न्यूज़

जोशुआ पैचीओ ने वर्ल्ड टाइटल डिफेंड करने के लिए सामने आईं चुनौतियों के बारे में बात की

ONE: FIRE & FURY में जोशुआ “द पैशन” पैचीओ ने ONE स्ट्रॉवेट टाइटल डिफेंड करते हुए इतिहास रच दिया था लेकिन ये सफलता उन्हें इतनी आसानी से नहीं मिली है।

31 जनवरी को एलेक्स “लिटल रॉक” सिल्वा पर जीत हासिल कर Team Lakay स्टार स्ट्रॉवेट वर्ल्ड टाइटल को 2 बार डिफेंड करने वाले पहले एथलीट बनने से के लिए उन्हें कड़ी ट्रेनिंग से गुजरना पड़ा था जिसने उनकी फिज़िकल और मेंटल एबिलिटी की कड़ी परीक्षा ली थी।

साथ ही उन्हें ब्राजीलियन जिउ-जित्सु ब्लैक बेल्ट होल्डर से कड़ी चुनौती का सामना करना था, जिन्होंने अपने करियर में केवल 1 जीत को छोड़कर बाकी में सबमिशन से हासिल की है।

सिल्वा बिना कोई संदेह पैचीओ के लिए सबसे खतरनाक ग्रैपलर रहे और उन्होंने माना कि मैट पर खुद को सुरक्षित रखना उनके लिए कितना चुनौतीपूर्ण था। उन्होंने ये भी बताया कि वो मनीला के मॉल ऑफ एशिया एरीना में बड़ी से बड़ी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार थे।

उन्होंने कहा, “वो एक काफी कठिन मुकाबला रहा। मुझे बहुत घबराहट हो रही थी लेकिन मैच में वही सब हुआ, जिन सभी चीजों पर हमने ट्रेनिंग में फ़ोकस किया था इसलिए मैंने घबराहट को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया। मुझे कोई हिचक नहीं थी कि मैं आगे क्या करने वाला हूँ, मुझे ट्रेनिंग पर भरोसा था और अपनी टीम और कोचों पर भी विश्वास था।”

“मुझे लग रहा था कि वो मेरे द्वारा किसी गलत मूव के इस्तेमाल का इंतज़ार कर रहे थे। ब्लैक बेल्ट होल्डर इसी रणनीति पर तो काम करते हैं, मुझे पता था कि अगर मैंने एक भी गलती की तो वो इसका भरपूर फायदा उठाना चाहेंगे। इसलिए मैं अटैक करते समय सावधानी बरत रहा था और ये भी सोच रहा था कि उनके मूव्स से बचने के दौरान कहीं लापरवाही ना कर बैठूं। अपने स्टैंड-अप गेम पर मुझे पूरा भरोसा था और सोच रहा था कि अगर स्टैंड-अप गेम पर ही ध्यान दिया तो मेरे लिए अच्छा साबित होगा।”

जब दूसरे राउंड के अंतिम क्षणों में सिल्वा ने आर्म-ट्रायंगल चोक लगाया तो पैचीओ बड़ी मुसीबत में फंस चुके थे लेकिन वो किसी तरह इससे बच निकलने में सफल रहे।



हेवी पंचिंग कॉम्बिनेशन, 5 राउंड तक चले नी और किक्स के जबरदस्त प्रहार ने सिल्वा को भीतर से काफी हद तक झकझोर कर रख दिया था लेकिन वो मुकाबला समाप्त होने तक उस स्थिति में रहे जहाँ से वो मुकाबला अपने नाम कर सकते थे।

25 मिनट के जबरदस्त एक्शन के बाद बागियो शहर से आने वाले 24 वर्षीय स्टार को विभाजित निर्णय से विजेता घोषित किया गया था और उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी के प्रति अपनी भावनाओं को भी प्रकट किया।

ONE: MASTERS OF FATE में मिली रेने “द चैलेंजर” कैटलन के खिलाफ जीत के बाद भी वो लगातार ट्रेनिंग कैंप्स में शामिल होते रहे थे और उन्होंने निश्चित तौर पर उनकी काफी मदद की है।

पैचीओ ने कहा कि वो अपने प्रदर्शन से ज्यादा खुश नहीं थे लेकिन उन्हें इस बात का अंदाजा है कि वो अपना बेस्ट प्रदर्शन क्यों नहीं कर पाए।

उन्होंने माना, “ये एक कठिन मैच था। मुझे लगा कि बेस्ट प्रदर्शन करना मेरे लिए असंभव था क्योंकि पिछले 3 हफ्ते उतार-चढ़ाव भरे रहे थे।”

“मुझे बुखार था, LBM (डायरिया) था और इन सभी चीजों ने मुझपर काफी प्रभाव डाला लेकिन अंत में ये सब केवल मेरी मानसिकता पर निर्भर करता है। वो मानसिकता ही रही जिसने मुझे भगवान पर भरोसा रखते हुए लगातार आगे बढ़ते रहने के लिए पुश किया।

“मैं अपने टीम पार्टनर्स का भी धन्यवाद करना चाहता हूँ। मैंने पिछले साल नवंबर में भी मैच खेला था इसलिए मैं इसे किसी आशीर्वाद की तरह मान कर आगे बढ़ रहा था।”

उसी महीने ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन को अपने दादाजी के गुज़र जाने के दर्द का भी सामना करना था और उन्होंने इस जीत को अपने दादा को समर्पित किया।

उन्होंने आगे बताया, “मेरे दादा के साथ जो हुआ मैं उसे अच्छा मानता हूँ क्योंकि पिछले काफी समय से वो बहुत मुश्किलों का सामना कर रहे थे।”

“वो कोमा में थे और साथ ही उन्हें डायबिटीज भी थी। ये उनके लिए अच्छा है कि अब वो आराम करें और भगवान के साथ रहें और ये मैच, ये जीत मैं उन्हें ही समर्पित करना चाहता हूँ।”

अब जब पैचीओ ने अपने सफर में बड़ी चुनौतियों से पार पा लिया है, वो फिलहाल आराम करने के बारे में सोच रहे हैं और उसके बाद खुद में सुधार करेंगे, जो उन्हें एक बार फिर अपनी बेस्ट फॉर्म में वापस लाने में मदद करेगा।

उन्होंने अपने फैंस को चेताते हुए कहा है कि वो उनकी जल्दी सर्कल में वापसी की उम्मीद ना करें, उन्हें ये भी अंदाजा नहीं है कि जब वो वापसी करेंगे तो उनका सामना किससे होगा।

उन्होंने कहा, “मैं इतना कह सकता हूँ कि अगले 2 महीने तो ऐसा बिल्कुल नहीं होने वाला लेकिन एक एथलीट होने के नाते हमें यही तो करना होता है। यही हमारा काम है इसलिए ये बात मुझपर निर्भर नहीं करती कि मेरा सामना अब किससे होने वाला है।”

“ONE जिसे भी मेरे साथ मुकाबले के लिए योग्य मानता हो मैं उसके साथ मैच के लिए तैयार हूँ और एक और बड़ी जीत की उम्मीद करता हूँ। फिलहाल मैं बेहतर होने पर ध्यान दे रहा हूँ और किस तरह मैं अपनी स्किल्स में सुधार कर सकता हूँ। मेरा अगला प्रतिद्वंदी कोई भी हो, चाहे वो कोई नया एथलीट हो या फिर किसी पुराने प्रतिद्वंदी के खिलाफ रीमैच हो, मैं इस बात के लिए जरूर आश्वस्त हूँ कि उस समय लोगों को एक अलग जोशुआ पैचीओ देखने को मिलेगा।”

ये भी पढ़ें: 5 चीजें जो हमें ONE: FIRE AND FURY से सीखने को मिलीं

जकार्ता | 7 फरवरी | ONE: WARRIOR’S CODE | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं