मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

हाइलाइट-रील फिनिश के बाद टॉप प्रतिद्वंदियों से बाउट करना चाहते हैं लिटो आदिवांग

बीते दिनों हुए ONE: FIRE & FURY में दर्शकों को कई बेहतरीन बाउट्स देखने को मिलीं लेकिन लिटो “थंडर किड” आदिवांग के बेहतरीन प्रदर्शन की तुलना में सब फीका था।

शुक्रवार, 31 जनवरी को Team Lakay के उभरते हुए सितारे ने अपना लगातार दूसरा फर्स्ट राउंड फिनिश पूरा किया। उन्होंने फिलीपींस के मनीला में किमूरा लॉक सबमिशन के साथ पोंगसिरी “द स्माइलिंग असासिन” मिटसाटिट को पराजित किया।

हालांकि, मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के सभी क्षेत्रों में अपना दबदबा कायम करने के बावजूद आदिवांग के लिए मैच और भी ज्यादा बेहतर हो सकता था।

दरअसल, थाई एथलीट को ग्राउंड पर पराजित करने से पहले आदिवांग तेजी से अपने विरोधी की तरफ बढ़े। उनपर अपने स्ट्राइक्स की तेजी से बौछार की तो लगने लगा कि वो तकनीकी नॉकआउट (TKO) से जीत हासिल कर लेंगे। हालांकि, मिटसाटिट के दृढ़ संकल्प और मजबूत इरादों ने उन्हें मुश्किल परिस्थितियों से निकलने की ताकत दी। इसके बाद उन्होंने फिर से फिलीपीनो एथलीट को ग्राउंड पर लौटने की चुनौती दी।

आदिवांग कहते हैं, “ईमानदारी से कहूं तो मैं उनके मजबूत इरादों को देखकर हैरान था।”

“मैंने उन्हें जल्दी से हिट करना शुरू किया लेकिन वो जल्द खुद को रिकवर करने में सक्षम रहे।”

मिटसाटिट की सहने और दबाव में खुद को एडजेस्ट करने की क्षमता को देखने के बाद “थंडर किड” ने तुरंत रिएक्ट किया। हालांकि, कुछ सेकेंड में ही मिटसाटिट ने प्रतिद्वंदी की बैक को निशाना बनाया लेकिन 26 वर्षीय एथलीट ने विरोधी को अपने कौशल और चतुराई से हैरत में डालते हुए सबमिशन के जरिए ढेर कर दिया।

इसकी वजह ये है कि वो घबराए नहीं थे। वो हमेशा अपने विरोधी से एक कदम आगे का सोच रहे थे इसलिए उन्हें वो रिजल्ट मिला, जिसको लेकर वो बहुत खुश हैं।



आदिवांग ने बताया, “कुछ चीजें हैं, जिन्होंने मेरी खुशी को दोगुना किया है कि कैसे मैं मैच फिनिश करने में सक्षम रहा, अपने प्रशंसकों के सामने जीत दर्ज की और बिना किसी नुकसान के अपने गेम प्लान में सुधार किया। मैं वास्तव में इन सब चीजों को लेकर खुश हूं।”

“शारीरिक रूप से मजबूत होने से ज्यादा मैं मानसिक तौर पर मजबूत था। एक चीज मुझे बहुत अच्छी लगी कि मैं सर्कल के अंदर कितनी तेजी से विरोधी का सामना कर रहा था। मैं मानता हूं कि ये मायने नहीं रखता कि फिजिकली आप कितना फिट हैं। मायने ये रखता है कि मानसिक रूप से आप अपने गेम प्लान का अनुसरण करने के लिए तैयार हैं या नहीं। अगर ऐसा नहीं होगा तो सारी मेहनत बेकार हो जाएगी।

“मैंने ऐसा करके दिखाया। मैंने अपने दिमाग पर उसी तरह से काम किया, जिस तरह मैंने अपने शरीर पर किया है। यही वजह है कि मैं सर्कल में जो करना चाहता था, वो मैं कर सका।”

The Home Of Martial Arts में अब आदिवांग का स्कोर 2-0 है। खास बात ये है कि इसे बनाने में उन्हें महज 4 मिनट और 59 सेकेंड का समय लगा। अब उनका ओवरऑल रिकॉर्ड 7-0 हो गया है।

उनका प्रदर्शन उच्च स्तर के मैचों के लिए तुलनात्मक रूप से बेहतर है। उनके मैचों में आए परिणाम बताते हैं कि वो हर बार सर्कल में कदम रखने के लिए कुछ नया करने में सक्षम हैं। यही वजह है कि वो मानते हैं कि उन्होंने प्रतियोगिता में अपना अगला कदम बढ़ाने का अधिकार हासिल कर लिया है।

अगर उन्हें मौका मिलता है तो “थंडर किड” अपने प्रशंसकों को भरोसा दिलाते हैं कि वो अगले मैच की चुनौती लेने के लिए पूरी तरह से तैयार रहेंगे।

उन्होंने कहा, “ये सब खुद को सुधारने करने जैसा है। मैं आज की तुलना में कल से बेहतर हूं और और आगे भी बेहतर होकर बढ़ता रहूंगा, ताकि मैं हमेशा एक अच्छे इवेंट में आ सकूं और एक रोमांचक मुकाबला दे सकूं।”

“मैं खुद को चुनौती देना चाहता हूं। मैं टॉप कैलिबर और टॉप चैंपियंस से मैच करना चाहता हूं। यही वो मैच होंगे, जिनके सामने मैं खुद का आंकलन कर सकता हूं।”

ये भी पढ़ें: ब्रेंडन वेरा के अगले ONE हेवीवेट वर्ल्ड टाइटल डिफेंस की घोषणा

जकार्ता | 7 फरवरी | ONE: WARRIOR’S CODE | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं