मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

साल 2019 में आखिरी 3 महीने के टॉप-5 प्रदर्शन

साल 2019 के आखिरी सत्र में ONE चैंपियनशिप में कई धमाकेदार इवेंट देखने को मिले जहाँ कई यादगार बाउट देखने को भी मिलीं।

एलीट स्तर के फाइटर्स ने अपने टाइटल डिफेंड कर दर्शाया कि आखिर वो चैंपियन क्यों बने हैं और उनके अलावा कई नए चैंपियन भी देखने को मिले।

इन्हीं बातों को ध्यान में रख हम आपको इस आर्टिकल में हम आपको साल 2019 के आखिरी 3 महीने के 5 सबसे बेहतरीन परफॉरमेंस से अवगत कराने वाले हैं।

#1 अबासोव ने धमाकेदार अंदाज में जीता पहला वर्ल्ड टाइटल

अक्टूबर में आयोजित हुए ONE: DAWN OF VALOR में ज़ेबज़्टियन कडेस्टम “द बैंडिट”, कियामरियन अबासोव के खिलाफ ONE वेल्टरवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप डिफेंड नहीं कर पाए थे।

5 राउंड तक चले मुकाबले में किर्गिस्तान के अबासोव को स्वीडन के चैंपियन एथलीट पर कड़े संघर्ष के बाद जीत मिली थी।

यह भी पढ़ें: साल 2019 में आखिरी 3 महीने के टॉप-5 सबमिशन

अबासोव लगातार फ्रंटफुट पर बने हुए थे यानी उनकी रणनीति अटैक करने की रही थी ना कि डिफेंस की। वो लगातार इसी चीज का फायदा उठाते हुए जोरदार पंच लगा रहे थे और अपनी रैसलिंग स्किल्स के सहारे उन्होंने कई बार ज़ेबज़्टियन को टेकडाउन किया।

25 मिनट तक चली बाउट के बाद तय हुआ कि अब ONE वेल्टरवेट डिवीजन के नए राजा कियामरियन अबासोव हैं।

#2 क्रिश्चियन ली को हल्के में लेना सायिद हुसैन को पड़ा भारी

ONE: CENTURY PART I में हुए ONE लाइटवेट वर्ल्ड ग्रांप्री फाइनल में क्रिश्चियन ली “द वॉरियर” को 3 राउंड के बाद सायिद हुसैन अर्सलानअलीएव पर जीत मिली थी।

आपको याद दिला दें कि इस बाउट से 10 दिन पहले ही एडी अल्वारेज़ की जगह क्रिश्चियन ली को दी गई थी इसलिए इतने कम समय में उनके लिए तैयारी कर पाना बेहद मुश्किल था।

फाइनल तक के सफ़र में सायिद हुसैन के सामने दूसरे योद्धाओं को मुंह की खानी पड़ी थी। वो लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन उन्हें अंदाजा नहीं था कि क्रिश्चियन को हल्के में लेना उन्हें इतना भारी पड़ने वाला है।

“द वॉरियर” ने अपनी प्रतिद्वंदी को पहले अपनी रैसलिंग स्किल्स से हैरान किया और फिर जोरदार स्ट्राइकिंग स्किल्स से तुर्की के सायिद हुसैन को संभलने का मौका ही नहीं दिया।

#3 मैकलेरन की वापसी से हर कोई हैरान

दुनिया का कोई भी खेल हो, अगर आपको पिछले लगातार मुकाबलों में हार मिली हो तो किसी के लिए भी वापसी करना आसान नहीं होता। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के रीस मैकलेरन “लाइटनिंग” ने इस बात को गलत साबित करते हुए ONE: MARK OF GREATNESS में गुरदर्शन मंगत “सेंट लॉयन” पर जीत हासिल की थी।

पहले राउंड में मिली इस जीत ने मैकलेरन के मनोबल को जमीन से आसमान पर पहुंचा दिया था। पहले उनहोंने भारतीय एथलीट को टेकडाउन किया और सबमिशन के जरिए जीत हासिल की।

यह भी पढ़ें: अली मोटामेड का ONE चैंपियनशिप में आने तक का मुश्किलों भरा सफ़र

उन्होंने गुरदर्शन मंगत को रीयर नेक्ड चोक लगाते हुए धमाकेदार जीत के साथ साल 2019 का अंत किया था।

#4 खराब शुरुआत के बाद संभले एलेक्स सिल्वा

पूर्व ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन एलेक्स सिल्वा “लिटल रॉक” को पिछले महीने सिंगापुर में आयोजित हुए ONE: EDGE OF GREATNESS में पेंग ज़ू वेन के खिलाफ कड़े संघर्ष के बाद जीत मिली थी।

पेंग ज़ू वेन नाम की कड़ी चुनौती के सामने ब्राजील के सिल्वा को अपने स्टैमिना और स्किल्स, दोनों ही चीजों को बेहतर ढंग से प्रयोग करना था।

शुरुआत में चीन के योद्धा सिल्वा पर भारी पड़ रहे थे लेकिन दूसरे राउंड में पूर्व चैंपियन ने धमाकेदार वापसी की और क्लीन जीत दर्ज की थी। दूसरे राउंड में कुछ ही सेकेंड शेष थे लेकिन इसी दौरान उन्होंने पेंग ज़ू वेन पर आर्मबार मूव के जरिए जीत दर्ज की थी।

#5 जबरदस्त एक्शन के बीच कैटलन का नॉकआउट

ONE: MASTERS OF FATE में रॉबिन कैटलन “द इलोंगो” और गुस्तावो बलार्ट “एल ग्लैडीएडर” के बीच जबरदस्त एक्शन देखने को मिला।

बलार्ट 2012 समर ओलंपिक्स की ग्रीको-रोमन रैसलिंग स्पर्धा में क्यूबा का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं और इसलिए कैटलन को अंदाजा था कि उन्हें टेकडाउन से बचकर ही रहना होगा।

कैटलन की रणनीति काफी हद तक सफल रही और जैसे-जैसे बाउट आगे बढ़ी वो आक्रामक रुख अपनाते गए। हालांकि बलार्ट ने भी इस बीच कैटलन की बॉडी पर जोरदार किक्स से प्रहार किया लेकिन दूसरे राउंड में फिलिपींस के फाइटर की राइट किक सटीक निशाने पर जाकर लगी और नॉकआउट के जरिए उन्हें जीत मिली।

यह भी पढ़ें: ONE के 9 एथलीट जिनके माता-पिता मार्शल आर्टिस्ट थे