किकबॉक्सिंग

सिटीचाई और सुपरबोन के कोचों ने सुपर-बाउट को लेकर दी अपनी राय

ONE Championship के अगले इवेंट ONE: NO SURRENDER के आयोजन में अब कुछ घंटे का समय ही बाकी रह गया है, जो थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में होने वाला है।

2 धमाकेदार ONE वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों के अलावा शो में टॉप फेदरवेट सुपरस्टार्स “द किलर किड” सिटीचाई सिटसोंगपीनोंग और उनके पुराने प्रतिद्वंदी सुपरबोन के बीच ONE Super Series किकबॉक्सिंग मैच भी होगा।

ये इनकी तीसरी भिड़ंत होगी और इनके बीच दूसरा मैच करीब 4 साल पहले हुआ था।

जब दोनों वॉरियर्स जनवरी 2016 में पहली बार आमने-सामने आए थे, तो सिटीचाई को दूसरे राउंड में नॉकआउट के जरिए जीत मिली थी। वहीं, सुपरबोन ने करीब 8 महीने बाद अपना बदला पूरा किया और “द किलर किड” पर सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल की थी।

अब इनकी तीसरी भिड़ंत कुछ ही घंटे की दूरी पर है और उनके कोचों ने अपने-अपने एथलीट्स की तैयारियों के बारे में बात की और ये भी बताया कि उन्हें आगामी मैच से क्या उम्मीदें हैं।

जकित सिटसोंगपीनोंग की सिटीचाई पर राय

जकित सिटसोंगपीनोंग अपने शिष्य को अच्छी तरह जानते हैं क्योंकि पिछले 6 साल से वो सिटीचाई को सिटसोंगपीनोंग कैंप में ट्रेनिंग दे रहे हैं।

इस दौरान जकित की निगरानी में 28 वर्षीय सुपरस्टार ने अपना फोकस मॉय थाई से किकबॉक्सिंग पर भी शिफ्ट कर दिया था और सिटीचाई को सफलता दिलाने में उन्होंने अहम योगदान दिया।

उनके कोच ने कहा, “सिटीचाई का अनुशासन बेहतरीन है। वो मेरी हर आज्ञा का पालन कर कड़ी मेहनत करते हैं। उनका व्यवहार हमेशा से अच्छा रहा है और कभी शराब या ड्रग्स की आदत उन्हें नहीं लगी हैं।”

“खासतौर पर उनकी लेफ्ट किक कभी अपने निशाने से नहीं चूकती और उनके पास ताकत की भी कमी नहीं है। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि वो कड़ी मेहनत करने वाले व्यक्ति हैं और हमेशा अनुशासित रहते हैं।

“जब मैंने पहली बार उन्हें ट्रेनिंग दी थी तो उनका स्ट्राइकिंग गेम कुछ खास अच्छा नहीं था। वो आगे आकर अटैक करने के बजाय बैकफुट पर रहना अधिक पसंद करते थे। लेकिन अब उनकी स्किल्स में अविश्वसनीय सुधार आया है और वो फ्रंटफुट पर रहकर अटैक करने से भी डरते नहीं हैं। बैकफुट पर रहने की रणनीति को अब वो त्याग चुके हैं और किकबॉक्सिंग में आगे आकर अटैक करना बहुत महत्वपूर्ण होता है। अगर आप बैकफुट पर रहकर खुद को डिफेंड ही करते रहेंगे तो जीत की संभावना बहुत कम हो जाएगी।”

जकित सिटसोंगपीनोंग की सुपरबोन पर राय

एक तरफ जकित अपने शिष्य की स्किल्स से अच्छी तरह वाकिफ हैं तो वहीं सिटीचाई के प्रतिद्वंदी के बारे में भी उन्हें काफी ज्ञान है।

कोच ने कहा, “सुपरबोन बेहद मेहनती एथलीट हैं। हमारी कई टूर्नामेंट्स के दौरान मुलाकात हुई है। वो काफी अच्छे हैं और उनका व्यवहार भी काफी अच्छा रहा।”

वहीं Sitsongpeenong कैंप के ट्रेनर ने दोनों टॉप लेवल स्ट्राइकर्स की समानताओं को भी बताया।

उन्होंने कहा, “सिटीचाई की तरह ही सुपरबोन भी अनुशासन पर बहुत ध्यान देते हैं। उनके किकबॉक्सिंग मूव्स काफी तेज हैं। तेजी के मामले में वो सिटीचाई से थोड़े बेहतर भी हो सकते हैं।”

जकित ने हाल ही में दोनों एथलीट्स के बीच हुए पहले 2 मुकाबलों को देखा और ये ये पता लगाया कि “द किलर किड” ने क्या चीजें सही कीं और क्या गलत।

उन्होंने सुपरबोन के हालिया मैचों को भी देखा, जिससे वो सिटीचाई के लिए एक बेहतर गेम प्लान तैयार कर सकें।

जकित को उम्मीद है कि सिटीचाई के इस मैच में जीत के ज्यादा चांस नजर आ रहे हैं।

Sitsongpeenong कैंप के कोच ने कहा, “सुपरबोन की मूवमेंट तेज हो सकती है लेकिन हमारे पास स्टैमिना है। सुपरबोन की हाई किक और नी खतरनाक साबित हो सकती है लेकिन हमने उससे बचने की पूरी तैयारी की है। सुपरबोन को एक कड़ी चुनौती के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि सिटीचाई का करियर इस समय चरम पर है।”



गे की सुपरबोन के बारे में राय

सिटीचाई से तुलना में सुपरबोन के कोच कम समय से उनके साथ रह रहे हैं।

यहां तक कि ये पहला मौका है जब वो सुथाट मुआंगमुन के साथ काम कर रहे हैं, जिन्हें गे के नाम से जाना जाता है लेकिन ये उनके लिए फायदेमंद भी साबित हो सकता है। गे की नई रणनीतियां सुपरबोन को काफी कुछ नया सिखा सकती हैं।

गे ने कहा, “सुपरबोन की ताकत उनकी तेज मूवमेंट है और इस मामले में उन्हें हरा पाना बहुत मुश्किल है। उन्हें हरा पाना भी मुश्किल है क्योंकि उनके पास ताकत है और किसी भी एथलीट के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं। वो बहुत मज़ाकिया भी हैं।”

हालांकि, गे ने इससे पहले सुपरबोन के साथ काम नहीं किया है लेकिन वो अपने शिष्य के बैकग्राउंड से अच्छी तरह वाकिफ हैं। वो सुपरबोन को बैंकॉक स्टेडियम सर्किट की मॉय थाई बाउट्स में देखते आए हैं।

उन्होंने महसूस किया है कि पिछले कुछ सालों में सुपरबोन ने खुद को एक बेहतर एथलीट बनाने में सफलता पाई है, और इसका श्रेय उनकी कड़ी मेहनत और प्रतिबद्धता को जाता है।

गे ने कहा, “वो अपने मैचों पर काफी ध्यान देते हैं, ट्रेनिंग पर ध्यान देते हैं और खुद में लगातार सुधार करने के लिए बहुत प्रतिबद्ध हैं।”

गे की सिटीचाई पर राय

गे ने भी सिटीचाई के करियर को करीब से फॉलो किया है फिर चाहे किकबॉक्सिंग की बात करें या मॉय थाई की। सुपरबोन के कोच सिटीचाई की तारीफ करते हुए भी नहीं थकते।

कोच ने कहा, “सिटीचाई को महान मॉय थाई फाइटर्स में से एक माना जाता है। उनके पास दमदार साउथपॉ (बाएं हाथ के) मूव्स हैं और ये मूव्स किसी भी एथलीट के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं।”

सिटीचाई की 2 बड़ी ताकतों के बारे में गे ने बताया, “उनकी लेफ्ट शिन (घुटने के नीचे का अगला हिस्सा) और लेफ्ट नी में गज़ब की ताकत है।”

गे ने ये भी सुनिश्चित किया है कि वो आगामी मैच के लिए अपनी रिसर्च में कोई कमी ना छोड़ें। वो सिटीचाई के मैचों के वीडियो देख रहे हैं, साथ ही सिटीचाई और सुपरबोन के बीच हुए पिछले 2 मुकाबलों को भी उन्होंने करीब से देखा।

वो पिछले कुछ हफ्तों से सुपरबोन को ट्रेनिंग दे रहे हैं और साथ ही उन्होंने “द किलर किड” के कमजोर पक्ष को भी परखा है। वो जानते हैं कि 29 वर्षीय स्टार को जीत के लिए किस तरह की रणनीति अपनानी होगी।

गे ने कहा, “हमें दूर रहकर अपने मूव्स को अंजाम देना होगा। उन्हें अपने पंच और किक्स को दूर रहकर और तेजी के साथ लगाना होगा। साथ ही उन्हें कॉम्बिनेशन लगाने होंगे और अपनी मूवमेंट को निरंतर तेज रखना होगा।”

“मुझे सुपरबोन पर भरोसा है क्योंकि उनका पूरा फोकस केवल मैच पर है। अच्छा फोकस, वो अच्छा प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं और सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि वो अनुशासित रहते हैं।

“मुझे लगता है कि इस मैच में उन्हें ब्लॉकिंग और काउंटर अटैक करते हुए जीत मिल सकती है। इसका मतलब ये नहीं कि केवल एक बार अटैक किया बल्कि उन्हें कॉम्बो लगाने होंगे, तेजी बनाए रखनी होगी और संभव ही परिणाम हमारे पक्ष में आएगा।”

ये भी पढ़ें: इन 5 कारणों से आपको ONE: NO SURRENDER को मिस नहीं करना चाहिए