान के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, लेकिन मेरा मानना है कि मरात उन्हें हराने में सफल रहेंगे और ये मैच नॉकआउट के साथ समाप्त होगा।”



सिटीचाई: मरात मेरे करियर के सबसे कठिन प्रतिद्वंदी रहे

ONE के #3 रैंक के किकबॉक्सिंग कंटेंडर सिटीचाई जानते हैं कि ग्रिगोरियन किस तरह के एथलीट हैं। दोनों की भिड़ंत 5 बार हो चुकी है और इस प्रतिद्वंदिता की शुरुआत 2015 में हुई थी।

दोनों का हर एक मैच आखिरी राउंड्स तक खिंचा है, जिनमें जबरदस्त मार्शल आर्ट्स एक्शन देखने को मिला। जिनमें से “किलर किड” 4 मुकाबलों को जीत चुके हैं।

लेकिन मई 2019 में हुई पांचवीं भिड़ंत में ग्रिगोरियन आखिरकार अपने प्रतिद्वंदी से बेहतर साबित हुए और सर्वसम्मत निर्णय से जीत प्राप्त कर Glory लाइटवेट वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया।

सिटीचाई ने कहा, “हमारे आखिरी मैच के समय मेरी रैंकिंग 1 और उनकी 2 हुआ करती थी। हम कड़ी चुनौतियों को पार कर रैंकिंग्स के टॉप पर पहुंचे थे इसलिए समय आ चुका था, जब हमें एक-दूसरे के खिलाफ रिंग में उतरना था। मैंने कुछ गलतियां कीं इसलिए वो चैंपियन बनने में सफल रहे।”

थाई एथलीट ग्रिगोरियन के बड़े प्रशंसक रहे हैं और दोनों का ही करियर शानदार रहा है।

सिटीचाई ने कहा, “मरात एक बेहतरीन किकबॉक्सर हैं। वो अभी तक मेरे करियर के सबसे कठिन प्रतिद्वंदी रहे।”

“शुरुआत में वो केवल पंच लगाने पर ध्यान देते थे, लेकिन उसके बाद उन्होंने खुद में सुधार किया और कई नए मूव्स भी सीख लिए हैं। उनकी चिन (ठोड़ी) भी बहुत मजबूत है।”

Kunlun Fight वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन के बारे में सिटीचाई को बहुत जानकारी है और उन्हें उम्मीद है कि उनके पुराने प्रतिद्वंदी अपने ONE डेब्यू में जीत दर्ज करने वाले हैं।

थाई स्टार ने कहा, “मैं इवान के बारे में ज्यादा नहीं जानता, लेकिन मेरे अनुभव के मुताबिक रूसी एथलीट्स बहुत खतरनाक होते हैं। उनके पास कई दमदार मूव्स होते हैं जिनमें स्पिनिंग बैक किक्स जैसे मूव्स भी शामिल हैं।”

“मैं मरात को जीतते हुए देख रहा हूं। मेरा मानना है कि उन्हें नॉकआउट से जीत मिलेगी, लेकिन वो पिछले काफी समय से रिंग से दूर रहे हैं इसलिए उनके प्रदर्शन में गिरावट भी देखी जा सकती है।

“अगर उनके प्रदर्शन में गिरावट आई तो रूसी स्टार उन्हें हरा सकते हैं। अगर इवान को जीत मिल भी गई तो वो जजों के निर्णय से आएगी।”

ये भी पढ़ें: मरात ग्रिगोरियन ने साबित किया कि मेहनत का फल हमेशा मीठा होता है