Mixed Martial Arts

शानदार जीत के बाद टोनन और थान ली का सामना करना चाहते हैं मत्सुशीमा

अपनी जिंदगी के सबसे अहम और बड़े मुकाबले में मिली हार के बाद ONE: WARRIOR’S CODE में कोयोमी मत्सुशीमा ने शानदार वापसी की और अपने करियर का सबसे शानदार प्रदर्शन कर जीत दर्ज की।

7 फरवरी को जापानी एथलीट ने ONE फेदरवेट वर्ल्ड टाइटल मुकाबले में मिली हार से आगे बढ़ते हुए “द फाइटिंग गॉड” किम जे वूंग के खिलाफ तीसरे राउंड में तकनीकी नॉकआउट (TKO) से जीत हासिल की।

मत्सुशीमा जानते थे कि दक्षिण कोरियाई नॉकआउट आर्टिस्ट उनके लिए कड़ी चुनौती साबित होने वाले हैं लेकिन उन्होंने स्ट्राइकिंग और ग्रैपलिंग के मिश्रण से जकार्ता में मैच को फिनिश करने में सफलता प्राप्त की।

एक तरफ उनका कहना था कि उनका गेम प्लान पूरे तरीके से सफल साबित हुआ, लेकिन अपने प्रतिद्वंदी को मैट पर लाने के लिए 27 वर्षीय स्टार को कुछ हेवी स्ट्राइक्स झेलनी पड़ी थीं। उन्होंने ये भी माना कि किम को नीचे गिराना ही अपने आप में एक बहुत बड़ी बात रही।

मत्सुशीमा ने कहा, “मुझे अंदाजा था कि वो काफी अच्छी स्क्रैम्ब्लिंग करते हैं। मैं कहीं ना कहीं इस बात से वाकिफ था कि ये मुकाबला कुछ इसी तरह आगे बढ़ने वाला है।”

“मैं जानता था कि उनकी स्ट्राइकिंग स्किल्स शानदार हैं। दूसरे राउंड में मुझे एहसास हुआ कि वो पहले राउंड के मुकाबले मेरे ज्यादा करीब आ गए थे और मुझे लगा कि वो वाकई में अच्छे हैं, खास बात ये रही कि वो अपने मुताबिक कभी पास आ रहे थे तो कभी दूर जा रहे थे।

“वो जानते थे कि मैं टेकडाउन करना चाहता हूँ इसलिए उन्होंने जम्पिंग नी लगाई। इस मूव को मैंने परखा और सोचा कि उन्हें नीचे गिराना काफी मुश्किल है।”

कोरियाई एथलीट की तरफ से आ रहे खतरे के बावजूद मत्सुशीमा को पंच लगाते हुए डर नहीं लग रहा था और आखिरकार उन्हें राइट हैंड लगाने में सफलता मिली। दूसरे राउंड में आई इस स्ट्राइक ने किम को नीचे गिरा दिया था लेकिन वो इससे हार मानने को तैयार नहीं थे।

दूसरे राउंड के अंत में वो पहले की ही तरह आक्रामक रूप अपना चुके थे।



उन्होंने बताया, “पहले राउंड से ही मैं टेकडाउन के मौके की तलाश कर रहा था और कभी-कभी इससे छकाकर मैं राइट हैंड भी लगाने की कोशिश कर रहा था जो दूसरे राउंड में मुझे मिला था।”

“उसके बाद मैंने सोचा कि मैं इसका प्रयोग कर सकता हूँ और इसी वजह से मैंने उनसे अपनी दूरी कम कर ली। लेकिन इसका उल्टा ही रिएक्शन देखने को मिला क्योंकि मैं हताशा के कारण खुद पर नियंत्रण खोता जा रहा था। वो मेरे ही गेम प्लान में मुझसे बड़ी गलती हुई।”

तीसरे राउंड के शुरू होने से पहले “द फाइटिंग गॉड” को वापसी करने का मौका मिला लेकिन इस दौरान जापानी एथलीट ने भी कुछ यादगार मोमेंट्स बटोरे और अपने कॉर्नर से ज्यादा फ़ोकस के साथ इस मैच को समाप्त करने की और ध्यान दिया।

शुरुआत में मत्सुशीमा ने शानदार ओवरहैंड राइट लगाया जिससे उनके प्रतिद्वंदी लड़खड़ाकर नीचे गिर पड़े। इसके कुछ सेकेंड बाद ही मैच समाप्त हुआ और मत्सुशीमा की कड़ी ट्रेनिंग रंग लाई।

उन्होंने आगे कहा, “वो तीसरे राउंड में अपने अटैक से मुझे क्षति पहुंचाना चाहते थे और मुझे लगता है कि उनकी इसी रणनीति के कारण मैं उन्हें सही टाइमिंग के साथ पंच लगाने में सफल रहा।”

“साफतौर पर मेरी बॉक्सिंग की ट्रेनिंग रंग लाई है लेकिन मेरी ग्रैपलिंग की ट्रेनिंग का भी परिणाम में अहम योगदान रहा। मैं राइट हैंड पर ज्यादा निर्भर रहने के लिए ट्रेनिंग नहीं ले रहा था। मैं अपनी टाइमिंग पर ज्यादा ध्यान देना चाहता था जिसका प्रयोग मैं मैच के दौरान कर सकता था और ऐसा करने में सफल भी रहा।”

Japanese featherweight Koyomi Matsushima punches South Korea's Kim Jae Woong

जापानी सर्किट में बिताये समय और अपने ONE डेब्यू मुकाबले में पूर्व ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन मरात गफूरोव पर जीत के बाद उन्होंने वैसा ही प्रदर्शन किया जैसे कि फैंस को उनसे उम्मीद थी।

हालांकि, उन्होंने ये कहने में भी देरी नहीं की कि ONE: WARRIOR’S CODE में पुराने मत्सुशीमा की वापसी नहीं हुई है। बजाय इसके वो अपनी स्किल्स में काफी सुधार कर चुके हैं जो फेदरवेट डिविजन के टॉप एथलीट्स को चुनौती देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि मुझमें पहले के मुकाबले सुधार हुआ है। मैं उम्मीद करता हूँ कि सभी को अगली बार इससे भी बेहतर मत्सुशीमा देखने को मिलेगा। मैं अपनी स्ट्राइकिंग पर भी ध्यान दे रहा हूँ लेकिन मैं ये भी चाहता हूँ कि मेरा मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स गेम भी पहले से बेहतर हो।”

“अभी ऐसा कोई नहीं है जिसका मैं सामना करना चाहता हूँ। डिविजन में काफी संख्या में स्ट्रॉन्ग फाइटर्स शामिल हैं इसलिए जिसके खिलाफ भी मुझे मैच मिलता है मैं उसी में खुद रहूंगा। कुछ समय पहले मुझसे गैरी टोनन के बारे में सवाल पूछा गया था, इसलिए पहला नाम वो हैं। उनके अलावा थान ली, ये सभी अच्छे एथलीट हैं और जिसके साथ भी मेरा मैच होगा वो धमाकेदार ही होगा।”

ये भी पढ़ें: ONE: WARRIOR’S CODE के स्टार्स की सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाएं

सिंगापुर | 28 फरवरी | ONE: KING OF THE JUNGLE  | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं